dr ambedkar birthday

दलित विमर्शः फुले-आंबेडकर की विरासत

वर्चस्ववादियों ने फुले-आंबेडकर के बारे में यथासंभव दुष्प्रचार किया। तरह-तरह की अफवाहें फैलाई गर्इं। पूर्वग्रहों का निर्माण किया गया। उन्हें जाति-विशेष का नायक साबित करना इसी अभियान का हिस्सा था। जो जाति उन्मूलन के लिए आजीवन प्रयासरत रहा हो, उसको जाति के दायरे में रखना त्रासद विडंबना नहीं तो और क्या है!