deep parva

चौपाल: प्रदूषण के पटाखे

क्या दीपावली का त्योहार बिना पटाखे के नहीं मनाए जा सकते हैं? क्या इसके लिए प्रतिबंधों का इंतजार करना जरूरी है? अगर धर्म में किसी प्रकार की परिस्थितिजन्य विकृतियां प्रवेश कर गई हैं तो उसमें सुधार हमें स्वयं करने होंगे।

चौपाल: उत्सव के रंग

खुशी के पर्व को लोग व्यसनों से अपने मन को तृप्त करके त्योहार का पूर्ण होना मान लेते हैं। इस मौके पर मदिरा पान, जुआ खेल कर अपना धन बर्बाद करने जैसी कुप्रथाए समाज में लंबे समय से चली आ रही है। आज समय बदल रहा है, लोगों की सोच बदल रही है, वहीं चंद लोग अपनी संकीर्ण मानसिकता को त्याग नहीं पा रहे हैं।

पंचपर्व: दीपोत्सव…पंचोत्सव

पांच दिन तक चलने वाला दीपोत्सव ‘पंचपर्व’ कहलाता है। इन पांच दिनों में भिन्न-भिन्न देवताओं का पूजन होता है। दीपावली से एक दिन पहले चतुर्दशी तिथि को भगवान विष्णु ने माता अदिति के आभूषण चुराकर ले जाने वाले निशाचर नरकासुर का वध किया था।

ये पढ़ा क्या?
X