ताज़ा खबर
 

Emergency 1975

इंदिरा गांधी नहीं, इस शख्स के दिमाग की उपज थी इमरजेंसी, पीएम से पहले राष्ट्रपति से कर ली थी बात

भारत में लगी इमरजेंसी के पीछे जिस शख्स का दिमाग था वह तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी नहीं थी। यह पूर्व नौकरशाह उस समय पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे सिद्धार्थ शंकर राय के दिमाग की उपज थी।

आपातकाल की 43वीं बरसी पर कांग्रेस परिवार पर बरसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- इमरजेंसी कांग्रेस का पाप, काला धब्बा

देश में मंगलवार को आपात्काल की 43वीं बरसी मनाई गई। मुंबई में आयोजित विचार संबोधन सभा में पीएम ने बताया कि कांग्रेस में आज भी नामदार वाली मानसिकता है। उसमें हम वाली मानसिकता है। वह आज भी आपात्काल वाली मानसिकता से ग्रसित है।

बहन की शादी में जब नहीं जा पाए थे सुशील मोदी, पुलिस ने पीटकर ठूंस दिया था जेल में

सुशील मोदी की हालत तब अधमरे जैसे हो गई थी। होश आने पर उन्होंने अपने पास पुलिस को पाया। जानें 22 जनवरी 1976 को बहन ऊषा को लिखी उस चिट्ठी में मोदी ने और क्या कहा था।

जॉर्ज फर्नांडिस के गार्ड बने थे नरेंद्र मोदी, इमरजेंसी में की गई मेहनत से ही चमका सितारा

इमरजेंसी के दौरान नरेंद्र मोदी ने हरे रंग की लुंगी में दाढ़ी वाले फायर ब्रांड नेता जार्ज फर्नांडिस की सुरक्षा में गार्ड का दायित्व निभाया।इस दौरान मोदी ने फायरब्रांड जार्ज फर्नांडिस के साथ अहिंसा के दर्शन पर बहस भी की।

आपातकाल, आपातकाल क्या है, 1975 में आपातकाल, आपातकाल और प्रेस, इंदिरा गांधी, सिद्धार्थ शंकर रे, Emergency 1975, Emergency in India, Indira Gandhi, Siddhartha Shankar Ray, 1975 Emergency, 1975 emergency india, 1975 emergency Hindi,1975 emergency reason

इमरजंसी के ‘शिल्पकार’ थे सिद्धार्थ शंकर रे

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने इमरजंसी लगाने के बाद 1977 में एक खुफिया रिपोर्ट में बहुमत मिलने का पूर्वानुमान जताए जाने के कारण चुनाव का आदेश दिया था और चुनाव हारने के बाद राहत भी महसूस की थी…