GDP growth India

मोदी सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ स्कीम के बाद भी भारत की जीडीपी में इंडस्ट्री का योगदान 20 साल में सबसे कम

इस तरह से देखें तो बीते 5 सालों में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की हिस्सेदारी जीडीपी में 2.5 फीसदी घट गई है। इस आंकड़े के साथ ही भारत एशिया के सबसे कम औद्योगिकीकरण वाले देशों में शामिल हो गया है।

पहली बार मंदी का शिकार होगा भारत! लगातार दूसरी तिमाही में माइनस में रहेगी जीडीपी ग्रोथ, जानें- क्या कहते हैं आंकड़े

यही नहीं आरबीआई ने अनुमान जताया है कि यह पूरा साल ही निगेटिव ग्रोथ की भेंट चढ़ सकता है। अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 में आर्थिक विकास दर माइनस 9.5 पर्सेंट ही रह सकती है।

देश के 8 बुनियादी उद्योगों में लगातार 5वें महीने तेज गिरावट, जुलाई में 9.6 फीसदी कम हो गया उत्पादन

जुलाई में इस्पात का उत्पादन 16.5 प्रतिशत, रिफाइनरी उत्पादों का 13.9 प्रतिशत, सीमेंट का 13.5 प्रतिशत, प्राकृतिक गैस का 10.2 प्रतिशत, कोयले का 5.7 प्रतिशत, कच्चे तेल का 4.9 प्रतिशत और बिजली का 2.3 प्रतिशत नीचे आया है।

भारत के पिछलग्गू रहे चीन की अर्थव्यवस्था कैसे 1980 के बाद निकल गई आगे, जानें- क्या रहे बड़े कारण

आर्थिक जानकार मानते हैं कि चीन में भारत के मुकाबले श्रम कानून काफी नरम हैं। चीन ने एक तरह से फ्री लेबर मार्केट की नीति को अपनाया है। इसके चलते चीन में उत्पादन में इजाफा हुआ है और लागत कम लगती है।

जून तिमाही में सिर्फ 2.3 फीसदी होगी जीडीपी ग्रोथ, इंडिया रेटिंग्स ने 2021 के अनुमान में की बड़ी कटौती, 3.6 पर्सेंट की गति से आगे बढ़ेगी अर्थव्यवस्था

इंडिया रेटिंग्स ने जून तिमाही में महज 2.3 पर्सेंट की ग्रोथ रहने का ही अनुमान जताया है। इसके अलावा मार्च में समाप्त हो रही तिमाही में भी सिर्फ 4.7 फीसदी की ग्रोथ दर्ज होने का ही अनुमान है।

GDP growth rate of India: मूडीज ने घटाया भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान, कहा- बीते दो साल में तेजी से आई गिरावट

Moody’s cuts India’s GDP forecast: मूडीज ने कहा कि मौजूदा तिमाही में मैन्युफैक्चरिंग इंडेक्स में कुछ सुधार दिखा है, लेकिन यह उम्मीद से कम है। इसके चलते हमने 2020 के लिए अनुमान को घटा दिया है। मूडीज के मुताबिक भारत की इकॉनमी स्थिरता की ओर बढ़ रही है, लेकिन प्रक्रिया बहुत धीमी है।

8% की आर्थिक वृद्धि दर 2-3 साल में हासिल करना संभव: पी चिदंबरम

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने आज कहा कि भारत राजकोषीय सूझबूझ का रास्ता अपनाकर अगले दो-तीन साल में 8 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल कर सकता है। उन्होंने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘मुझे पूरा भरोसा है कि केंद्र में सरकार बदलने के बावजूद यदि हम रास्ते पर मजबूती से बने रहें […]

आज का राशिफल
X