electoral bond

बसपा को फिर सालभर नहीं मिला चंदा? पार्टी ने Nil दिखाया डोनेशन, NCP का चंदा एक साल में पांच गुना बढ़ा

फिलहाल भाजपा, कांग्रेस, सीपीआई, सीपीएम और तृणमूल कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टियों के चंदे का डेटा चुनाव आयोग की वेबसाइट पर मौजूद नहीं है।

राजनीतिक चंदा जुटाने के लिए सरकार ने दी बॉन्ड को मंजूरी, नए साल में SBI के 29 ब्रांच करेंगे जारी

बता दें कि भारतीय स्टेट बैंक द्वारा की गयी 14वें चरण की बिक्री में करीब 282 करोड़ रुपये के बॉन्ड बेचे गये थे। यह...

इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिये दान देने वालों का नाम उजागर करना जनहित नहीं, सीसीआई ने कहा- यह RTI एक्ट का उल्लंघन

केंद्रीय सूचना आयोग का कहना है कि राजनीतिक पार्टियों को इलेक्टोरल बांड के जरिए किस-किसने चंदा दिया है, इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं की जा...

बिहार चुनाव से पहले इलेक्टोरल बॉन्ड से पार्टियों को मिला 282 करोड़ का चंदा; तीन साल में मिल चुके हैं 6,493 करोड़ रुपए

इलेक्टोरल बॉन्ड्स की बिक्री शुरू होने के बाद पहले साल यानी 2018 में पार्टियों को इसके जरिए 1056.73 करोड़ रुपए मिले थे, 2019 में...

SC में केंद्र सरकार से भिड़ेगा चुनाव आयोग, इलेक्टरॉल बॉन्ड का करेगा विरोध, चंदे का स्रोत जानने से किया था मना

इससे पहले 25 मार्च 2019 को भी चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में दिए शपथ पत्र में इलेक्टोरल बॉन्ड योजना का विरोध किया था।...

दो साल पहले इलेक्टोरल बॉन्ड पर वित्त सचिव और संयुक्त सचिव में हुई थी भिड़ंत, RBI से क्यों साझा की जानकारी?

30 अगस्त 2017 को गोयल ने आरबीआई से दो सप्ताह के भीतर प्रस्तावित बॉन्ड को लेकर विस्तृत परिचालन के तौर-तरीकों को शामिल करने की...

यह पढ़ा क्या?
X