Farmers Protest

केंद्र और कुछ नहीं दे सकता, विचार करना है तो कर लो…ये कह उठ कर चले गए कृषि मंत्री- 11वें दौर की बैठक के बाद बोले किसान नेता

किसान नेताओं का कहना है कि बैठक में कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर आए और चंद मिनटों बाद यह कहकर चले गए कि केंद्र और कुछ नहीं दे सकता, विचार करना है तो कर लो।

किसानों का प्रदर्शन कमजोर आंदोलन नहीं, ये लंबा चलेगा- टिकैत ने चेताया; 26 जनवरी को परेड भी निकलेगी

किसान नेता और भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि किसानों का प्रदर्शन कमजोर आंदोलन नहीं है, ये लंबा चलेगा। उन्होंने जोर देकर कहा कि 26 जनवरी को परेड भी निकलेगी।

‘किसानों का हुआ सियासी इस्तेमाल’, बोले कृषि मंत्री- कल क्या होगा मुझे नहीं पता, पर आशा पर टिका है आसमान

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मीटिंग के बाद कहा कि हमने किसान यूनियन को कहा कि जो प्रस्ताव आपको दिया है उस पर फिर से विचार करें।

कृषि कानूनः बोले KMSC नेता- 3 घंटे इंतजार करा किया अपमान, कृषि मंत्री ने कहा- प्रस्ताव पर राजी होते हैं तो जारी रह सकती है बातचीत

कृषि कानूनों को लेकर 11वें दौर की बैठक में, किसान यूनियनों ने शुक्रवार को सरकार से कहा कि वे कानूनों की पूरी तरह से वापसी चाहते हैं।

कृषि कानूनः 11वें दौर की बात बेनतीजा, किसानों के अड़ियल रुख पर बोले कृषि मंत्री- इससे बढ़िया नहीं दे सकते थे प्रस्ताव

सरकार और किसान नेताओं के बीच 11वें राउंड की बैठक हुए लेकिन यह भी बेनतीजा रही। सरकार कानून को डेढ़ साल तक निलंबित करने की बात कह रही है। लेकिन किसान कानून रद्द करने की मांग पर आड़े हुए हैं।

कृषि कानूनः किसानों के आगे क्यों झुक गई मोदी सरकार? ये हैं 5 वजहें, समझें

गतिरोध खत्म करने के लिए बेताब सरकार उम्मीद कर रही थी कि यह प्रस्ताव काम करेगा लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं, जो जज राज्यसभा चले गए उन्हें भी प्रणाम करते हैं- राकेश टिकैत

राकेश टिकैत ने कहा, हम कोर्ट का सम्मान करते हैं। जो लोग रिटायर होकर राज्यसभा में चले जाते हैं उसका भी सम्मान करते हैं, उनको प्रणाम करते हैं।

आतंकवादी तो पूरे देश में घूम रहे, क्या चैनल भी बंद कर दिया जाएगा- बोले किसान नेता, सरकार भी करवाती है पथराव

सरकार ने किसानों से कहा है कि वो डेढ़ साल तक कृषि कानूनों को निलंबित करने को तैयार है। सरकार का प्रस्ताव माना जाए या नहीं, इसे लेकर आंदोलनकारी किसान संगठनों का मंथन जारी है। इस मुद्दे पर टीवी चैनल ‘आज तक’ के शो ‘दंगल’ पर एक बहस देखने को मिली।

मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के नाम पर आटा बेच कर रहा था कमाई, चार गिरफ्तार

इन बोरियों की फोटो कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, तब रिलायंस जियो ने सफाई दी थी कि उसके जियो ब्रांड का किसान फसल खरीदी की फोटो से कोई लेना-देना नहीं है।

बोले रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्णब गोस्वामी- ‘गणतंत्र दिवस पर ये लोग देश को दुनिया में बदनाम करेंगे, कृषि कानूनों से इन्हें कोई लेना-देना नहीं’

आपको बता दें कि 26 जनवरी को किसानों ने दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालने का ऐलान किया है। इधर किसानों संयुक्त किसान मोर्चा की आम सभा में केंद्र सरकार द्वारा कल बुधवार को रखे गए प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया गया है।

‘अभी तक तो पीएम जय जवान जय किसान बोल रहे थे अब क्या जय धनवान बोलें?’, एंकर अंजना ओम कश्यप ने BJP नेता से पूछा सवाल

बहरहाल आपको बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा की आम सभा में सरकार द्वारा बुधवार को रखे गए प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया।

किसान आंदोलन: केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान नेता का जवाब- पीएम के पेट में कुछ और जुबान से कहते हैं कुछ और..

किसान नेता मेजर सिंह ने डिबेट में कहा कि जब से बातचीत शुरू हुई है इसी तरह का प्रस्ताव रहा है। प्रस्ताव में कोई नई बात नहीं है।

किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, कहा पूरी तरह रद्द हो कानून; बोले- व्यर्थ नहीं जाएगा किसानों का बलिदान

किसान नेता जोगिंदर सिंह उग्रहण ने बताया कि शुक्रवार को वे सरकार से मिलेंगे और उन्हें स्पष्ट तौर पर बता देंगे कि जब तक पूरी तरह से तीनों कानूनों को खत्म नहीं किए जाता है, तब तक हम अपना आंदोलन जारी रखेंगे।

100 से ज्यादा संशोधन करवा चुके हैं आप तो देश का संविधान फेंकवा देंगे?, एंकर के सवाल पर गौरव वल्लभ ने दिया जवाब

डिबेट के दौरान एंकर ने कांग्रेस प्रवक्ता से पूछा कि आपकी सरकारों को किसानों को एमएसपी की गारंटी देने का नेक ख्याल क्यों नहीं आया।

योगेंद्र यादव बोले शोभा बढ़ाएगी ट्रैक्टर ट्रॉली, रिपब्लिक डे के लिए दिल्ली पुलिस की स्पेशल तैयारी, जानें क्या होंगे नियम

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर ने कहा, “यह हमारी जिम्मेदारी है कि गणतंत्र दिवस की परेड ठीक ढंग से निकले और हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं।”

राकेश टिकैत बोले- NIA के नोटिस का कर रहे इंतजार, अर्नब पर कहा- रोज यहीं बैठाते हैं, स्टूडियो में जाने का मन है

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि वह अर्नब गोस्वामी से सामने से मिलना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि बहस के दौरान वह अर्नब को देख नहीं पाते हैं इसलिए स्टूडियो जाने का मन है।

प्रधानमंत्री मोदी को किसानों की ‘मन की बात’, पोस्ट कार्ड भेज बता रहे समस्या

लोगों से कहा गया है कि वे कृषि कानूनों को लेकर पीएम मोदी को अपने मन की बात बताएं। पोस्ट कार्ड के जरिए ये बात पहुंचाई जा रही है।

ये पढ़ा क्या ?
X