fire crackers ban

प्रदूषण से लेकर कोरोना तक, लापरवाही के लिए कौन है जिम्मेदार?

Fire Crackers Ban: पटाखे हों या अन्य पाबंदियां, इन पर अमल जनता को ही सुनिश्चित करना होगा। ऐसा न होने पर पूरे समाज को बड़े कष्ट व संकटों के लिए तैयार रहना होगा

पटाखों पर बैन को लेकर कंगना की ट्वीट, बोलीं, ‘ईद पर भी पशुओं की कुर्बानी बंद होनी चाहिए’, यूजर्स भी देने लगे प्रतिक्रिया

चलिए पटाखा मुक्त दिवाली बनाते हैं, क्रिसमस पर पेड़ नहीं काटते हैं और ईद को जानवरों पर क्रूरता से मुक्त करते हैं…क्या सभी जागरुक उदारवादी मुझसे सहमत हैं?

दिवाली से पहले योगी सरकार का बड़ा फैसला, लखनऊ, आगरा, मेरठ, वाराणसी सहित दर्जनभर जिलों में पटाखे पर लगाया बैन

0 और 50 के बीच एक्यूआई को ”अच्छा”, 51 और 100 के बीच ”संतोषजनक”, 101 और 200 के बीच ”मध्यम”, 201 और 300 के बीच ”खराब”, 301 और 400 के बीच ”बेहद खराब” और 401 से 500 के बीच ”गंभीर” श्रेणी में माना जाता है।

सरकारों के निकम्मेपन से पैदा प्रदूषण का ठीकरा पटाखों के सिर फोड़ना ठीक नहीं- बोले कुमार विश्वास, लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स

पटाखे न छुड़ाने के मुद्दे पर एक ट्विटर यूजर ने कहा- एक ही दिन को प्रदूषण का जि़म्मेदार ठहराना तो सही नहीं।

Supreme Court Verdict on Firecrackers: देश भर में पटाखों पर आंशिक प्रतिबंध, जानिए कौन से जला सकते हैं, किन पर पूरी तरह बैन

Supreme Court Verdict Judgement on Firecrackers India: जस्टिस सीकरी ने कहा,” हम साफ कर देना चाहते हैं कि हम सिर्फ दीवाली के लिए ही प्रतिबद्ध नहीं हैं। चाहें गुरुपर्ब हो या क्रिसमस, हमारा आदेश सभी के लिए समान रूप से काम करेगा।”

पटाखों पर बैन: त्रिपुरा के राज्यपाल ने पूछा-लाउडस्पीकर पर होने वाली अजान पर चुप क्यों हैं सेक्युलर?

तथागत रॉय ने कहा है कि अजान से फैलने वाले ध्वनि प्रदूषण पर सेक्यूलर लोगों का चुप रहना उन्हें हैरान करता है।

ये पढ़ा क्या?
X