corona vaccine

WHO ने अपनी रिपोर्ट में कहा-मोटे लोगों के लिए ज्यादा घातक होता है कोरोना वायरस

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के ग्लोबल हेल्थ ऑब्जरवेटरी ने कई देशों में हुए कोरोना मौतों के आंकड़ों का विश्लेषण करने के बाद अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जिस देश में मोटे लोग ज्यादा हैं, वहां पर कोरोना संबंधी मौतों की संख्या भी ज्यादा है।

अरविंद केजरीवाल ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, बोले- डरने की ज़रूरत नहीं, सब लोग लगवाएं

वैक्सीन लगवाने के बाद उन्होंने कहा कि हमें किसी भी तरह की परेशानी नहीं है। सभी से अपील करना चाहता हूं कि जो भी वैक्सीन लगवाने के पात्र हैं वो जरूर वैक्सीन लगवाएं।

भरोसे का टीका

टीकाकरण अभियान के दूसरे चरण के पहले दिन प्रधानमंत्री के खुद टीका लगवाने से निस्संदेह इसे लेकर लोगों में बनी हिचक कुछ टूटेगी।

कोरोना टीका लगवाने वाले विश्व के नेताओं में शुमार हुए मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोना का टीका लगवाया और वह दुनिया के उन नेताओं में शुमार हो गए हैं जिन्होंने टीका लगवाने के साथ ही लोगों को टीका की प्रभाविता पर विश्वास जताने का संदेश दिया है।

जिसके घर में 50 साल का बालक, वो दे रहे सर्टिफिकेट, राहुल गांधी पर बोले गौरव भाटिया, गौरव वल्लभ ने कहा- रॉकेट की तरह उछल जाएंगे

कोरोना वैक्सीन पर गौरव भाटिया और गौरव वल्लभ के बीच तीखी बहस हुई। भाटिया ने कह दिया कि आपके घर में 50 साल का अपरिपक्व बच्चा है तो वल्लभ ने कहा, बोल दूंगा तो रॉकेट की तरह उछल जाएंगे।

अदार पूनावाला की SII ने सरकारी मंज़ूरी से पहले ही बना लिए थे 20 करोड़ कोरोना वैक्सीन डोज, अगले महीने एक्सपायर हो जाएंगे 5 करोड़ कोविशील्ड

सीरम इंस्टिट्यूट की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की 25 प्रतिशत डोज अगले महीने एक्सपायर होने वाली है। दरअसल अदार पूनावाला ने मंजूरी से पहले ही बड़ी मात्रा में वैक्सीन बना ली थी।

कोरोना टीकाकरण की कवायद: एक खुराक के 250 रुपए ले सकेंगे निजी अस्पताल

देश में एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण करने की तैयारी चल रही है।

कोरोनिल पर बोले बाबा रामदेव- 158 देशों ने दी है मंजूरी, सवाल उठाना टुच्चापन

बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि को कोरोनिल को बेचने के साथ-साथ दिव्य और पतंजलि की बनी 100 से अधिक अन्य औषधियों को भी बेचने की मंजूरी मिली हुई है।

130 देशों के पास नहीं है कोरोना की वैक्सीन, चिंता जताते हुए UN ने कहा- बहुत नाइंसाफी है

कोविड टीकों की पहुंच बेहतर बनाने के लिए ब्रिटेन की ओर से आयोजित वर्चुअल काउंसिल मीटिंग में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सबको टीका उपलब्ध कराने का आह्वान किया।

राजनीति: उद्योग और नवाचार

भारत में आरएंडडी पर जितना खर्च होता है उसमें उद्योग जगत का योगदान काफी कम है, जबकि अमेरिका, इजरायल, चीन सहित विभिन्न देशों में यह काफी अधिक है। इसलिए विकास में शोध एवं नवाचार की भूमिका को प्रभावी बनाने के लिए आरएंडडी पर कुल जीडीपी का दो फीसद खर्च सुनिश्चित करना जरूरी है।

संपादकीय: महामारी में मनोबल

अब कोरोना संक्रमण का रुख तेजी से उतार की तरफ है। इस बीच आए कुछ आंकड़े निस्संदेह उत्साहजनक हैं। करीब चौदह राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों में पिछले चौबीस घंटों में एक भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति नहीं पाया गया।

पीएम मोदी ने किया केविन पीटरसन के ट्वीट का रिप्लाई, कमेंट आया- रिहाना का भी कर दीजिए

केविन पीटरसन का जन्म दक्षिण अफ्रीका में ही हुआ था। हालांकि, वह बाद में इंग्लैंड चले गए। उन्होंने इंग्लैंड क्रिकेट टीम की अगुआई भी की। हालांकि, पीटरसन का भारत की इस तरह तारीफ करना कुछ कट्टरपंथियों और पाकिस्तानियों को नागवार गुजरा था।

कोरोनाः आ रही 1 और वैक्सीन? SII सीईओ को उम्मीद- जून 2021 तक लॉन्च की जा सकती है COVOVAX

देश में अभी चल रहे टीकाकरण अभियान के लिए केंद्र ने ‘कोविडशील्ड’ टीके की एक करोड़ 10 लाख खुराक खरीदी हैं। पूनावाला ने एक ट्वीट में कहा, “नोवावैक्स के साथ कोविड-19 टीके के लिए हमारी साझेदारी ने उत्कृष्ट प्रभावी नतीजे दिए हैं। हमने भारत में परीक्षण शुरू करने के लिए आवेदन किया है।

वैक्सीन पर उठ रहे सवाल, AIIMS के निदेशक बोले- पैंडेमिक के बाद आई ‘इन्फोडेमिक’

अमित शाह ने आज शनिवार को गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि कोरोना टीके पर जो लोग राजनीति कर रहे हैं उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि राजनीति करने के लिए कई दूसरे मंच हैं। आप उन पर आ जाना दो-दो हाथ कर लेंगे।

सरकार ने बताया, पाकिस्तान को नहीं दी कोरोना वैक्सीन, जानें कौन से देश ले रहे भारत से मदद

भारत ने अभी तक पाकिस्तान को कोविड-19 की वैक्सीन नहीं दी है। इस आशय में वहां से कोई डिमांड भी नहीं की गई है। सरकार का कहना है कि भारत ने अपनी वैक्सीन बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार, मालदीव और भूटान को DONATE की है।

कोरोनाः Bharat Biotech की COVAXIN फायदेमंद- Lancet, SII सीईओ ने बताया था ‘पानी जैसा’

लांसेट में यह बताया गया है कि आमतौर पर किसी भी वैक्सीन को लेने से लोगों में गंभीर साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं। लेकिन कोवैक्सीन में ऐसी कोई भी साइड इफेक्ट्स नहीं है। कोवैक्सीन पूरी तरह से मेड इन इंडिया है और इसे भारत बायोटेक ने विकसित किया है।

दुनिया हमसे वैक्सीन मांग रही पर हमारे अपने भ्रम फैला रहे और शक कर रहे हैं: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि टीकाकरण कोरोना के ताबूत में आखिरी कील का काम करेगा।

संपादकीय: सुरक्षा का सवाल

देश में चार दिन पहले शुरू हुए कोरोना टीकाकरण अभियान के दौरान कोवैक्सीन टीका लगवाने को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों के बीच जिस तरह का भय और संशय देखने को मिला, वह चिंता की बात है।

यह पढ़ा क्या?
X