china ladakh latest news

फौजियों का हाल जानने लेह जाना चाहते थे सांसद, रक्षा मंत्रालय बोला- नहीं

बताया गया है कि पीएसी पहले 28 और 29 अक्टूबर को लद्दाख जाना चाहती थी, पर पैनल के कुछ सासंदों ने बिहार चुनाव के मद्देनजर दौरे की तारीख बदलने पर जोर दिया था।

तनातनी के बीच LAC पर भारत ने तैनात किए टैंक व सैन्य वाहन, -40 डिग्री सेल्सियस तक के हालात में दुश्मन को दे सकते हैं जवाब

एलएसी के पास के क्षेत्र में भारत और चीन के लगभग 50,000 सैनिक तैनात हैं। इसके अतिरिक्त टैंक, तोपखाने और हवाई हमले के लिए फाइटर प्लेन और जरूरी साजो सामान उपलब्ध है।

खुलासा: भारत-चीन के मंत्रियों की बातचीत से पहले भी हुई LAC पर गोलीबारी की घटना, पैंगोंग सो में हुई थी 200 राउंड फायरिंग

बताया गया है कि मॉस्को में एस जयशंकर और उनके समकक्ष वांग यी की बैठक से पहले ही पैंगोंग सो में फिंगर-3 और फिंगर-4 के बीच फायरिंग की घटना हुई थी।

चीन की साजिश नाकाम! दो दिन में LAC की दो लोकेशन पर टुकड़ियां भेजकर भारत ने रोकी ड्रैगन की घुसपैठ

चीन की तरफ से लद्दाख स्थित एलएसी पर स्टेटस क्वो यानी यथास्थिति बदलने की कोशिश जारी है, हालांकि भारतीय सेना ने उसकी हरकतों पर पैनी नजर बना रखी है।

संपादकीय: सख्त संदेश

अब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी स्पष्ट कर दिया है कि दुनिया की कोई भी शक्ति भारत की एक इंच भी जमीन नहीं ले सकती। यह चीन की हाल की हरकतों के लिहाज से उसके लिए साफ संदेश होना चाहिए कि अगर वह गैरजरूरी तरीके से सीमा क्षेत्र में अतिक्रमण की कोशिश करेगा तो उसे उचित जवाब भी दिया जाएगा।

‘शी जिनपिंग बंकर में बैठे हैं नरेंद्र मोदी सरहद पर’, पीएम के लद्दाख पहुंचने पर सोशल मीडिया पर लोग बांध रहे तारीफों के पुल

पीएम मोदी शुक्रवार सुबह (3 जुलाई) ही लद्दाख के नीमू पहुंच गए, उनके साथ सीडीएस जनरल बिपिन रावत और आर्मी चीफ एमएम नरवणे मौजूद रहे।

सैन्य स्तर पर लगातार दूसरी बार हुई 12 घंटे की मैराथन बैठक, पर बातचीत का असर नहीं? लंबे मुकाबले के लिए सेना कर रही खास तैयारी

भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव बढ़ने के बाद से अब तक तीन बार कोर कमांडर स्तर की बैठक हुई है।

चीन से मुकाबले को भारत ने पूर्वी लद्दाख में तैनात किए एयर डिफेंस सिस्टम, दुश्मन के एयरक्राफ्ट पर लगेगा सेना का अचूक निशाना

भारत ने अपने एयर डिफेंस सिस्टम उन संवेदनशील सेक्टर में लगाए हैं, जहां गलवान घाटी में हुई मुठभेड़ के बाद चीन की हरकतें बढ़ी हैं।

LAC विवाद: चीन अड़ा, बातचीत से बनती नहीं दिख रही बात, सीमा पर तैयारी मज़बूत कर रहा भारत, सेना को भी दी छूट

भारत और चीन के बीच अब लद्दाख से लगी सीमा पर तनाव शुरू हुए दो महीने का समय बीत चुका है, इसके बावजूद चीन की तरफ से मामला सुलझने के संकेत नहीं मिले हैं।

गलवान में खूनी झड़प से एक महीने पहले भी आमने-सामने आ गई थीं भारत-चीन की सेनाएं; चीनी राजदूत का खुलासा, विदेश मंत्रालय भी माना

भारतीय और चीनी सेनाओं के सैनिकों के बीच 15-16 जून की दरमियानी रात टकराव हुआ था, तब कहा जा रहा था कि चीनी सेना ने अचानक भारत पर हमला किया, जिसका बिहार रेजिमेंट की तरफ से मुहंतोड़ जवाब दिया गया।

‘नरेंद्र मोदी नहीं, सरेंडर मोदी हैं ये’, लद्दाख में चीन के खिलाफ जमीन के समर्पण के आरोपों के साथ राहुल गांधी का PM पर हमला

पीएम मोदी ने शुक्रवार शाम को चीन से तनाव पर ऑल-पार्टी मीटिंग की थी, इसमें उन्होंने कहा था कि भारत का कोई भी हिस्सा किसी के कब्जे में नहीं है, राहुल इसको लेकर ही निशाना साध रहे हैं।

भारत-चीन के बीच दूसरी बार संघर्ष भड़कने की आशंका, सीमा सुरक्षा के लिए फ्रंटलाइन पर भेजे जा सकते हैं ITBP के दो हजार जवान

भारत-चीन सीमा पर जवानों की संख्या बढ़ाकर बॉर्डर पर आईटीबीपी को मजबूत करने के साथ निगरानी बढ़ाने पर जोर देना चाहती है सरकार।

भारत-चीन हिंसक झड़प: भारत ने भी मारे हमारे जवान, ग्लोबल टाइम्स के संपादक का दावा, पर नहीं बताई संख्या

India China Ladakh Border Dispute: साल 1975 के बाद यह पहला मौका है जब चीनी सेना के साथ भारतीय सैनिकों की हिंसक झड़प हुई है। 45 साल बाद चीनी बॉर्डर पर भारतीय सैनिक शहीद हुए हैं।

IPL 2020 LIVE
X