Ecology

हवा के मुकाबले पानी में देर तक रहते हैं कोरोना विषाणु; कई सूक्ष्म जीव विज्ञानियों की राय- नदी में 20 से 25 दिन तक विषाणु के रहने का अंदेशा

श्री हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय के पर्यावरण विज्ञान विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ आर सी शर्मा का कहना है...

राजनीतिः जैव विविधता का पश्चिमी घाट

हमारे देश में दुनिया की बारह फीसद जैव विविधता है, लेकिन उस पर कितना काम हो पाया है, कितने वनस्पति और जीवों के जीन...

जीवन-मरण का वैश्विक प्रश्न

अगले दो सौ सालों में ग्लोबल वार्मिंग के कारण भारत को सर्वाधिक प्रभावित करने वाली मानसून प्रणाली बहुत कमजोर पड़ जाएगी। इससे बारिश और...

हर साल कम हो रही है 30 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि

भारत में कृषि के लिए सबसे बड़ी समस्या सिंचाई की है और सिर्फ 45 प्रतिशत भूमि ही सिंचित है। देश के 13 राज्यों के...

पर्यावरण : ताप की तपिश

हवा में कार्बन की औसत मात्रा 400 पार्ट प्रति मिलियन तक के खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है। यह तय मानकों से 43 फीसद...

टिकाऊ विकास के लिए

उत्तर आधुनिक दौर में हमने विकास की जिस आर्थिक नीति को स्वीकार किया हुआ है, वह औद्योगिक सभ्यता के मूल्यों का परिणाम है। पूर्णत:...

जलवायु : निरापद नहीं है पनबिजली

पंद्रह सालों के दौरान पनबिजली से होने वाली मीथेन समस्या ने अंतरराष्ट्रीय खबरों में थोड़ी-बहुत जगह बनाई है, लेकिन हाल ही में चर्चा ने...

जलवायु परिवर्तन पर राजनीतिक मतभेद कम करने की कोशिश

ग्लोबल वॉर्मिंग पर नियंत्रण के लिए एक समझौता करने की अपेक्षाओं वाले सम्मेलन से पांच सप्ताह पूर्व 60 से ज्यादा पर्यावरण व ऊर्जा मंत्री...

यह पढ़ा क्या?
X