हैदराबाद में जली हालत में जिस महिला पशु चिकित्सक का शव मिला था, हत्या से पहले उनके साथ बलात्कार किया गया था। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक, महिला डॉक्टर ने वारदात से पहले अपनी बहन से फोन पर बात की थी। पुलिस ने इस कॉल की रिकॉर्डिंग सुनी, जिसमें पीड़िता ने स्कूटी खराब होने और डर लगने की बात कही थी।

Telangana Veterinary Doctor Rape-Murder, Burn alive: तेलंगाना के गृहमंत्री मोहम्मद महमूद अली ने कहा कि युवती 100 नंबर को कॉल करती तो उसे बचाया जा सकता था। क्योंकि कॉल करते ही पुलिस 3 से 4 मिनट में मौके पर पहुंच जाती।

सूत्रों के मुताबिक, चारों आरोपी काफी समय से नोटिस कर रहे थे कि महिला डॉक्टर किस जगह पर अपनी स्कूटी पार्क करती है। जिसके बाद उन्होंने पीड़िता को अगवा करने की योजना बनाई।

पुलिस के मुताबिक, फिलहाल वारदात को अंजाम देने वालों की संख्या का सटीक पता नहीं लग पाया है। यह भी स्पष्ट नहीं है कि इस घटना को क्या उन्हीं लोगों ने अंजाम दिया, जो महिला डॉक्टर की स्कूटी रिपेयर कराने गए थे।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हाल ही में कंपनी ने मृतका सहित कई अन्य कर्मचारियों को नोटिस देकर कंपनी में छंटनी का ऐलान किया था। ऐलान के मुताबिक छंटनी दिसंबर से होनी थी।

पुलिस ने बताया कि ब्वॉय फ्रेंड और पड़ोसी दोनों लड़की को ब्लैकमेल कर रहे थे और उसका यौन शोषण कर रहे थे। महिला को बेटी और उसके पड़ोसी ने गला घोंटकर उसको मार डाला।

पढ़ाई में नाकामी और पिछड़ने के डर से अक्सर छात्र अपनी जान दे देते हैं। ऐसे लोगों को काउंसिलिंग की जरूरत होती है। विशेषज्ञों का कहना है कि पढ़ाई में नंबर कम आने या फेल होने से छात्र-छात्राओंं को अपना आत्मविश्वास नहीं खोना चाहिए।

Swiggy Muslim Delivery Boy, Hyderabad Police: बताया जा रहा है कि डिलीवरी ब्वॉय का धर्म पूछकर खाना लेने से इनकार करने वाले ग्राहक के खिलाफ हैदराबाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस अफसरों को पता चला है कि बहुत से छात्र, जिनके परिवार के पास अघोषित संपत्ति है, लेकिन कोई कागज नहीं है, वे लोग अपने को सुरक्षित रखने के लिए फर्जीवाड़ा करने वाले अफसरों से संपर्क किए थे।

हैदराबाद में एक शख्स ने अपनी पत्नी से झगड़ा होने पर पहले अपने बेटों को जहर पिलाया फिर खुद भी जहर पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की। आरोपी की पहचान सुरेश के रूप में की गई है।

पुलिस ने कहा कि इस मामले को कानूनी राय ली थी, जिसके आधार पर हमने जीएचएमसी कार्यालय के खिलाफ आईपीसी की धारा 338 के तहत मामला दर्ज किया है।

इसी के बाद दोनों के बीच पैसों को लेकर विवाद हुआ। बहस इतनी बढ़ गई कि श्रीनिवास ने आपा खो सुरेश पर चाकू से हमला बोल लिया, जिसमें उनके सिर में गंभीर चोटें आई थीं।

Hyderabad Cabbie: कैब ड्राइवर ने अनाथों के अंतिम संस्कार के लिए 6000 रुपए एक NGO को दान किया था। लेकिन दो दिन बाद ही वही रुपए उसके काम आएंगे उसने कभी सोचा न था।