Harsh Vardhan

विकसित देशों जैसे खराब स्थिति आने की सोच नहीं रहे, बल्कि बदतर हालात के लिए तैयार- कोरोना पर बोले स्वास्थ्य मंत्री

Corona Virus in India: अरूणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम के प्रतिनिधियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में हर्षवर्धन ने कोविड-19 से निपटने में सभी राज्यों के समर्पण की सराहना की।

मुंबई, दिल्ली में तेजी से बढ़े COVID-19 केस, पर 80 जिले फिलहाल सेफ; हफ्ते भर में नहीं मिला एक भी संक्रमित

डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि पिछले सात दिनों में 80 जिलों में कोई नया मामला सामने नहीं आया है। वहीं पिछले 14 दिनों में 47 जिले, 21 दिनों में 39 जिले और 28 दिनों से 17 जिलों में कोई भी नया मामला सामने नहीं आया है।

‘आंधी-तूफान तो नहीं बना कोरोना’, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन बोले- यूरोपीय देशों जैसे नहीं भारत में हालात

corona Virus: उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना वायरस की स्थिति यूरोपीय देशों जैसी नहीं है। उन्होंने डॉक्टरों के कार्य की सराहना की।

दीक्षांत समारोह में तीन घंटे देरी से पहुंचे केंद्रीय मंत्री, माफी मांगते बोले- क्या करता? फिर सुनाई पीएम के 9 घंटे की मैराथन मीटिंग की कहानी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एक मैराथन मीटिंग की भी चर्चा की। पीएम मोदी ने शनिवार (21 दिसंबर) को अपने मंत्रियों के कामकाज की समीक्षा बैठक की थी जो करीब नौ घंटे चली थी।

चिकित्सा शिक्षा में व्यापक बदलाव लाएगा राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने सोमवार को राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनसीएम) बनाने के लिए लोकसभा में विधेयक 2019 पेश किया। इस विधेयक के जरिए 63 साल पुराने भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (एमसीआइ) को भंग कर उसकी जगह मेडिकल की शिक्षा, चिकित्सा वृति और मेडिकल संस्थाओं के विकास और नियमन के लिए राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) गठित करने का प्रावधान किया गया है।

चमकी बुखार: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने पांच साल पहले जो वादा किया, उसे अब फिर दोहराया!

ये वही वायदे हैं जिनको पूरे करने का सपना 2014 में भी हर्षवर्धन ने ही दिखाया था। तब भी वह नई मोदी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री नियुक्त किए गए थे। 2014 में भी मुजफ्फरपुर में ऐसे ही हालात थे।

चमकी से मौत का सिलसिला जारी: केंद्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ सामाजिक कार्यकर्ता ने किया केस

याचिका में यह कहा गया है कि एईएस के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए हर्षवर्धन और मंगल पांडे अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल रहे। दोनों ने प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने और संवेदनशील बनाने के लिए कुछ भी नहीं किया।

Narendra Modi Cabinet Ministers of India 2019: मोदी सरकार में दूसरी बार मंत्री बने हर्षवर्धन, WHO कर चुका है सम्मानित

Narendra Modi Cabinet Ministers of India 2019: ‘डॉक्टर साहब’ के नाम से चर्चित हर्षवर्द्धन ने दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए पोलियो उन्मूलन को लेकर बहुत प्रयास किए। साल 1993 से अपनी राजनीतिक पारी शुरू करने वाले हर्षवर्द्धन पहली बार पूर्वी दिल्ली की कृष्णानगर विधानसभा सीट से निर्वाचित हुए और इसके बाद लगातार चार बार इस सीट से उन्होंने जीत दर्ज की।

64 की उम्र में भी रोज 3 से 5 किलोमीटर की साइकलिंग करते हैं बीजेपी के हर्षवर्धन

Harsh Vardhan fitness secret: हर्षवर्धन चांदनी चौक के सांसद हैं और उनकी उम्र 64 वर्ष है। इतनी उम्र होने के बावजूद हर्षवर्धन काफी फिट हैं क्योंकि वह अपनी फिटनेस का भी पूरा ध्यान रखते हैं।

स्टरलाइट प्रदर्शन में 13 लोगों की मौत, बोले केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन- इसके बारे में अखबारों में पढ़ा है

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट से प्रदूषण फैलने के विरोद में हुए प्रदर्शन में 13 लोगों की मौत हो गई। गुस्साए लोगों को रोकने के लिए पुलिस की फायरिंग के कारण लोगों की जानें गईं। इस मामले में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवर्धन ने अजीब बयान दिया है।

केंद्रीय मंंत्री हर्षवर्धन को शशि थरूर का साथ

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने आज केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन के इस बयान का समर्थन किया कि बीजगणित और पायथागोरस प्रमेय की उत्पत्ति भारत में हुई थी लेकिन इसका श्रेय दूसरे लोगों को मिल गया। थरूर ने कहा कि हिंदुत्व ब्रिगेड की अतिशयोक्ति पूर्ण बातों के चलते प्राचीन भारतीय विज्ञान की वास्तविक उपलब्धियों को खारिज नहीं […]

ये पढ़ा क्या?
X