Farmers

गुजरात: किसानों की पुलिस से हिंसक झड़प, कई घायल

गांववालों ने दावा किया कि वे शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे जब पुलिस ने उनका आंदोलन खत्म कराने के लिए ‘‘अनावश्यक बल’’ का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि खनन गतिविधि से क्षेत्र में कृषि पर प्रतिकूल असर पड़ेगा।

Punjab: बैंकों के सामने 5 दिवसीय धरने पर बैठे किसान, कर्ज माफी सहित ब्लैंक चैक्स वापसी की कर रहे मांग

पंजाब के किसान कर्ज माफी को लेकर धरने पर हैं। बता दें कि बठिंडा में भारतीय किसान एकता उग्राहां की ओर से एक जनवरी से पांच दिवसीय धरने की शुरुआत हुई है।

क‍िसानों के दर्द की सही दवा नहीं ढूंढ पा रहीं सरकारें, चुनावों में भारी पड़ सकती है आह

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा है कि कृषि कर्ज माफी कृषि क्षेत्र की समस्याओं का हल नहीं है। यह उपचार न होकर सिर्फ दर्द कम करने वाली एक दवाई है।

कितने किसानों ने की आत्महत्या, दो साल से सरकार ने नहीं जारी किया आंकड़ा

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने 2016 और 2017 के किसानों की आत्महत्या के आंकड़े जारी नहीं किए हैं। एनसीआरबी की वेबसाइट पर प्राप्त जानकारी के मुताबिक किसानों की आत्महत्या से संबंधित पिछले आंकड़े 2015 तक के उपलब्ध हैं।

महाराष्ट्र में खेती करने वाले अमीर लड़कों के बजाय चपरासी से शादी करना चाहती हैं लड़कियां

महाराष्ट्र में संपन्न किसानों की भी शादियां नहीं हो पा रही हैं।

दिनेश शाक्य की रिपोर्ट : मृतकों व भूमिहीनों में बांट दिया मुआवजा

जिले में ओलावृष्टि का मुआवजा मरे हुए लोगों और भूमिहीनों तक को दे दिया गया है। ओलावृष्टि चैक धांधली मामले में 180 ऐसे लोगों को चैक दिए गए हैं जिनके नाम खतौनी में नहीं हैं।

मराठवाड़ा: 16 महीनों में 212 किसान ने की आत्महत्या, 76 मामलों में प्रशासन ने सरकारी सहायता से किया इनकार

देवालाली गांव में किसान प्रशांत कासपाटे (35) ने पिछले साल अक्तूबर में फसल नष्ट होने और निजी सूदखोर रिणदाताओं द्वारा रिण वापसी के लिए परेशान किए जाने की वजह से कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

बेबस अन्नदाता

लातूर में कई साल पहले जबर्दस्त भूंकप आया था। आपदा इस बार भी आई है, मगर सूखे के रूप में। पानी लुट न जाए, इसके लिए पहरेदारी हो रही है।

किसान की सुध

सरकार ग्रामीणों के लिए अनेक योजनाएं चलाती है लेकिन वे कागजों तक सीमित होती है।

उपज की कीमत बनाम मुआवजा

क्या अजीब विरोधाभास है कि एक तरफ किसान फसल नष्ट होने पर मर रहा है तो दूसरी ओर अच्छी फसल होने पर भी उसे मौत को गले लगाना पड़ रहा है।

अब कृषि मंत्री राधामोहन सिंह बोले- भारत को भगवान का उपहार हैं PM मोदी और भाजपा सरकार

भाजपा के किसान प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित एक किसान सम्मेलन में सिंह ने कहा, ‘आजादी के बाद कोई भी ऐसी सरकार सत्ता में नहीं आई जिसे देश के भविष्य के बारे में इतनी अधिक चिंता हो।

सिंचाई के लिए हर तरह की मदद देंगे किसानों को: जेटली

जेटली ने कहा कि केंद्र ने सिंचाई आधारभूत ढांचा तैयार करने और उसमें सुधार के लिए अपना योगदान किया है तथा नाबार्ड को बड़ी परियोजनाओं के लिए पर्याप्त कोष बनाने को कहा गया है।

आइवरी कोस्ट: किसानों और चरवाहों के बीच संघर्ष में 17 की मौत

आइवरी कोस्ट के रक्षा मंत्रालय के अधिकारी विन्सेंट टो बाई ने शुक्रवार (25 मार्च) को सरकारी टेलीविजन पर बताया, ‘‘23-24 मार्च की दरम्यानी रात के दौरान स्थिति बहुत उग्र हो गई

मोदी का कार्यक्रम, किसानों का समय से पहले फसल काटने से इनकार

प्रधानमंत्री का बिहार के सुल्तानपुर में 12 मार्च को प्रस्तावित कार्यक्रम के लिए जगह को लेकर समस्या सामने आई है। यहां आयोजित होने वाले कार्यक्रम के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेलवे की कुछ परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।

PM मोदी बोले- पांच साल बाद डबल कर देंगे किसानों की आमदनी

उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश के बरेली में किसान कल्‍याण रैली में कहा कि छोटे-छोटे कदम उठाकर कृषि क्षेत्र के सामने खड़ी चुनौतियों को अवसरों में बदला जा सकता है।

मुसीबत की खेती

किसानों के लगभग हर समय संकट में फंसे होने का मूल कारण यही है कि खेती घाटे का धंधा बनती गई है। किसानों को अक्सर अपनी उपज का वाजिब दाम नहीं मिल पाता है।

नोएडा, ग्रेनो और यमुना प्राधिकरण अब सीधे किसानों से खरीद पाएंगे जमीन

शहर में जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए तैयार हुई नई नीति को यूपी कैबिनेट ने मंजूरी प्रदान कर दी है। मंजूरी मिलने से तीनों, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण सीधे किसानों से जमीन खरीद सकेगी।

रोजाना ढाई हजार किसान छोड़ रहे हैं खेती

एनसीआरबी के पिछले पांच सालों के आंकड़ों के मुताबिक 2009 में 17 हजार, 2010 में 15 हजार, 2011 में 14 हजार, 2012 में 13 हजार और 2013 में 11 हजार से ज्यादा किसानों ने खेती से जुड़ी तमाम परेशानियों समेत अन्य कारणों से आत्महत्या कर ली।

ये पढ़ा क्या?
X