children

रिपोर्ट: दुनिया के एक तिहाई कमजोर और नाटे बच्‍चे भारत से, कुपोषण का गंभीर खतरा

देश में तकरीबन साढ़े 4 करोड़ बच्चे बेहद कमजोर और नाटे हैं। ग्लोबल न्यूट्रिशन की रिपोर्ट, 2018 के मुताबिक दुनिया के कुल कमजोर बच्चों में से एक तिहाई भारत में रहते हैं। दुनिया भर में कुल कमजोर बच्चों की संख्या 150.8 मिलियन (क़रीब 15 करोड़ 8 लाख) है।

नाज खान का लेख : खेलकूद की जगह

महानगरों में जैसे-जैसे सुख-सुविधाएं बढ़ी हैं वैसे-वैसे बच्चों के लिए खेलकूद के रकबे घटते चले गए। बनिस्बतन गांवों में आज भी भागने-दौड़ने और सुकून के दो पल गुजारने की गुंजाइश ज्यादा है। शहरों की भीड़भाड़ और संकरी जगहों ने सबसे ज्यादा नुकसान बच्चों का किया है। बच्चों की दिनचर्या कॉपी-किताबों या कंप्यूटर और वीडियो गेमों तक सिमटती जा रही है। बच्चों का मानसिक और शारीरिक विकास ऐसे में हो तो कैसे ?

पानी के लिए रोज बलात्‍कार का जोखिम उठाती हैं करीब दो करोड़ महिलाएं

एक शोध में अफ्रीकी देशों में पानी को लेकर गंभीर होते हालातों पर रोशनी डाली गई है। शोध के मुताबिक महाद्वीप में पानी की समस्‍या भयावह है।

मानव तस्करी में बंगाल की होती हैं आधी लड़कियां: CRY

भारत में होने वाली मानव तस्करी में करीब 42 फीसद नाबालिग बच्चियां पश्चिम बंगाल की होती हैं। क्राई की ओर से मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

मातृत्व अधिकार के आईने में

संगठित क्षेत्र में ही महिलाओं को मातृत्व हक मिल पाते हैं; यानी गर्भावस्था के दौरान और प्रसव के बाद वेतन के साथ अवकाश, स्वास्थ्य और सुरक्षित प्रसव की सेवाएं, कार्यस्थल पर शिशु की देखभाल की व्यवस्था, आदि। अलबत्ता इन सुविधाओं की बाबत शिकायतें भी काफी हैं। पर असंगठित क्षेत्र की महिलाओं के मातृत्व हकों का क्या?

सपनों से परे

मां-बाप धन कमाने की मशीन बन गए हैं। बच्चों को शीर्ष पर पहुंचाने की चाहत में वे इस बात से बेखबर हैं कि उनके बच्चे के पैरों के नीचे से जमीन खिसक रही है।

दूषित खान-पान से 12 दिनों में 11 बच्चों की मौत के बाद हरकत में आई वसुंधरा सरकार

जयपुर के सरकारी पुर्नवास केंद्र में बीते 12 दिनों के दौरान 11 विमंदित बच्चों की लगातार मौत होने के बाद सरकार शुक्रवार को हरकत में आई। यह माना जा रहा है कि दूषित पानी और खाने से बच्चों की मौत हुई है।

तकनीकि के दौर में मारे-मारे फिर रहे डॉक्टर, इंजीनियर और एमबीए पासः लालू यादव

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने पेरेंट्स को तरजीह दी कि वे अपने बच्चों को मोबइल फोन से दूर रखें। क्योंकि आज कल के बच्चे मोबाइल की लत का हद से ज्यादा शिकार हो रहे हैं, जो उनके करिअर के लिए ठीक नहीं है।

ट्रेन में महंगा होगा बच्चों का सफर करना, 50% किराया भरने पर नहीं मिलेगी कनफर्म सीट

अब तक ट्रेन में बच्चों के आधा किराया देने पर बच्चों को सीट मिल जाती थी, लेकिन हाल ही रेल मंत्रालय की ओऱ से 5 से 11 साल तक के बच्चों के किराए के नियम में बदलाव किया गया है।

बचपन : भय के माहौल में कोमल मन

हमारे समाज में बच्चों को शक्ति और सत्ता से नियंत्रित करने की परंपरा और उसकी स्वीकृति बड़े पैमाने पर और बहुत पहले से रही है। अपने विचारो को बहुत ज्यादा बदल नहीं पाए हैं हम…

इस बार बच्चे शिक्षक और मैं छात्रः अमिताभ बच्चन

बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन का कहना है कि युवाओं को बच्चों से मासूमियत, ईमानदारी और सच्चाई सीखनी चाहिए जो देश का भविष्य हैं।