Chinese smartphones in India

सैमसंग को मिला चीनी कंपनिय़ों के खिलाफ माहौल का फायदा! बनी नंबर वन, Xiaomi को करारा झटका

बीते कुछ महीनों से चीनी कंपनियों के खिलाफ बने माहौल का फायदा सीधे तौर पर दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग को मिला है। इसके चलते सैमसंग बीते सालों में पहली बार स्मार्टफोन की सेल के मामले में पहले नंबर पर पहुंच गई है।

चीन के विरोध में खूब बना माहौल, पर चीनी स्मार्टफोन्स की मांग और बढ़ी, टॉप 5 में हैं 4 कंपनियां

चीन की प्रमुख 4 कंपनियों का कुल मार्केट शेयर 66.4 फीसदी है, जो बीते साल इसी तिमाही में 60.9 फीसदी था। 2017 से ही भारतीय बाजार में दबदबा कायम रखने वाली कंपनी Xiaomi अब भी 29.4 पर्सेंट हिस्सेदारी के साथ पहले नंबर पर है।

गलवान घाटी में फ़ौजियों की शहादत, बायकॉट के आह्वान के बाद भी चीन से आता रहा सामान, जुलाई में जून से भी ज्यादा आयात

जून में चीन से 4.8 अरब डॉलर के उत्पादों का इंपोर्ट हुआ है, जबकि जुलाई में 5.6 बिलियन डॉलर के उत्पादों को आयात किया गया है। इस आंकड़े से साफ है कि भारत चीन से सामान के आयात में एक बार फिर से लॉकडाउन के पहले के लेवल पर पहुंचने के करीब है।

स्मार्टफोन की आत्मनिर्भरता में लगेगा एक दशक का वक्त, जानें- क्यों पीछे हैं भारतीय कंपनियां

भारतीय कंपनियों के लिए कम दाम में स्मार्टफोन तैयार करना मुश्किल काम है। स्मार्टफोन में लगने वाले प्रिंटेड सर्किट बोर्ड्स यानी PCB, चिपसेट्स, डिस्प्ले और कैमरा मॉड्यूल्स को भारतीय कंपनियों को आयात करना पड़ता है।

चीनी सामान के खिलाफ देश में माहौल, पर एक तिहाई भारतीय ज्यादा कीमत चुकाने को तैयार नहीं: सर्वे

सर्वे में 90 पर्सेंट भारतीयों ने चीन में बने सामान के बहिष्कार की बात कही, लेकिन 67 फीसदी लोगों ने ही यह माना कि वे इसके लिए अधिक कीमत चुकाने को तैयार हैं।

माहौल है खिलाफ पर अब भी बाजार चीनी स्मार्टफोन कंपनियों के साथ, जानें- क्यों भारतीय कंपनियां हैं रेस से बाहर

जून तिमाही में सैमसंग की स्मार्टफोन मार्केट में 26.3 पर्सेंट की हिस्सेदारी रही है, जबकि मार्च तिमाही में यह आंकड़ा 15.6 पर्सेंट ही था। शाओमी 29.4 पर्सेंट हिस्सेदारी के साथ पहले नंबर पर रही है और वीवो की भी 17.5 फीसदी की हिस्सेदारी रही है।

Vivo के बाद कई चीनी कंपनियां विज्ञापन बजट में कर रहीं कटौती, भारत को लगेगा 10,000 करोड़ का झटका

ऐड मार्केट के जानकारों का कहना है कि चीनी कंपनियों के बिना मार्केट में मुश्किल होगी। चीनी ब्रांड्स का भारत में साल भर में करीब 10,000 करोड़ रुपये का विज्ञापन का बजट रहा है। बीते साल भारत में विज्ञापन का मार्केट 80,000 करोड़ रुपये का था।

Xiaomi के इस फोन पर मिल रही है भारी छूट

शियामी ने अपने भारतीय ग्राहकों के लिए पोको एफ1 के 128 जीबी वाले वैरिएंट की कीमत में 2000 रुपए की भारी कटौती की है।

भारत में नहीं आएंगे ‘मेड इन चाइना’ मोबाइल और मिल्क प्रोडक्ट, लगाया गया बैन

भारत ने चीन से दूध और दुग्ध उत्पादों के साथ कुछ मोबाइल फोन समेत कई उत्पादों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है क्योंकि निम्न स्तरीय या सुरक्षा मानकों का पालन नहीं करते पाया गया।

IPL 2020 LIVE
X