Doklam

चीनी ‘दोस्त’ से मिले नरेंद्र मोदी तो कांग्रेस ने उठाया सवाल- शी चिनफिंग से पूछें PM कि डोकलाम से कब हट रहा है ‘ड्रैगन’?

पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को चिनफिंग से यह स्पष्ट कर देना चाहिए कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और इसमें उनका कोई सुझाव नहीं चाहिए।

ज‍िनप‍िंग-मोदी मुलाकात से पहले भारत का ऐलान- पीछे छूटा डोकलाम व‍िवाद

साल 2017 में, भारत और चीन के सैनिक डोकलाम की जमीन पर आमने-सामने आ गए थे। ये विवाद उस वक्त शुरू हुआ था जब चीन के सैनिकों ने दोनों देशों के बीच हुए आपसी समझौते को दरकिनार कर दिया था। चीन के सैनिक डोकलाम के इलाके में सड़क बनाने की कोशिश कर रहे थे।

पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा- डोकलाम के जरिए भारत और भूटान को बांटना चाहता था चीन

शिवशंकर मेनन ने कहा, ‘‘एक कारण है कि पिछले साल हमने डोकलाम में जो गतिविधि देखी इसलिए नहीं कि उनके (चीन) पास स्पष्ट सैन्य विकल्प या विशिष्टता थी बल्कि भूटानियों को हमसे अलग करने का राजनैतिक लक्ष्य था।’’

डोकलाम: सेना प्रमुख बोले- हालात ठीक, परेशान होने की कोई वजह नहीं

नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने पिछले साल के डोकलाम गतिरोध पर टिप्पणी करते हुए कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा के पार से चीनी सेना की बार-बार घुसपैठ और डोकलाम घटना चीन की बढ़ती दबंगई का एक संकेत है।

डोकलाम में चीनी दखल पर शशि थरूर-राहुल गांधी की बैठक लोकसभा स्पीकर ने की रद्द

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने विदेश मामलों पर संसदीय समिति के अध्यक्ष और कांग्रेस सांसद शशि थरूर को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी थी। समिति के कुछ सदस्यों ने बहुत ही कम समय में बैठक बुलाने पर आपत्ति जताई थी।

चीन ने डोकलाम पर फिर ठोका दावा, बोला- 73 दिनों की तनातनी से सबक सीखे भारत

चीनी रक्षा मंत्रालय ने डोकलाम पर दावा ठोकते हुए भारतीय सेनाध्‍यक्ष जनरल बिपिन रावत के बयान की आलोचना की है। साथ ही डोकलाम विवाद से सबक सीखने की भी नसीहत दी है।

चीन की नसीहत- डोकलाम में निर्माण कार्य पर भारत ना तो दखल दे, ना ही करे टिप्पणी

उपग्रह द्वारा जारी कुछ तस्वीरों में कथित रूप से ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिनमें चीन पिछले वर्ष भारत-चीन सैनिकों के बीच डोकलाम में विवादित स्थान से 81 मीटर पीछे बड़े स्तर पर निर्माण कार्य कर रहा है।

कांग्रेस ने पूछा- चीन ने पूरे डोकलाम पर कर लिया कब्जा, क्या कर रही है मोदी सरकार?

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि उपग्रह के चित्रों से लगता है कि जब चीनी सैनिक डोकलाम में कब्जा कर रहे थे, तब सरकार सो रही थी।

रिटायर्ड कर्नल का दावा- चीन ने उत्‍तरी डोकलाम पर बनाए 7 हेलीपैड, हथियारों से लैस वाहन भी तैनात

रिटायर्ड कर्नल के इस खुलासे से पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी इस मसले पर बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि चीन ने उत्तरी डोकलाम क्षेत्र में अपनी सैन्य टुकड़ियां अभी भी तैनात कर रखी हैं।

डोकलाम: सेटेलाइट इमेज से सामने आया चीन का दोहरा रवैया, क्षेत्र में अब भी चीनी टैंक और मिसाइलें तैनात

डोकलाम क्षेत्र में बड़े पैमाने पर चीनी सैन्य साजो-सामान की मौजूदगी से भारत के सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत की आशंका सही साबित हुई है। चीनी सेना विवादित क्षेत्र से ज्यादा पीछे भी नहीं हटे हैँ।

भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत: डोकलाम से 100 मीटर पीछे हटने को चीनी सैनिक सशर्त तैयार

पीटीआई ने एक भारतीय सैन्य अधिकारी के हवाले से लिखा है कि भारतीय सेना डोकलाम में चीनी सैनिकों के प्रति “नो वार, नो पीस” के मोड पर फिलहाल चल रही है।

चीनी मीडिया ने जंग के लिए भारत को ललकारा, लिखा- युद्ध का काउंटडाउन शुरू

चाइना डेली ने अपने संपादकीय में लिखा है, “दो ताकतों के बीच टकराव होने की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है।”

डोकलाम विवाद: भारत ने नहीं हटाई सेना तो दो हफ्तों में हमला कर सकता है चीन- ग्लोबल टाइम्स

चीन के सैन्य विशेषज्ञों के मुताबिक चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी दो हफ्तों के अंदर डोकलाम में भारतीय सेना पर सीमित कार्रवाई कर सकती है।

लड़ाई हुई तो चीन को उठाना पड़ सकता है ये नुकसान, रिस्क नहीं लेगा ड्रैगन

चीन ने धमकी दी है कि अगर डोकलाम विवाद बढ़ता है तो भारत को सिक्किम के अलावा समूची नियंत्रण रेखा पर संघर्ष के लिए तैयार रहना चाहिए।

सुलझेगा डोकलाम विवाद: एनएसए अजीत डोभाल ने चीनी समकक्ष यांग जेची से की मुलाकात

यांग ने तीनों वरिष्ठ सुरक्षा प्रतिनिधियों के साथ द्विपक्षीय संबंधों, अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय मुद्दों तथा बहुपक्षीय मामलों पर चर्चा की और द्विपक्षीय मुद्दों एवं बड़ी समस्याओं पर चीन के रूख पेश किया।

डोकलाम पर चीन का अड़ियल रवैया, कहा-पहले सेना हटाओ फिर होगी बातचीत

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा, “इस मुद्दे का समाधान, जैसा विदेश मंत्री ने सुझाया है, यही है कि भारत अपने सैनिकों को बिना शर्त वापस बुलाए और दोनों देशों के बीच किसी सार्थक वार्ता के लिए यह पूर्व शर्त है।

डोकलाम विवाद: 10,000 फुट की ऊंचाई पर तंबू गाड़कर डटे हैं भारतीय जवान, लंबे समय तक रहने का प्लान

विवादित इलाके में तैनात भारतीय सैनिक तंबू लगाकर रह रहे हैं जो इस बात का संकेत है कि जब तक चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी वहां से अपने सैनिक नहीं बुलाती, वे भी वहां से नहीं हटेंगे।

ये पढ़ा क्या?
X