Coronavirus

दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और CMs भी लगवा सकते हैं कोरोना वैक्सीन, जानें टीका लगवाने से कितना फायदा

दुनियाभर के कई देशों में राष्ट्राध्यक्षों ने पहले कोरोना वैक्सीन ली, जबकि भारत में अब तक किसी नेता को टीका नहीं लगा है।

ट्रेन में फिर से मिलेगा गरमा-गरम खाना, जानें कैसे कर सकते हैं ऑर्डर

भारतीय रेलवे ने कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर 10 महीने पहेल ही ट्रेनों को बंद कर दिया था, ट्रेन सेवाएं शुरू होने के बाद भी इनमें अब तक फूड डिलीवरी की इजाजत नहीं दी गई थी।

Joe Biden Inauguration Live Updates: बाइडेन प्रशासन ने दिए चीन पर हमलावर रुख रखने के संकेत, नवनिर्वाचित विदेश मंत्री बोले- मजबूती से करना होगा सामना

Joe Biden Inauguration Live Updates: राष्ट्रपति के साथ ही देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस ने भी बुधवार को अपने पद की शपथ ली।

कोरोना के डर से तीन महीने एयरपोर्ट पर ही रहा, गिरफ्तार किया गया, जज भी हैरान

आदित्य की गिरफ्तारी उस वक्त हुई जब यूनाइटेड एयरलाइंस के कर्मचारियों ने उससे पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा।

कोरोना टीका लगवाने के बाद दो लोगों की मौत, सरकार बोली कार्डियोपल्मोनरी से गई जान

मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि इन दोनों लोगों को 16 जनवरी को कोरोना की वैक्सीन दी गई थी। इन दोनों की मौत कार्डियोपल्मोनरी नाम की बीमारी से हुई है।

यूपी: कोरोना टीका लगवाने के बाद हॉस्पिटल कर्मचारी की मौत, 24 घंटे पहले ली थी वैक्सीन की खुराक

रविवार शाम मुरादाबाद के सरकारी अस्पताल के एक 46 वर्षीय कर्मचारी की मृत्यु हो गई। गौरतलब है कि कर्मचारी ने 24 घंटे पहले कोरोनावायरस वैक्सीन की खुराक ली थी।

टीका आ गया भैया, तुम इटली से कब आओगे- डिबेट में पैनलिस्ट ने राहुल गांधी पर मारा ताना

पैनलिस्ट संगीत रागी ने कहा कि मुझे उम्मीद नहीं थी कि अखिलेश यादव ऐसा बयान देंगे क्या अखिलेश यादव को इस्लामिक वैक्सीन चाहिए?

चीन में आइसक्रीम पर पाया गया Coronavirus! हड़कंप के बाद 1000 से ज्यादा लोगों को क्वारैंटाइन में भेजा गया, कंपनी सील

चीन में यह पहली बार नहीं है, जब किसी खाने की चीज में कोरोना मिला हो। नवंबर 2020 में में चीनी अधिकारियों ने दावा किया था कि उन्हें कई कोल्ड चेन पैकेजों से कोरोनावायरस के ट्रेस मिले हैं।

कोरोनाः पहले ही दिन टारगेट से पीछे रहा वैक्सिनेशन, 43% रह गए महरूम

स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, कोरोना वैक्सीन के लाभार्थियों के डेटा को अपलोड करने के लिए बनाए गए डिजिटल प्लेटफॉर्म और लोगों के वैक्सीन पर कम भरोसे के चलते पहले दिन टीकाकरण की रफ्तार धीमी रही।

PMO ने शांत कराया SII और Bharat Biotech का “झगड़ा”, पर टीके को कैसे तुरंत मिली मंज़ूरी, यह सस्पेंस अब भी कायम

इससे पहले, एक्सपर्ट कमेटी की मीटिंग के मिनट्स से पता चला था कि भारत बायोटेक को पहले एडिश्नल रिसर्च डेटा जमा करने के लिए कहा गया था। ऐसा इसलिए, क्योंकि कंपनी ने अपना फेज-3 (वैक्सीन का) का ट्रायल पूरा नहीं किया था।

PM Cares Fund में साफ झलक रही पारदर्शिता की कमी- नरेंद्र मोदी को पूर्व नौकरशाहों ने लिखा खत- सार्वजनिक करें खर्च

पूर्व अफसरों ने चिट्ठी लिखकर पूछा है कि जिस मकसद के लिए पीएम केयर्स फंड का गठन हुआ, उसे लेकर कई सवाल हैं पर अब तक कोई जवाब नहीं आया है।

कोरोनाः ‘दवाई भी, कड़ाई भी’, बोले PM- लंबा चलेगा टीकाकरण; जानिए उनके भाषण की बड़ी बातें

टीकाकरण अभियान के शुरुआत के मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें अभी भी सावधानी बरतने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि भले ही देश में कोरोना के टीके लगने शुरू हो गए हों लेकिन मास्क, 2 गज की दूरी और साफ़ सफाई का पालन अभी और आगे भी किया जाना चाहिए।

कोरोनाः PM बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान, कांग्रेसी का सवाल- इतना ही सेफ है टीका, तो लगवाने को केंद्र से कोई आगे क्यों न आया?

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने तर्क देते हुए बताया कि हर देश में राष्ट्रप्रमुखों ने खुद पहले वैक्सीन ली, फिर भारत में ऐसा क्यों नहीं हुआ।

विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआतः कोरोना वैक्सीन को हेल्थ मिनिस्टर ने बताया- ‘संजीवनी’; टि्वटर पर ‘बधाई भारत’ ट्रेंड

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन इस बीमारी के खिलाफ संजीवनी का काम करेगा।

कोरोना के ‘काल’ को याद कर भावुक हुए PM, बोले- मन सिहर उठता है, कई अपने घर न लौट पाए…

टीकाकरण अभियान कु शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री मोदी कोरोना काल को याद करके भावुक हो गए। देशवासियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह याद करके मन सिहर उठता है कि कोरोना काल में कई लोग अपने घर को नहीं लौट पाए।

पहले दिन 1,65,714 लोगों को लगा कोविड वैक्सीन का टीका, 3351 सत्र में किया गया वैक्सीनेशन का कार्यक्रम

मंत्रालय ने बताया कि अब तक टीकाकरण के बाद अस्पताल में भर्ती होने का कोई मामला सामने नहीं आया है। पहले दिन 1,91,181 लोगों को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया गया।

नॉर्वे में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद अब तक 13 लोगों की मौत, फाइजर कंपनी पर उठे सवाल

नॉर्वे का कहना है कि कोविड -19 वैक्सीन बुजुर्गों और गंभीर रूप से बीमार लोगों के लिए जोखिम भरी हो सकती है।

ये पढ़ा क्या?
X