Elections 2018

चुनाव का तांता क्यों

अब वर्ष 2016 में पांच (असम, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल, पुदुच्चेरी), वर्ष 2017 में फिर पांच (गोवा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर) और वर्ष 2018 में सात (गुजरात, नगालैंड, कर्नाटक, मेघालय, हिमाचल, त्रिपुरा, मिजोरम) विधानसभाओं के चुनाव होने हैं।

चुनावी चंदे की बिसात

चुनाव सुधार पर बरसों से चली आ रही बहस के बावजूद राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे का चरित्र ज्यों का त्यों है।

वोट को अमान्य होने से बचाने के लिए आयोग के नए निर्देश

‘इनमें से कोई पसंद नहीं’ के विकल्प को लेकर राज्यसभा और राज्य विधान परिषदों के चुनावों में भ्रम की स्थिति को समाप्त करने के लिए चुनाव आयोग वोट को अमान्य होने से बचाने के प्रयास..

मोबाइल से मतदान

कुछ दिन पहले मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा था कि चुनाव आयोग इंटरनेट और मोबाइल के जरिए वोटिंग पर विचार कर रहा है। लेकिन यह विचार इतना भी ज्यादा लंबा नहीं चलना चाहिए। आज इंटरनेट और मोबाइल का जमाना है और लोग अपने अनेक काम इनके जरिए ही करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। ऐसे […]

फरवरी तक 85 से ज्यादा रैलियां करेंगे केजरीवाल

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल अगले दो महीने में दिल्ली में 85 से ज्यादा रैलियों को संबोधित करेंगे। पार्टी के उम्मीदवारों द्वारा उनके चुनाव क्षेत्रों में प्रचार करने की बढ़ती मांग के बाद केजरीवाल ने यह फैसला किया है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री केजरीवाल दिसंबर में […]

ये पढ़ा क्या?
X