Dutee Chand

लगातार तीसरे साल नीरज चोपड़ा को खेल रत्न और दुती चंद को अर्जुन अवार्ड देने की सिफारिश, लॉकडाउन के कारण खेल मंत्रालय ने बढ़ाई तारीख

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) ने अर्जुन पुरस्कार के लिए दुती चंद, एशियाड में गोल्ड जीतने वाले अरपिंदर सिंह (ट्रिपल जंप), मनजीत सिंह (800 मीटर) और मौजूदा एशिया चैंपियन पीयू चित्रा के नाम की सिफारिश की है।

Khelo India University Games में दिखा दुती चंद का कमाल! 100 मीटर डैश में जीता गोल्ड

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अगले टूर्नामेंट में समय में 10 से 15 सेकेंड का सुधार करूंगी। मैं इस समय फिट हूं, हालांकि अब मुझे अपनी रफ्तार में सुधार करना होगा। ’’

देश की पहली समलैंगिक एथलीट दुती चंद की पीड़ा: लड़कियों की तरह पढ़ी-बढ़ी, फिर भी बना दिया गया ‘लड़का’

दुती को कतर के दोहा में 27 सितंबर से छह अक्टूबर तक होने वाली वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया है।

अब BMW से घूमती हैं दुती चंद, पर गुरबत के दिनों में नॉन-वेज खाना तो दूर उसके बारे में जानती तक नहीं थीं

Dutee Chand Untold Story: बकौल एथलीट, “मेरे पापा भी नहीं इस बारे में नहीं जानते थे। हम लोग इस चीज को लेकर लगभग 15 दिनों तक कनफ्यूज रहे थे।”

Dutee Chand को आयरलैंड और जर्मनी का वीजा मिला, यूरोप में होने वाले एथलेटिक्स टूर्नामेंट में ले सकेंगी हिस्सा

दुती को आईएएएफ से मान्यता प्राप्त 100 मीटर की दो फर्राटा रेस में हिस्सा लेने के लिए आयरलैंड और जर्मनी की यात्रा करनी थी, लेकिन 8 अगस्त तक वीजा नहीं मिला था। इसके बाद उन्होंने ट्वीट के जरिए विदेश मंत्री एस जयशंकर से वीजा दिलाने में मदद करने की अपील की थी।

Arjun Award: दोबारा भेजी जाएगी दुती चंद की फाइल, इस वजह से रिजेक्ट हो गया था नॉमिनेशन

अर्जुन अवॉर्ड के लिए दुती चंद के नाम का प्रस्ताव भेजा था। लेकिन उसे केंद्रीय खेल और युवा मंत्रालय ने खारिज कर दिया है। दुती के साथ भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह का भी खेल रत्‍न के लिए नॉमिनेशन रिजेक्ट कर दिया है।

दुती चंद ने कहा- मेरे समलैंगिक रिश्ते में होने का यह मतलब नहीं कि मैं एथलीट नहीं रही

23 साल की दुती ने 9 जुलाई को नपोली में विश्व यूनिर्विसटी खेलों में स्वर्ण पदक जीता और वह यह कारनामा करने वाली पहली भारतीय महिला बन गई ।

गोल्ड जीतने पर दुती चंद के मां-बाप ने बांटी मिठाइयां, लेकिन बेटी के समलैंगिक रिश्ते पर सख्त आपत्ति

दुति के माता-पिता ने कहा कि “वह इसका विरोध करना जारी रखेंगे, लेकिन हमारी शुभकामनाएं हमेशा उसके साथ हैं। हम चाहते हैं कि वह और कामयाबी हासिल करे और देश और राज्य का मान बढ़ाए।”

दुती चंद ने इतिहास रचा, 11.32 सेकंड में रेस पूरी कर वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में बनीं फर्राटा चैंपियन

Dutee Chand, World University Games: दुती वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला एथलीट बन गई हैं। दुती की इस उपलब्धि पर राष्ट्रपित रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू, ओडिशा के मुख्यमंमत्री नवीन पटनायक, उद्योगपति आनंद महिंद्रा, अभिनेत्री माधुरी दीक्षित नेने के पति डॉ. श्रीराम नेने और सांसद तेजस्वी सूर्या ने उन्हें बधाई दी है।

एथलीट दुत्ती चंद ने बताई अपनी पूरी लव स्टोरी, लड़की से पहले पांच साल तक रह चुका है लड़के से अफेयर

Soulmate proposed on Valentines Day: 100 मीटर में राष्ट्रीय रिकॉर्ड और एशियाई खेलों में 2 रजत पदक अपने नाम कर चुकी दुत्ती चंद ने कुछ दिन पहले ही अपने समलैंगिक रिश्ते का खुलासा किया था।

समलैंगिक रिश्ते स्वीकारने वाली दुत्ती चंद का आरोप- बड़ी बहन धमका कर मांग रही पैसे

दुती चंद की बहन का कहना है कि वह उसके समलैंगिक रिश्ते के खिलाफ नहीं हैं , दुती वयस्क है, यह उसकी पसंद है कि वह किसके साथ रहना चाहती है। वह एक साधारण लड़की है।

महिला धावक दुती चंद ने कबूले थे समलैंगिक रिश्ते, परिवार ने दी जेल भिजवाने की धमकी

सौ मीटर दौड़ में 11 . 24 सेकेंड के समय के साथ राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक दुती ने कहा कि उनके माता पिता ने अब तक इस रिश्ते पर कोई आपत्ति नहीं जताई है लेकिन उनकी सबसे बड़ी बहन ने उन्हें परिवार से बाहर करने के अलावा जेल भेजने की भी धमकी दी है।

चैंपियन महिला एथलीट दुतीचंद ने कबूले समलैंगिक रिश्ते, कहा- मुझे किसी का सहारा भी चाहिए

दुती चंद ने कहा कि उन्होंने एलजीबीटी समुदाय के अधिकारों के लिए आवाज उठाने के लिए उस वक्त हिम्मत जुटाई, जब पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए आईपीसी के सेक्शन 377 को अपराध के दायरे से बाहर कर दिया।

दुती चंद ने कहा- डर है कि मुझे फिर से फंसाया जा सकता है

दो साल पहले दुती का राष्ट्रमंडल खेल और एशियाई खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करने का सपना तब चकनाचूर हो गया था जब टेस्टोस्टेरोन (पुरुषों में पाया जाने वाला हार्मोन्स) का स्तर अधिक पाए जाने के कारण उन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।