health care

सेहत: रुला सकता है गर्दन का दर्द, तकिए के साथ दर्द से निजात

अगर आप सोने के समय मोटे तकिए का इस्तेमाल करते हैं तो यह गर्दन के दर्द और अकड़ का कारण हो सकता है। लंबे समय तक एक ही मुद्रा में बैठकर काम करने से भी गर्दन में दर्द हो सकता है।

फैटी लिवर के रोगियों को किन फूड आइटम से करना चाहिए परहेज, जानिए

Fatty Liver: हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो फैटी लिवर से पीड़ित लोगों के लिवर सूजन आ जाती है, जिसकी वजह से मरीज को दर्द और जलन सहनी पड़ती है। जानकार बताते हैं कि फैटी लिवर के रोगियों को कुछ फूड आइटम का सेवन नहीं करना चाहिए।

फैटी लिवर के मरीजों को अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए ये चीजें, जानिए

Healthy Diet for Fatty Liver: ज्यादा घी-तेल और मैदा खाने से फैटी लिवर की बीमारी होने की संभावना बढ़ जाती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि लंबे समय तक फैटी लिवर की बीमारी रहने पर यह हेपेटाइटिस बी भी हो सकता है।

सर्दियों में प्रेग्नेंसी के दौरान न खाएं ये फूड आइटम, हो सकता है नुकसान

Pregnancy Mein Kya Na Karein: प्रेग्नेंट महिलाएं अगर गर्म तासीर वाला खाना खाएं तो इससे गर्भपात तक की नौबत आ सकती है। सर्दियों में प्रेग्नेंसी के दौरान और भी ज्यादा सतर्क रहना चाहिए।

सर्दियों में बढ़ सकता है ब्रेन स्ट्रोक का खतरा, जानिए लक्षण और बचाव के तरीके

Brain Stroke: ठंड में खून की धमनियां सिकुड़ने से दिल को पूरे शरीर में रक्त प्रवाह बनाए रखने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।

परामर्श: आदतों को बदलिए और सुबह जल्दी उठिए

यह तथ्य सही है कि जल्दी उठने वाले लोगों को अधिक मौके मिलते हैं और उनके सफल होने की संभावना भी अधिक हो जाती है। इतना ही नहीं जो लोग जल्दी उठते हैं, वे चौबीस घंटे में अधिक काम कर पाते हैं।

दांतों को सड़ने से बचाने के लिए इन उपायों को माना जाता है रामबाण, जानें

Daaton Mein Sadan: डेंटल फ्लॉस से अपने दांतों की नियमित तौर पर सफाई करें। इससे आपके दांतों के बीच फंसी गंदगी साफ हो जाती है। ध्यान रखें कि इसके लिए बहुत बारीक डेंटल फ्लॉस का ही इस्तेमाल करें।

अपनी देखभाल: खानपान के साथ स्वास्थ्य की फिक्र, सर्दी में सेहत की गरमाहट

शोध से पता चला है कि सर्दी के दिनों में दस मिनट से ज्यादा नहीं नहाना चाहिए, जिससे शरीर की नमी न खोने पाएं। साबुन का भी खास खयाल रखें। साबुन सामान्य की जगह नमी पहुंचाने वाला हो।

उम्र के साथ स्वास्थ्य की देखभाल, घर से बाहर सेहत के कदम

कितनी भी दवा खा लीजिए, लेकिन जब तक शारीरिक गतिविधि और व्यायाम नहीं करेंगी तब तक आपका शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा।

संपादकीय: सेहत की फिक्र

जिस राज्य का पहला कर्तव्य अपने नागरिकों को पर्याप्त व उच्च गुणवत्ता वाला भोजन, उत्कृष्ट शिक्षा और स्वास्थ्य मुहैया कराना होना चाहिए, आज वह उन्हीं में सबसे ज्यादा नाकाम रहा है। आज भी देश में स्वास्थ्य सेवाओं का जो आलम है, उन्हें देख कर तो लगता है कि लोगों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया गया है। यही वजह है कि देश में जहां एक तरफ झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार है तो दूसरी ओर निजी क्षेत्र के अस्पताल सिर्फ मुनाफा बनाने में मग्न हैं।

Uric Acid: सुबह-सुबह करें ये 5 काम, यूरिक एसिड से मिलेगी निजात

यूरिक एसिड की समस्या आगे चलकर गाउट (Gout) में बदल जाती है। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि समय रहते अपनी दिनचर्या में बदलाव किए जाए। डॉक्टरों का मानना है कि सुबह के रूटीन में बदलाव कर यूरिक एसिड से छुटकारा पाया जा सकता है।

बालों का झड़ना भी है थायराइड का लक्षण, इन संकेतों को भी न करें इग्नोर; जानिये बचाव का तरीका

लाइफस्टाइल और खानपान का तरीका भी थायराइड के खतरे को बढ़ा रहा है। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि आप थायराइड के लक्षणों को पहचानें और समय रहते इस बीमारी से बचने की कोशिश करें।

राजनीति: स्वास्थ्य और भविष्य

एनडीएचएम का मकसद एक डिजिटल स्वस्थ राष्ट्र बनाने का है, जो ‘‘बड़ा सोचो, छोटे से शुरू करो और तेजी से आगे बढ़ो’’ के सिद्धांत पर आधारित है। यह एक ऐसा मिशन है, जिसका उपयुक्त समय आ गया है, क्योंकि आत्म-निर्भरता की तरफ बढ़ने के लिए स्वास्थ्य पहला कदम है।

सेहत: बरसात में स्वास्थ्य की देखभाल मौसम परिवर्तन और संक्रमण

तेज धूप के बाद पड़ने वाली गर्मी और फिर बारिश की ठंडी फुहारें। इस तरह नमी और वातावरण में उमस बढ़ जाने से रोग उत्पन्न करने वाले जीवाणुओं के पनपने की संभावना काफी बढ़ जाती है। ऐसे में जिस तरह की स्वास्थ्य की समस्याएं आमतौर पर देखने में आती हैं, उनमें पाचन, त्वचा, सांस और वात से जुड़े रोग प्रमुख हैं।

आज का राशिफल
X