FDI

विदेशी कंपनी बनने जा रही Bharti Airtel, 4900 करोड़ FDI की मांगी अनुमति

मामले से जुड़े एक अधिकारिक सूत्र ने पीटीआई-भाषा को बताया कि इस पूंजी निवेश से भारती टेलीकॉम में विदेशी हिस्सेदारी बढ़कर 50 प्रतिशत से अधिक हो जाएगी, जिससे यह एक विदेशी स्वामित्व वाली इकाई बन जाएगी।

श्रीलंका में 4 अरब डॉलर की एफडीआई, भारत के पूर्व मंत्री की पत्नी, बेटे, बेटी का नाम

Jagathrakshakan’s family linked to record FDI: इस डील को लेकर श्रीलंका के बोर्ड ऑफ इन्वेस्टमेंट की ओर से किया गया ऐलान विवादों में आ गया है। बोर्ड का कहना था कि डील में सिंगापुर की कंपनी के अलावा ओमान ने भी निवेश किया है।

पिछले 5 वर्षों के सबसे निचले स्‍तर पर पहुंचा FDI, रक्षा क्षेत्र में सिर्फ 1.5 करोड़ रुपए का हुआ निवेश

देश में अप्रैल-सितंबर 2018 में एफडीआई 11 प्रतिशत की गिरावट के साथ करीब 1,61,262 करोड़ रुपया रहा। 2017-2018 में एफडीआई में वृद्धि दर पांच वर्ष में सबसे कम 3 प्रतिशत रही।

आर्थिक मोर्चे पर एक और बुरी खबर, एफडीआई वृद्धि 5 साल के न्‍यूनतम स्‍तर पर

सरकार ने देश में बिजनेस शुरु करने के नियम काफी आसान कर दिए हैं, इसके बावजूद विदेशी निवेशकों में वो उत्सुकता पैदा नहीं हो पायी है कि वो यहां आकर निवेश करें।

सिंगल ब्रांड रिटेल में सरकार ने दी 100 प्रतिशत एफडीआई की मंजूरी, एयर इंडिया में भी 49% FDI

कंस्ट्रक्शन सेक्टर में भी 100 फीसदी एफडीआई को मंजूरी दे दी गई है। अब विदेशी कंपनियां भी भारत में मकान बनाने का काम कर सकेंगी।

लालू बोले- PM मोदी ने बेच दिया देश, लोगों ने कहा- FDI और भैंस के चारे में होता है फर्क

पूर्व केन्‍द्रीय मंत्री व बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने मोदी सरकार के कई सेक्‍टर्स में 100 फीसदी FDI को मंजूरी देने के फैसले की आलोचना की थी।

सरकार ने दी 100 फीसदी FDI को मंजूरी, सोशल मीडिया पर VIRAL हुआ PM मोदी का 4 साल पुराना ट्वीट

Twitter पर मोदी सरकार के इस कदम पर मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है।

मोदी सरकार ने छोड़ा FDI तीर, डिफेंस, सिविल एविएशन और फार्मा में 100 फीसदी विदेशी निवेश को मंजूरी

सरकार द्वारा जारी की गई एक रिलीज के अनुसार, नवंबर 2015 के बाद मोदी सरकार का यह दूसरा बड़ा सुधार है।

मोदी राज से अच्छा मनमोहन सरकार में था अर्थव्यवस्था का हाल

औद्योगिक प्र‍गति, व्‍यापार और क्रय प्रबंधकों की सूची पर इस महीने जारी हुए आंकड़ों में यह बात साफ हो गई है क‍ि उद्योगों की हालत अभी ठीक नहीं है, आने वाले तिमाहियों में इसे दुरुस्‍त करना होगा।

ब्रिटेन में तीसरा सबसे बड़ा FDI निवेशक बना भारत

ब्रिटेन में भारतीय कंपनियों का निवेश 2015 में करीब 65 प्रतिशत बढ़ा और अमेरिका तथा फ्रांस के बाद भारत इस देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तीसरा सबसे बड़ा स्रोत बना गया है।

सरकार ने दी Online रिटेल प्लेटफॉर्म में 100% FDI की स्वीकृति, प्रमोट होंगी Flipkart, Amazon जैसी कंपनियां

सरकार ने ऑनलाइन खुदरा बाजार मंच के क्षेत्र में स्वत (मंजूरी के जरिये 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) एफडीआई: की अनुमति दे दी। सरकार के इस फैसले से फिलफकार्ट और आमेजन जैसी देशी-विदेशी कंपनियां को बढ़ावा मिलेगा।

FDI संबंधी सूचना IB, रॉ के साथ साझा करेगा रिजर्व बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) संबंधी सूचनाएं देश की खुफिया एजंसियों-आइबी और रॉ के साथ साझा करेगा। इसका मकसद देश में कालाधन आने से रोकना है।

‘मेक इन इंडिया’ में मोदी ने टैक्स सिस्टम को बेहतर करने का किया वादा

नरेंद्र मोदी ने कहा कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के लिए भारत संभवत: सबसे खुला देश है। मई 2014 में भारतीय जनता पार्टी सरकार के सत्ता में आने के बाद से एफडीआई प्रवाह 48 प्रतिशत बढ़ा है।

”E-commerce की डेफीनेशन तलाश रही सरकार”

ई-कामर्स के ‘काफी जटिल’ और ‘बहुस्तरीय’ कारोबारी ढांचे की वजह से सरकार इसकी उचित परिभाषा पर काम कर रही है।

विभिन्न क्षेत्रों में FDI उदारीकरण के निर्णय अधिसूचित

औद्योगिक नीति व संवर्द्धन विभाग (डीआइपीपी)ने रक्षा, एकल ब्रांड खुदरा और निर्माण समेत विभिन्न क्षेत्रों में एफडीआइ नीति के उदारीकरण के हालिया फैसलों संबंधित नई व्यवस्था अधिसूचित कर दी है।

निवेश को न्योता

रक्षा, नागर विमानन और बैंकिंग सहित पंद्रह क्षेत्रों में विदेशी निवेश से संबंधित नियम-कायदों को और उदार बनाने के सरकार के फैसले को 1991 से आर्थिक सुधार के नाम से शुरू हुए..

मौलिक सुधार से मिलेगा मेक इन इंडिया को बढ़ावा: एएफटीआइ

भारत केंद्रित अमेरिका की व्यापार संस्था के मुताबिक सिर्फ मौलिक सुधार ही मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने की राजग की कोशिश को बल देंगे और बड़े प्रत्यक्ष विदेशी निवेश..

‘पहली छमाही में भारत ने FDI के मामले में चीन और अमेरिका को पछाड़ा’

भारत ने 2015 की पहली छमाही में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश यानी एफडीआई को आकर्षित करने के मामले में चीन और अमेरिका को पछाड़ दिया। आलोच्य अवधि में भारत को 31 अरब डॉलर का विदेशी निवेश हासिल हुआ है।

ये पढ़ा क्या?
X