Food

दाना-पानी: हरा-भरा नाश्ता

हरी मटर से बने बोंडे के अलावा मूंगदाल के साथ मटर का मेल बिठाते हुए तीखे और कुरकुरे पकौड़े। शाम की चाय को मजेदार बनाने के लिए इस सर्दी में इससे अच्छा नाश्ता भला और क्या हो सकता है।

Ration Card आवेदन के बाद होता है फील्ड वेरिफिकेशन, नए सदस्य का नाम जुड़वाने के लिए ये है ऑफलाइन प्रक्रिया

फील्ड वेरिफिकेशन में राज्य के खाद्य एवं रसद विभाग के कर्मचारी आवेदनकर्ता के दिए पते पर पहुंचकर फॉर्म में दी जानकारियों को वेरिफाई करते हैं।

कृषि पद्धति में सुधार से पूरा होगा सभी के लिए भोजन का लक्ष्य, सही बीजों का चयन और बेहतर फसल उत्पादन ज़रूरी

इफको किसान के एमडी संदीप मल्होत्रा के मुताबिक इफको किसान ऐप किसानों के लिए वो औज़ार साबित हो सकता है, जो कुदाल और हंसली से भी ज्यादा ताकतवर और चमत्कारी है।

वीडियो: सिंघु बॉर्डर पर दीवार का निर्माण, किसानों ने बनाई किचन; अस्थाई हॉस्पिटल भी बन रहा

स्वयंसेवी संगठनों ने आगे आकर दिल्ली के सिंघु बार्डर पर बीच सड़क पर एक कम ऊंचाई की दीवार बना दी है। इसके बगल में बड़ा से टेंट शेड लगवाकर अस्थायी किचन की व्यस्था की है। यहां गड्डा खोदकर चूल्हा बनाया गया है। इसमें दर्जनों महिलाएं दिन रात आंदोलनकारी किसानों के लिए खाना पका रही है।

दाना-पानी: वास्ता देसी नाश्ता देसी

घर पर झटपट बनने वाले देसी व्यंजनों का स्वाद लेते रहिए। इससे पोषण तो मिलेगा ही, स्वाद भी बदलता रहेगा। इस बार कुछ आसानी से बनने वाले मजेदार चटपटे नाश्ते।

दाना-पानी: सर्दी में कुछ चटर-पटर

कुशल पाकशास्त्री बरसों के अध्ययन और अभ्यास से किसी व्यंजन को अपनी पहचान दे पाते हैं। इसलिए प्रयोग करते रहिए, अध्ययन करते रहिए और नए-नए ढंंग से नए-नए स्वाद में व्यंजनों को बनाते रहिए।

दाना-पानी: बिन चटनी सब सून

सर्दी में पाचन तंत्र दूसरे मौसमों की अपेक्षा अधिक बेहतर रहता है, जो कुछ खाओ, आसानी से पच जाता है। इन दिनों खाने-पीने की चीजें भी बहुतायत में मिलती हैं। इनमें कई ऐसी चीजें होती हैं, जो हमारे शरीर को साल भर स्वस्थ बनाए रखने में मदद करती हैं।

चौपाल: भूख से जंग

दुनियाभर में भूख को मिटाने और खाद्य सुरक्षा को बढ़ावा देने वाले सबसे बड़े संगठन वर्ल्ड फूड प्रोग्राम यानी विश्व खाद्य कार्यक्रम को इस वर्ष का नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया है।

दाना-पानी: शुद्ध-सात्विक आस्वाद

व्रत, उपवास, त्योहार वाले दिन बहुत सारे लोग शुद्ध-सात्विक भोजन पकाना पसंद करते हैं। सात्विक भोजन का अर्थ है कि जिसमें लहसुन-प्याज-टमाटर, गरम मसाला न पड़ा हो। हालांकि कई लोगों को लगता है कि बिना लहसुन-प्याज-टमाटर के भी भला सब्जी, दाल का कोई स्वाद आता है। पर ऐसा नहीं है। इस बार कुछ ऐसी ही चीजें बनाते हैं।

दाना-पानी: बच्चों के मन का खाना

खाने-पीने के मामले में बच्चे काफीे नखरीले होते हैं। खासकर उन्हें हरी सब्जियां खिलाना बहुत कठिन होता है। उन्हें कुछ चटपटा और हर वक्त नया चाहिए होता है। उन्हें बाजार के भोजन का कुछ ऐसा स्वाद लग गया है कि घर का भोजन देखते ही अरुचि पैदा होने लगती है। इस तरह उन्हें उचित पोषण उपलब्ध कराने की स्वाभाविक चिंता पैदा होती है। तो, क्यों न घर में ही पोषण से भरपूर कुछ ऐसा बनाएं, जो बाजार जैसा भी हो और वे बिना नाक-भौं सिकोड़े खा लें।

दाना-पानी: चोखा देसी लिट्टी देसी

शहरों में लोगों को अपना देसी खानपान याद तो है, पर वे विदेशी ढंग की रसोई में उसे बना नहीं पाते। कई लोग तो शहरी खानपान के इस कदर आदी हो गए हैं कि उन्हें देसी स्वाद का कुछ पता ही नहीं। लिहाजा, शहरी स्वाद को बदलते रहने के लिए और स्वास्थ्य की दृष्टि से भी जरूरी है कि कभी-कभार कुछ देसी व्यंजन बना लिए जाएं। इस बार आसान से कुछ देसी व्यंजन।

दाना-पानी: कुछ नाश्ता कुछ खाना

इन दिनों खाने-पीने को लेकर लोगों का शौक काफी बढ़ा है। घूमने-फिरने से नए व्यंजनों की जानकारी बढ़ रही है, तो भोजन पकाने में प्रयोग करते रहने से नए-नए अनुभव हो रहे हैं। मगर भोजन पकाते समय यह ध्यान रखना जरूरी है कि जो हम बनाएं, उसका मूल स्वाद और पोषण बना रहे। इस बार जानते हैं कि कैसे कुछ लोकप्रिय व्यंजनों को पकाते समय सावधानी बरती जा सकती है।

दाना-पानी: त्योहार के पकवान

रक्षाबंधन के बाद त्योहारों का मौसम शुरू हो जाता है। अभी जन्माष्टमी का उत्सव चल रहा है। इन त्योहारों में प्रसाद या उपहार स्वरूप कुछ मीठा पकवान बांटने-खिलाने की परंपरा है। ऐसे में पंजीरी और हलवा कुछ ऐसे मीठे पकवान हैं, जो देश के लगभग हर हिस्से में किसी न किसी रूप में बनाए, प्रसाद रूप में चढ़ाए और बांटे जाते हैं। इस बार यही व्यंजन तैयार करते हैं।

फर्जी Ration Card बनवाने से बचें, जानें कैसे एजेंट के चक्कर में पड़कर हो जाते हैं धोखे का शिकार

New Ration Card apply: ऐसे कई मामले सामने आते रहते हैं जिसमें एक कार्डधारक राशन की दुकान पर पहुंचता है और राशन कार्ड दिखाता है तो वह फर्जी पाया जाता है। पूछताछ में सामने आता है कि किसी एजेंट के जरिए राशन कार्ड बनवाया था।

दाना-पानी: दाल के देसी रंग

भारत जैसे खानपान में विविधता वाले देश बहुत कम हैं। यहां भोजन पकाने में आज भी मशीनों का उपयोग कम से कम होता है। इसलिए यहां प्रयोग की गुंजाइश बहुत रहती है। मसलन, महाराष्ट्र में लोकप्रिय व्यंजन में बिहार का जायका मिला कर पेश किया जा सकता है। इस बार कुछ ऐसे ही देसी व्यंजनों में मामूली प्रयोग।

दाना-पानी: पत्ता-पत्ता जायकेदार

भोजन में कोईन कोई पत्तेदार सब्जी जरूर होनी चाहिए। इससे दो फायदे होते हैं। एक तो इससे आहार में अन्न और दाल की मात्रा कम हो जाती है, पेट जल्दी भर जाता है। दूसरे, पत्तेदार सब्जियों में रेसा यानी फाइवर बहुत होता है, जिससे पेट साफ रहता है। गांवों में लोग तरह-तरह की पत्तियों की सब्जी बनाते हैं, जैसे सीताफल की बेल, सहजन के पत्ते, सूरन यानी ओल और अरबी के पत्ते आदि। इस बार कुछ ऐसी ही पत्तेदार सब्जियां।

दाना-पानी: पत्ता-पत्ता जायकेदार

भोजन में कोईन कोई पत्तेदार सब्जी जरूर होनी चाहिए। इससे दो फायदे होते हैं। एक तो इससे आहार में अन्न और दाल की मात्रा कम हो जाती है, पेट जल्दी भर जाता है। दूसरे, पत्तेदार सब्जियों में रेसा यानी फाइवर बहुत होता है, जिससे पेट साफ रहता है। गांवों में लोग तरह-तरह की पत्तियों की सब्जी बनाते हैं, जैसे सीताफल की बेल, सहजन के पत्ते, सूरन यानी ओल और अरबी के पत्ते आदि। इस बार कुछ ऐसी ही पत्तेदार सब्जियां।

राशनकार्डधारकों को 3 महीने और मिल सकता है फ्री राशन, ऐसे बनवाएं अपना कार्ड

How to apply for Ration Card: खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान के मुताबिक ‘हमें इस योजना के विस्तार के लिए 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से सुझाव मिला है।

ये पढ़ा क्या?
X