GDP

सही आकड़ें नहीं दिखा रही सरकार! चालू वित्त वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था में 25% गिरावट का अनुमान- मशहूर अर्थशास्त्री अरुण कुमार बोले

भारतीय रिजर्व बैंक का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.5 प्रतिशत की गिरावट आएगी।

कृषि पद्धति में सुधार से पूरा होगा सभी के लिए भोजन का लक्ष्य, सही बीजों का चयन और बेहतर फसल उत्पादन ज़रूरी

इफको किसान के एमडी संदीप मल्होत्रा के मुताबिक इफको किसान ऐप किसानों के लिए वो औज़ार साबित हो सकता है, जो कुदाल और हंसली से भी ज्यादा ताकतवर और चमत्कारी है।

संपादकीयः चुनौती का सामना

संतोषजनक बात यह भी है कि विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष सहित कई वैश्विक संस्थानों और रेटिंग एजेंसियां भारत की आर्थिक वृद्धि को लेकर जो अनुमान व्यक्त करती रही हैं, उनकी तुलना में अर्थव्यवस्था में सुधार कहीं ज्यादा बेहतर नजर आ रहा है।

कोरोना और आर्थिक संकट के बीच किसानों से ही उम्मीद, कृषि की GVA ग्रोथ 3.4 प्रतिशत तक होने का अनुमान

एनएसओ ने ये जानकारी ऐसे समय में दी है जब बारिश और कड़ाके की ठंड के बीच दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों को लेकर किसान डटे हुए हैं।

भारत की जीडीपी को लेकर S&P ने अपने अनुमान में किया सुधार, नेगेटिव 9 फीसदी से नेगेटिव 7.7 प्रतिशत किया

एसएंडपी ने कहा कि भारत वायरस से जीना सीख रहा है और संक्रमण के मामलों में कमी आई है।

राजनीति: स्वास्थ्य क्षेत्र की खराब सेहत

भारत में डॉक्टरों की उपलब्धता की स्थिति वियतनाम और अल्जीरिया जैसे देशों से भी बदतर है। देश में इस समय लगभग साढ़े सात लाख सक्रिय डॉक्टर हैं। डॉक्टरों की कमी के कारण गरीब लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने में देरी होती है। यह स्थिति अंतत: पूरे देश के स्वास्थ्य को प्रभावित करती है।

अर्थव्यवस्था पर कोरोना का कहर! सरकारी डेटा से खुलासा- दूसरी तिमाही में GDP में 7.5 प्रतिशत की गिरावट

वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी में 7.5 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक विनिर्माण क्षेत्र में तेजी से गिरावट देखी गई।

मोदी सरकार का ‘रिपोर्ट कार्ड’ दिखा बोले राहुल गांधी, भारत कोरोना मृत्यु दर में सबसे आगे, GDP दर में सबसे पीछे

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 89,58,483 हो गए।

बैंक मुसीबत में हैं और GDP भी…जनता का मनोबल टूट रहा है, राहुल बोले-यह विकास या विनाश?

राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर हमला किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास नहीं विनाश की तरफ देश को ले जा रही है।

नोटबंदी से काला धन कम करने और पारदर्शिता को बढ़ावा मिला, नोटबंदी के चार साल पूरे होने पर बोले पीएम मोदी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि चार साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस कदम का मकसद अपने कुछ “उद्योगपति मित्रों” की मदद करना था और इसने भारतीय अर्थव्यवस्था को “बर्बाद” कर दिया।

दूसरी नजर: बिना वृद्धि के सुधार

अपने विचारों, नीतियों और कार्रवाइयों को प्रचारित करने में भाजपा या मोदी सरकार जितनी कामयाब रही है, उतनी कोई भी सत्तारूढ़ पार्टी या सरकार कामयाब नहीं रही।

संपादकीय: संयम की मुद्रा

भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी मौद्रिक नीति समीक्षा में ब्याज दरों को यथावत रखते हुए चालू वित्त वर्ष में विकास दर के धनात्मक रुख लेने की उम्मीद जताई है। कारोबारी गतिविधियों को बढ़ाने के लिए उदार रवैया अपनाने पर जोर दिया गया है। कोरोना महामारी की वजह से लागू की गई पूर्णबंदी के चलते अर्थव्यवस्था […]

राहुल गांधी के निशाने पर मोदी सरकार, कांग्रेस नेता बोले- 12 करोड़ रोजगार देने थे, 14 करोड़ छीन लिए

राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण करोड़ों लोगों का रोजगार छिन गया और जीडीपी में ऐतिहासिक गिरावट आई।

कोरोना, लॉकडाउन से भारत को एक और झटका? 2020-21 में अर्थव्यवस्था में 10.5% हो सकती है गिरावट- Fitch का अनुमान

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 23.9 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में गिरावट के सबसे ऊंचे आंकड़ों में से है।

GDP पहली तिमाही में रेकार्ड 23.9% गिरी, कृषि को छोड़ सारे क्षेत्रों का बुराहाल; #ResignNirmala टि्वटर पर ट्रेंड

पूर्व Congress चीफ राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “GDP 24% तक गिरी। स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट। सरकार का हर चेतावनी को नज़रअंदाज़ करते रहना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।”

रिजर्व बैंक : सकल घरेलू उत्पाद वृद्धि पर चुप्पी क्यों

रिजर्व बैंक ने एमएसएमई के लिए एक मार्च, 2020 तक मानक श्रेणी (वैसा कर्ज जिसकी किस्त आ रही थी और जो एनपीए नहीं बना था) वाले ऋण के लिए मौद्रिक नीति में पुनर्गठन और समाधान रूपरेखा पर काम करने को लेकर केवी कामथ की अध्यक्षता में एक समिति गठित करने की घोषणा की। इसे दबाव वाले कर्जदाताओं और बैंकों के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है।

‘हमारे साहेब स्टंटमैन हैं, स्टेट्समैन नहीं, इसीलिए मीडिया की TRP हाई है और GDP लो’, कन्हैया का पीएम मोदी पर नया तंज

कन्हैया ने ये टिप्पणी ऐसे समय में की है जब घरेलू रेटिंग एजेंसी इकरा ने चालू कारोबारी साल में देश की जीडीपी में गिरावट के अपने अनुमान को और बढ़ा दिया है।

‘बात चीन की हो या कोरोना और जीडीपी की, बीजेपी ने झूठ को संस्थागत बना दिया’, राहुल गांधी का नया हमला

कांग्रेस नेता ने ट्वीट के साथ वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट भी शेयर की है। जिसमें भारत में कोरोना से हो रहीं कम मौतों को रहस्यमय बताता गया है।

ये पढ़ा क्या?
X