CM Yogi adityanath

‘आजकल आपकी नजर टोपी पर है’ CM योगी से पूछने लगे अमिश देवगन, देखिए क्या मिला जवाब

सीएम बोले, “मैंने कहा कि यह सब दृश्य टेलीविजन के माध्यम से जब बाहर जा रहा था तब लोग हंस रहे थे। लोग कह रहे थे कि सदन में बैठे हुए ये हमारे चुने हुए प्रतिनिधि हैं या ड्रामा पार्टी।”

यूपी के गुंडों को गले लगा रहे और बंगाल में भाषण दे रहे योगी आद‍ित्‍य नाथ- आप सांसद संजय स‍िंह का वार

सांसद ने कहा, “तुमसे उत्तर प्रदेश संभल नहीं रहा है, बंगाल में जाकर फेंक रहे हो। पूरी पार्टी फेंकुओं की हो गई है। ऊपर से नीचे तक।”

हाथरस कांड पर योगी ने सपा पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- आरोपी ही चिपका रहा है रैली के पोस्टर

यूपी की सीएम योगी आदित्यनाथ ने सवाल उठाते हुए कहा, “कल हाथरस में जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई क्या समाजवादी पार्टी का उन अपराधियों से कोई संबंध नहीं है?”

पेट की गर्मी खत्म कर दूंगा, योगी आदित्यनाथ ने कहा पेट दर्द के इलाज का बयान था, माइनॉरिटी वोट पर भी बोले

लव जिहाद कानून के मुद्दे पर योगी ने कहा कि कानून की नजर में सब बराबर है और कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं है।

किसान आंदोलन पर बोले योगी आदित्यनाथ, विदेशी जूठन पर जीने वाले लोग परजीवी, कर रहे गुमराह

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि क्या योगेन्द्र यादव और हन्नान मोल्लाह किसान हैं। ये लोग विघटनकारी गतिविधियों की अगुवाई करते हैं। ये लोग आंदोलनजीवी हैं, परजीवी हैं। 

भारत का नागरिक हज करने जाता है तो उसकी भी पहचान होती है हिंदू, योगी बोले- हिंदू धर्म नहीं, क्यों चिढ़ते हैं?

योगी ने कहा कि अखंड भारत का कोई भी नागरिक जब हज करने या अन्य कारणों से विदेश जाता है तो उसकी पहचान “हिन्दू” के रूप में होती है। योगी ने कहा “हिन्दू, कोई धर्म नहीं एक जीवन पद्धति और संस्कृति है, जबकि सनातन धर्म है। हम सभी को अपनी पहचान पर गर्व है।”

योगी बोले- लाल, नीली टोपी से कोई विधायिका को ड्रामा कंपनी न मान ले, सदन में लगे ठहाके

मुख्यमंत्री ने कहा इससे एक नई परिपाटी शुरू हो गई है। ऐसा तो कभी नहीं होता था। ड्रामा पार्टी में ही हम लोग यह सब देखते थे।

लफ्फाजी का बजट पेश किया है योगी आदित्यनाथ ने, गेहूं-गन्ने का दाम नहीं- बोले संजय सिंह

समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि यह बजट सभी वर्ग को धोखा देने के साथ ही पूंजीपतियों को लाभ देने वाला है।

किसान आंदोलन ने बढ़ाई योगी सरकार की मुश्किल! अब बुलंदशहर महापंचायत में पहुंचे हजारों की तादाद में लोग

उत्तर प्रदेश की 120 सीटों पर जाट मतदाताओं का प्रभाव रहा है। चौधरी चरण सिंह और महेंद्र सिंह टिकैत इन्हीं क्षेत्रों में काफी लोकप्रिय हुआ करते थे।

रिपोर्टर के सवाल पर अखिलेश ने कहा- ‘कोई सलाह नहीं दे सकता अब सरकार बनाऊंगा’, साथ बैठे लोग बजाने लगे ताली

उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। पिछले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज की थी, कांग्रेस-सपा गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा था।

भाजपा जॉइन करने जा रहे श्रीधरन को आदित्यनाथ ने कर दिया था इग्नोर, लखनऊ मेट्रो के उद्घाटन में सबसे किनारे आए थे नजर

लखनऊ मेट्रो परियोजना का उद्घाटन सीएम योगी आदित्यनाथ, राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के राज्यपाल ने किया था.

‘यहां फुकाओगे तो डायरेक्ट जाओगे स्वर्ग’- मंच पर रवि किशन की बात सुन ठहाके मार हंस पड़े CM योगी

गोरखपुर से सांसद रवि किशन अपने संबोधन में कहते हैं, ‘ये जो करोड़ों रुपया फूंका गया है, सोचिये यहां पर आपकी मृत्यु होगी तो डायरेक्ट आप स्वर्ग पहुंचेंगे, यहां जब आप जलाए जाओगे कितना आनंद आएगा यहां जलने में…।’ उनकी इस बात पर सीएम योगी खिलखिलाकर हंस पड़ते हैं।

इतिहास लिखने में हुई नाइंसाफी, हम पुरानी गलतियां सुधार रहे- पटेल से अंबेडकर तक का जिक्र कर बोले PM मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की पांच सौ से ज्यादा रियासतों को एक करने का कठिन कार्य करने वाले सरदार पटेल जी के साथ क्या किया गया, इसे देश का बच्चा भी भली-भांति जानता है।

यूपीः अवैध शराब पकड़ने को पुलिस का छापा, गैंगस्टर ने मार दिया जवान, सरकार बोली- देख लेंगे

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने लखनऊ में बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कासगंज की घटना का संज्ञान लेते हुए दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

पत्नी के छोड़ कर चले जाने के पीछे महंत को मानता था वजह, चाकू घोंप उतार दिया मौत के घाट; आरोपी फरार

पुलिस के अनुसार यह मामला इस्लामनगर थाना इलाके के मोहद्दीनपुर ढक नगला का है जहां मंदिर पर रहने वाले जयलपाल सिंह उर्फ सखी बाबा जिसकी उम्र करीब 50 साल थी उसकी हत्या गाँव के ही 26 वर्षीय युवक रामवीर ने चाकू से हमला करके कर दी।

राजपाट: सियासी उधेड़बुन

केंद्र सरकार का यह महज भ्रम है कि किसान आंदोलन केवल पंजाब और हरियाणा तक ही सीमित है। दिल्ली से सटे यूपी और राजस्थान जैसे राज्यों तक भी दिख रहा है शुरू से ही इसका प्रभाव। अब तो उत्तराखंड में भी सुनाई पड़ रहा है किसानों के असंतोष का स्वर।

किसान आंदोलनः झुकी यूपी सरकार, वापस लिया किसानों का 10 लाख के बॉन्ड वाला नोटिस

इसी मामले में 25 जनवरी को सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने प्रशासन से पूछा कि आखिर किन परिस्थितियों की वजह से किसानों से निजी बॉन्ड की इतनी बड़ी रकम मांगी गई।

यूपी: प्रशासन ने किसानों से मांगे दस लाख तक के बॉन्ड, कोर्ट ने मांगा जवाब; एसडीएम बोले- दिल्ली जैसे हालात होने का डर

इस मामले को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में दायर याचिका में कहा गया कि एसडीएम के आदेशों से किसानों के मूलभूत अधिकारों का भी हनन हुआ, क्योंकि उन्हें घर के बाहर आने की इजाजत नहीं थी और पुलिस ने उनके घर को घेर रखा था।

यह पढ़ा क्या?
X