citizenship bill

CAB के खिलाफ असम में प्रदर्शन तेज, अर्द्धसैनिक बलों के 5000 जवान पूर्वोत्तर रवाना; केंद्र ने J&K से वापस बुलाई पैरामिलिट्री फोर्स!

Citizenship Amendment Bill (CAB): असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध जगह-जगह हो रहा है। लाठीचार्ज में घायल छात्रों ने कहा, ‘‘सर्बानंद सोनोवाल के नेतृत्व में बर्बर सरकार है। जब तक कैब वापस नहीं लिया जाता है तब तक हम किसी दबाव में नहीं आएंगे।’’

CAB पर गिरिराज ने बोला ओवैसी पर हमला, कहा जिन्ना की राह पर चलकर मुसलमानों में फैला रहे भ्रम

Citizenship Amendment Bill 20019 : केंद्रींय मंत्री ने औवैसी की तुलना मोहम्मद अली जिन्ना से करते हुए कहा कि वह भारत के मुसलमानों को भ्रमित कर रहे है। साथ ही केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर पाकिस्तान को उपदेश नहीं देना चाहिए भारत के मुसलमान खुश हैं।

Citizenship Amendment bill: नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में उतरे 1000 भारतीय वैज्ञानिक व स्कॉलर्स, बोले-संविधान की मूल भावना के खिलाफ है सीएबी

Citizenship Amendment bill: इस ऑनलाइन अभियान पर 24 घंटे के भीतर ही करीब 1000 लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। इसमें जवाहारलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से लेकर टोरंटो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक और स्कॉलर्स शामिल हैं।

डिबेट में बीजेपी प्रवक्ता से बोले मुस्लिम नेता- आप हिंदुओं को धोखा दे रहे हो, एकंर बोली- सही बात

सिटीजन अमेंडमेंट बिल के मुद्दे पर आज तक न्यूज चैनल के लाइव डिबेट कार्यक्रम ‘हल्ला बोल’ में एआईएमआईएम नेता आसिम वकार और बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी के बीच जमकर बहस हुई।

नागरिक संशोधन बिल पर फूटे गुस्से के बाद बीजेपी को एक और झटका, अगुआई वाले गठबंधन से पार्टी ने छुड़ाया दामन

यूडीपी ने NEDA का साथ छोड़ने का ऐलान रविवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के असम में किए गए ऐलान के बाद किया।

नीतीश के बाद उद्धव भी देंगे बीजेपी को झटका, राज्यसभा में नागरिकता बिल का विरोध करेगी शिवसेना

बिल का विरोध करते हुए संजय राउत ने कहा, ‘यह बिल राजनीतिक है, जिसका उद्देश्य भाजपा के चुनावी हितों की सेवा करना है।’ पढ़े प्रदीप कौशल की रिपोर्ट-

नागरिकता बिल: मिजोरम के युवाओं ने जलाए मोदी, राजनाथ के पुतले, दी चेतावनी- उठा लेंगे हथियार

करीब 30 हजार की संख्या में आए लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह का पुतला फूंका। वहीं, मार्च के दौरान “हेलो चाइना, बाय बाय इंडिया” लिखे हुए कई पोस्टर भी देखे गए।

सिटिजनशिप बिल का विरोध: साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार विजेता और पत्रकार पर राजद्रोह का मुकदमा

असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच गुरुवार को पुलिस ने असमी साहित्यकार और साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता डॉक्टर हिरेन गोहेन, वरिष्ठ पत्रकार मंजीत महंत और केएमएसएस नेता अखिल गोगोई के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है।

ये पढ़ा क्या?
X