Cow

‘गौ-विज्ञान परीक्षा’ से पहले ‘रेफरेंस मटीरियल’ वायरल! Rashtriya Kamdhenu Aayog की साइट से डॉक्यूमेंट गायब

वहीं, आयोग की वेबसाइट पर इस बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई कि अब वह मटीरियल वेबसाइट पर उपलब्ध है या नहीं।

कामधेनु आयोग का सिलेबस, बीफ खाने से होती है दुर्गति, सोने की वजह से पीला होता है गौमूत्र

इस सिलेबस में लिखा गया है कि देसी गाय काफी चालाक होती है और वह गन्दी जगहों पर नहीं बैठती है। साथ ही यह भी कहा गया है कि देसी गाय जर्सी के मुकाबले काफी अच्छी होती है और वह मुश्किल मौसम में भी आसानी से रह सकती है।

गोहत्या से आता है भूकंप! कामधेनु आयोग की क्लास में बताई जा रही आइंस्टीन पेन वेव्स की थ्योरी

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने गाय के महत्व को रेखांकित करते हुए एक राष्ट्रीयस्तर की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने का फैसला किया है।

UP में ‘गाय बचाओ’ यात्रा निकालने पर अड़े कांग्रेसी, तो प्रदेश अध्यक्ष समेत 150 से अधिक कार्यकर्ता अरेस्ट

लल्लू के हैंडल से इस बाबत आगे ट्वीट किया गया- जब गौ माता की पीड़ादायक तस्वीरें आ रही है तब गौशालाओं के नाम हजारों करोड़ रुपए किसके लिए मुख्यमंत्री जी? मुख्यमंत्री जी ! यह पुलिसिया लाठी,इस दमन से गौवंश की मौतों और किसान के आत्महत्याओं पर पर्दा नहीं डाल सकते। आपका चेहरा बेनकाब हो गया है। यह लड़ाई आर-पार की होगी।

अर्थव्यवस्था से लेकर जैव विविधता तक: दूध ही नहीं, गाय पालन के हैं ये भी फायदे

डॉ. वीर स‍िंंह (पर्यावरण व‍िशेषज्ञ और जीबी पंत यून‍िवर्स‍िटी ऑफ एग्रीकल्‍चर एंड टेक्‍नोलॉजी के पूर्व प्रोफेसर) बता रहे हैं क‍ि गोधन व पशुधन की भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था और आम जनजीवन में क्‍या अहम‍ियत है।)

क्या है Rashtriya Kamdhenu Aayog, जिसके अध्यक्ष ने किया दावा- गाय के गोबर से रुक सकता है रेडिएशन?

गुजरात के राजकोट से भाजपा सांसद वल्लभभाई कथीरिया इस आयोग के अध्यक्ष हैं। आयोग गाय के गोबर और मूत्र के कमर्शियल इस्तेमाल को बढ़ावा देता है।

यूपी में बछड़े को बचाने में गई 5 लोगों की जान, जहरीली गैस के संपर्क में आने से हुआ हादसा

गोण्डा के अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र कुमार ने बताया कि कोतवाली नगर क्षेत्र के राजा मोहल्ले में एक सूखे कुएं में गाय का एक बछड़ा गिर गया था। उसे निकालने के लिए एकत्रित मोहल्ले के लोगों में से एक कुएं में सीढ़ी के सहारे उतर गया।

राजस्थान: गाय के नाम पर टैक्स से दो साल में 1200 करोड़ की वसूली

सरकार को वित्तीय वर्ष 2018-19 और 2019-20 में कुल 1252.9 करोड़ रुपए का राजस्व मिला है। गायों की सुरक्षा के नाम पर राज्य सरकार ने स्टाम्प ड्यूटी पर लगने वाले टैक्स से वित्तीय वर्ष 2018-19 में 266.13 करोड़ रुपए की कमाई की।

छत्तीसगढ़ः पंचायत भवन में साथ बंद रखे गए 50 मवेशियों की मौत, सरपंच पर केस; CM बोले- दम घुटने से गई होगी जान

इस घटना के बाद डीएम के निर्देश पर गांव के सरपंच के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।मैंने डीएम से मामले की जांच के लिए कहा है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

हिमाचल प्रदेश: बच्चे की पढ़ाई के लिए चाहिए था स्मार्टफोन, गरीब परिवार ने छह हजार रुपए में बेच दी गाय

उन्होंने कई लोगों से उधार पैसे मांगे लेकिन उनके जानने वालों ने देने से मना कर दिया। इसके बाद उन्होंने बैंक का दरवाजा खटखटाया लेकिन वहां से भी उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा।

तेलंगाना में जान पर खेल 2 पुलिसकर्मियों ने बचाई 4 बेजुबानों की जान, VIDEO वायरल

तेलंगाना के पुलिस महानिदेशक एम महेंद्र रेड्डी ने इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया था। उन्होंने यादागिरी और रविंदर रेड्डी की तत्परता और बहादुरी की बहुत प्रशंसा भी की है।

देशी गाय पर रिसर्च के लिए केंद्र सरकार ने मंगाए प्रस्ताव तो विरोध में वैज्ञानिकों ने खोला मोर्चा, 258 साइंटिस्टों ने दायर की ऑनलाइन पिटीशन

वैज्ञानिकों ने सवाल उठाया है कि ये गायों और उनके गोबर, मूत्र और दूध पर रिसर्च कर सरकार सच में कुछ नया ढुंढने का प्रयास कर रही है या फिर यह किसी एजेंडे के तहत किया जा रहा है।

शहरों में बनेंगे गायों के लिए हॉस्टल! आयोग ने सरकार को भेजी सिफारिश

अयोग के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “मैं पहले ही शहरी विकास मंत्रालय को गाय छात्रावासों के लिए एक दिशानिर्देश बनाने का अनुरोध कर चुका हूं, जिसे शहरी नियोजन ढांचे में शामिल किया जा सकता है।”

‘गाय के दूध में सोना’ वाले बयान पर कायम हैं बीजेपी बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष, बोले- विदेशी रिसर्च में साबित हुई बात

“मेरी टिप्पणी विदेशों में हो रहे शोध-पत्रों पर आधारित है। जो लोग मुझे ट्रोल कर रहे हैं या मेरी आलोचना कर रहे हैं, उन्हें पहले काउंटर शोध पत्र के जरिए इसे गलत साबित करना चाहिए।”

UP: नाले में पड़े मिले गाय की खाल और कटा हुआ सिर, जमकर हुआ बवाल; SI लाइन हाजिर

UP Crime News, Hapur: पुलिस ने बताया कि देर शाम कुछ ग्रामीणों ने नाले में कथित गोवंश की खाल, कटा हुआ सिर तथा अन्य अवशेष देखे। सूचना फैलते ही वहां जमकर हंगामा हुआ।

भाजपाई मंत्री का दावा- आवारा गायें खा रही थीं नॉन वेज, करवा रहा इलाज, पांच दिन में बन जाएंगी शाकाहारी

लोबो ने कहा कि ऐसा पाया गया है कि यह गायें कूड़े में फेंकी गई तली हुई मछलियां और फ्राइड चावल खा रही थी। कूड़े में फेंका गया ढाबों और होटलों पर बचा हुआ मांसाहारी खाना खाकर इन गायों का सिस्टम इंसानों जैसा हो गया है।

‘ये वे लोग हैं, जो कुत्ते का मुंह तो चाटते हैं पर गाय पर संवेदना मर जाती है’, डिबेट में विरोधियों पर भड़के VHP प्रवक्ता

इसी बीच, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा आगे बोले- देश में एक विडंबना है…यहां शेर और बाघ के लिए काम करता है, उसे पर्यावरणविद् कहा जाता है। मगर जो कुत्ते के लिए काम करता है, उसकी भी तारीफ होती है, पर गाय की बात करने वालों को निशाने पर ले लिया जाता है।

ब्राजील से सीमेन मंगवा देश भर में बांटेगी मोदी सरकार, देसी गायों की तादाद बढ़ाना है मकसद, भावनगर महाराज ने ब्राज़ील को भेंट की थीं गिर की गायें

गिर भारत में उत्पन्न होने वाली प्रमुख जेबू नस्लों में से एक है। यह 18वीं शताब्दी में गुजरात के भावनगर के महाराजा द्वारा ब्राजील को भेंट स्वरूप दी गई थी।

ये पढ़ा क्या?
X