coronavirus lockdown

किसानों की आत्महत्या पर छिपाया जा रहा डेटा? सदन में बोले केंद्रीय मंत्री- कई राज्य और UT नहीं दे रहे आत्महत्या के आंकड़े

केंद्रीय मंत्री ने एनसीआरबी के आंकड़ों का जिक्र करते हुए सदन को सूचित किया कि कई राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने विभिन्न प्रकार से पुष्टि किये जाने के बाद किसानों, उत्पादकों एवं खेतिहर मजदूरों द्वारा आत्महत्या का ‘शून्य’ आंकड़ा होने की बात कही है।

रेलवे ने किया 40 क्लोन ट्रेनें चलाने का ऐलान, देखें पूरी लिस्ट, जानें- कैसे मिलेगा फायदा

मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कुछ विशेष रूट्स पर यात्रा की भारी मांग के चलते 20 जोड़ी (40 ट्रेनें) क्लोन स्पेशल ट्रेन चलाई जाएंगी।

500 ट्रेनें और 10,000 स्टेशन बंद करने जा रहा रेलवे, नए टाइम टेबल में इनका नहीं होगा नामों-निशां, जानें- वजह और आधार?

रेलवे ने लॉकडाउन के दौरान आईआईटी बॉम्बे के एक्सपर्ट्स के साथ मिलकर तैयार किया है जीरो-बेस्ड टाइमटेबल।

सर्वे: कोरोना ने तोड़ी मिडिल क्लास लोगों की आर्थिक कमर, लॉकडाउन में 15 फीसदी इनकम का नुकसान

अप्रैल-जून 2019 में 5 लाख रुपए सालाना या इससे ज्यादा की कमाई करने वाले आधे से ज्यादा लोगों की कमाई में बढ़ोत्तरी हुई थी। लेकिन इस साल लॉकडाउन के चलते इसमें 15 फीसदी की गिरावट आयी है।

लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में सामूहिक नमाज़, रोका तो पुलिस पर पथराव; किसी तरह बिगड़ने से बचे हालात

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फ्लैग मार्च किया और स्थानीय लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है।

लॉकडाउन में तंगी से मजबूर हुआ मजदूर: परिवार को पाल नहीं सका तो भेज दिया ससुराल, खुद दे दी जान

कोरोना के बढ़ते केसों के मद्देनजर पीएम मोदी ने भारत में 24 मार्च को लॉकडाउन का ऐलान कर दिया था, बीते चार महीनों में उद्योगों के बंद होने की वजह से लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हो चुके हैं।

उत्तराखंड के चार शहरों में शनिवार और रविवार को होगा पूर्ण लॉकडाउन, इन कामों की मिली छूट, पढ़ें- पूरी गाइडलाइंस

उत्तराखंड में फिलहाल कोरोना के 4 हजार से ज्यादा केस हैं, देहरादून, उधम सिंह नगर, नैनीताल और हरिद्वार इनमें सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं।

Lockdown: सोने के आभूषण बनाने वाले आज मनरेगा में गड्ढे खोद रहे, पश्चिम बंगाल में काम पर लौटने के इंतजार में कुशल कारीगर

औलाद अली ने बताया कि मैं सोने पर जटिल कारीगरी करता हूं और बीते 18 सालों से काम कर रहा हूं। इनमें से बीते 6 सालों से मैं पंजाब में ही हूं। आज मुझे अपने गांव में गड्ढे खोदने पड़ रहे हैं। मेरे हाथों को इस काम की आदत नहीं है लेकिन मेरे पास कोई विकल्प भी नहीं है।

ठाणे और मीरा भयंकर में दस दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया

वहीं, कोविड-19 महामारी संकट और उसके बाद लॉकडाउन से जहां एक तरफ अर्थव्यवस्था में नरमी के हालात हैं।

कोरोना ने ली नौकरी: टीचर को पकड़नी पड़ी सिलाई मशीन, उठाना पड़ा फावड़ा

योगेश का कहना है कि उन्होंने कभी भी दिल्ली में अपने काम से छुट्टी नहीं ली थी लेकिन अब इन हालात में परिवार का पेट भरना ज्यादा अहम है।

हमने बहुत किया, मीडिया ने नहीं बताया- लॉकडाउन से मजदूरों की परेशानी पर अमित शाह बोले

अमित शाह ने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायी गई। इस तरह एक करोड़ से ज्यादा लोगों को देश के एक कोने से दूसरे कोने पहुंचाया गया और सरकार ने ढंग से अपनी जिम्मेदारी को निभाया।

‘हम न तो लंगर खा सकते हैं , न लाइन में लगकर राशन ले सकते’, लॉकडाउन में नौकरी छूटी, वेतन कटा तो बिफर पड़ा मिडिल क्लास

देश के मध्यम वर्ग के लोगों की यह भी शिकायत है कि उन्होंने सरकार के आह्वान पर गैस सब्सिडी छोड़ी, बुजुर्गों को रेल टिकट में मिलने वाली छूट भी छोड़ दी है, लेकिन अब मुश्किल समय में सरकार ने उनकी तरफ बिल्कुल ध्यान नहीं दिया है।

लाख रुपये में नाव खरीदकर रात में समंदर की लहरें पार कर गांव पहुंचे थे मछुआरे, फिर चेन्नई लौटने को मजबूर

मछुआरों का कहना है कि ओडिशा में मछली पकड़ने के उन्हें हर दिन सिर्फ 200 रुपए मिलते हैं, जो कि घर खर्च चलाने के लिए नाकाफी हैं। मछुआरों का कहना है कि ओडिशा में मछली पकड़ने से सिर्फ दो वक्त के खाने का जुगाड़ हो सकता है लेकिन इससे बाकी खर्चे पूरे नहीं हो सकते।

‘बैठाकर तो कोई खिलाएगा नहीं’, यूपी-एमपी और बिहार से लौटने लगे प्रवासी मजदूर, मुफ्त टिकट दे रहीं कंपनियां

भारती किसान यूनियन के अध्यक्ष जगसीर सिंह सीरा ने बताया कि ‘ये कामगार यूपी के पीलीभीत और बिहार के मोतिहारी से यहां पहुंचे हैं। हमने इन्हें लाने के लिए बसों के इंतजाम पर कुल 1.85 लाख रुपए खर्च किए हैं।

कोरोना संकट के बीच JNU में शिक्षकों ने किया CAA विरोधी प्रदर्शन, यूनिवर्सिटी बोली- गाइडलाइंस उल्लंघन कर न करें संस्थान को ‘बदनाम’

नोटिस में कहा गया है कि ‘विरोध प्रदर्शन करने का अधिकार है लेकिन इस माहमारी में कोविड19 गाइडलाइंस का उल्लंघन करने से देश के सामने गलत उदाहरण पेश हो रहा है। खासकर तब जब यह जेएनयू के बौद्धिक लोगों द्वारा किया जा रहा है।’

कोरोना: क्वारंटीन पूरा करने के बाद प्रवासी मजदूरों को कंडोम बाँट रही बिहार सरकार

बिहार स्टेट हेल्थ सोसाइटी के साथ इस मुहिम की निगरानी कर रहे डॉ. उत्पल दास ने द इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में बताया कि “यह पूरी तरह से परिवार नियोजन विभाग का आइडिया है।

बाइक पर सैनिटाइजर का छिड़काव पड़ा भारी, एक सेकेंड में मोटरसाइकिल हुई आग के हवाले! VIDEO में देखें हैरान करने वाला मामला

बता दें, इस समय गर्मी अपने पीक पर है, और मोटरसाइकिल पहले से स्टार्ट थी यानी इंजन और एग्जॉस्ट दोनों गर्म थे। जिसके कारण मोटरसाइकिल में सैनिटाइज़र लगते ही आग की लपटें उठ गई।

न खाना दे रहे हैं, न खाने जाने दे रहे हैं- घंटों सफर के बाद समस्तीपुर स्‍टेशन पर ‘फंसे’ मजदूरों का हंगामा

मजदूरों ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। ये प्रवासी मजदूर चेन्नई और दिल्ली से समस्तीपुर पहुंचे थे। हंगामा कर रहे मजदूरों का कहना है कि वह रात से स्टेशन पर इंतजार कर रहे हैं।

IPL 2020
X