farmer protest 2020

आंदोलन के बीच किसानों से सरकार ने बढ़ाई धान की खरीद, 16 फीसदी का इजाफा, जानिए कीमत

सरकार के ताजा बयान के मुताबिक यह खरीद 638.57 लाख टन की हुई है, जिसकी कीमत 1,20,562 करोड़ रुपये है।

किसान आंदोलन: सिंघु सीमा पर भड़की हिंसा, दो पक्षों में नारेबाजी, पथराव

पुलिस ने एसएचओ पर हमला करने वाले व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है। इससे पहले शुक्रवार सुबह नरेला-बवाना के स्थानीय निवासियों ने भी तिरंगा मार्च निकाला था हालांकि पुलिस ने उन्हें नहीं रोका।

दिल्ली हिंसा: गाजीपुर में निषेधाज्ञा, भारी फोर्स की तैनाती, तनाव; बुराड़ी मैदान खाली कराया, आंदोलनकारियों के खिलाफ सिंघु बार्डर पर स्थानीय लोगों का प्रदर्शन

दूसरी ओर जिला प्रशासन की ओर से गाजीपुर बार्डर पर किसानों के तंबुओं के बिजली और पानी के कनेक्शन काट दिए गए। इस बारे में राकेश टिकैत ने कहा कि प्रशासन ने किसानों को परेशान करने के लिए यह कदम उठाया है।

दिल्ली हिंसा के दो दिन बाद सड़क पर दिखी सख्ती, गाजीपुर बार्डर पर बना तनाव का माहौल

टिकैत ने पीटीआई को भेजे एक संदेश में कहा, “मैं आत्महत्या कर लूंगा लेकिन तब तक आंदोलन समाप्त नहीं करूंगा जब तक कि कृषि कानूनों को रद्द नहीं कर दिया जाता।”

रात तक यूपी गेट ख़ाली नहीं किया तो जबरन कराएंगे- ग़ाज़ियाबाद प्रशासन का आंदोलनकारी किसानों को अल्टीमेटम

दिल्ली पुलिस ने हिंसा के संबंध में दर्ज प्राथमिकी में नामजद किसान नेताओं के विरुद्ध गुरुवार को ‘लुक आउट’ नोटिस जारी किया। साथ ही जांच तेज करते हुए राजद्रोह का मामला भी दर्ज किया है।

राकेश टिकैत बोले- गाजीपुर बॉर्डर पर काटी गई लाइट, कोई गलत हरकत हुई तो सरकार की जिम्मेदारी

चेतावनी दी कि अगर कुछ भी अप्रिय स्थिति आती है तो उसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि यह डर फैलाने, दहशत फैलाने की पुलिस-प्रशासन की साजिश है।

लाल किले पर बवाल का मामला, नौ नेताओं समेत कई पर मामले दर्ज, सरहदों पर लौटे किसान, हिंसा में 19 लोग गिरफ्तार, 50 हिरासत में

दर्ज मामलों में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत, सरदार वीएम सिंह, जगतार सिंह बाजवा और तेजिंदर सिंह विर्क समेत कुल नौ नेताओं को उत्पात मचाने का जिम्मेदार ठहराया गया है।

डकैत निकला किसान नेता राकेश टिकैत, तिरंगे का अपमान किया- डिबेट में बोले भाजपा प्रवक्ता

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरेजवाला ने मीडिया से बात करते हुए लाल किले पर चढ़कर देश का अपमान करने के आरोपी पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धु को भाजपा का आदमी बताते हुए कहा किसानों के नाम पर साजिश की गई है।

प्रदर्शन से अलग हुए किसान नेता वीएम सिंह का बड़ा आरोप- अलग रूट पर जाना चाहते थे राकेश टिकैत

बोले, “जो लोग लाल किले पर झंडा लगा रहे हैं, उससे हमें क्या मिला। हमारे पूर्वजों ने बड़े संघर्ष और मेहनत से आजादी पाई थी। इस तरह की घटना करने से हमें चोट लगी है। हम ऐसे आंदोलन में शामिल नहीं हो सकते हैं। हम संविधान को ठेंगा नहीं दिखा सकते हैं।”

ट्रैक्टर परेड हिंसा के 24 घंटे बाद किसानों पर केंद्र का बड़ा फैसला, हुई MSP में बढ़ोतरी

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इसमें पेराई वाले नारियल MSP में बढ़ोतरी की गई। 375 रुपये से ज़्यादा बढ़कर 10,335 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है।

बॉर्डर कैसे बचाओगे जब लाल किला ही नहीं बचा पा रहे, डिबेट में बोले पैनलिस्ट- कहां थे ये फलाने ढिकाने

टीवी चैनल न्यूज 24 के कार्यक्रम ‘राष्ट्र की बात’ पर एंकर मानक गुप्ता के साथ डिबेट में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने हिंसा के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

किसान आंदोलन पर कंगना रनौत ने प्र‍ियंका-दिलजीत पर कसा तंज, पूछा- यही चाहिए था तुम लोगों को

उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा, “तुम लोगों को बताना होगा। पूरी दुनिया आज हम पर हंस रही है, यही चाहिए था ना तुम लोगों को। बधाई हो!”

दिल्ली दंगों में सुर्खियों में रहे कपिल मिश्रा किसानों के ऐसे प्रदर्शनों पर नाराज, बोले- योगेन्द्र यादव और राकेश टिकैत को जेल में डालो

कहा, “अभी सिख फार जस्टिस ने दो हफ्ते पहले कहा था कि लाल किले पर खालिस्तानी झंडे फहराने पर नौ मिलियन डॉलर मिलेगा। आज वही किया जा रहा है। आज ये सब लोग पुलिस वालों को मारकर, बसों को जलाकर लाल किले की ओर बढ़ रहे हैं।”

ट्रैक्टर जुलूस : आज दिल्ली कूच करेंगे पंजाब व हरियाणा के किसान, 30,000 से अधिक ट्रैक्टर बनेंगे परेड का हिस्सा

भारती किसान यूनियन (एकता-उग्राहां) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने कहा, ‘ट्रैक्टरों पर यूनियन के झंडों के साथ पोस्टर होंगे जिन पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’, ‘किसान नहीं तो भोजन नहीं’ आदि नारे होंगे।’

कृषि कानून विवाद: अड़े रहे किसान संगठन, केंद्र सरकार का रुख भी कड़ा

किसान नेताओं ने कहा कि भले ही बैठक पांच घंटे चली, लेकिन दोनों पक्ष मुश्किल से 30 मिनट के लिए ही आमने-सामने बैठे। बैठक की शुरुआत में ही किसान नेताओं ने सरकार को प्रस्ताव खारिज करने की सूचना दे दी थी।

कानून वापसी पर अड़े किसान, ठुकराया प्रस्ताव

किसान नेता दर्शन पाल सिंह की ओर से जारी बयान में कहा गया, ‘संयुक्त किसान मोर्चा की आम सभा में सरकार द्वारा रखे गए प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया गया।’

सरकार बिल को 1 से डेढ़ साल होल्ड करने को तैयार, कृषि मंत्री ने कहा- किसानों ने हमारी बात को गंभीरता से लिया

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने यह भी कहा, “मुझे लगता है कि वार्ता सही दिशा में आगे बढ़ रही है और 22 जनवरी को एक प्रस्ताव मिलने की संभावना है।”

किसानों ने कहा, किसी की मध्यस्थता मंजूर नहीं; सरकार के साथ नौवीं बैठक भी बेनतीजा, 19 को फिर वार्ता

वार्ता में प्रदर्शनकारी किसान नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की अपनी मांग पर अड़े रहे जबकि सरकार ने किसान नेताओं से उनके रुख में लचीलापन दिखाने की अपील की।

ये पढ़ा क्या?
X