chandrayaan 2 isro

चंद्रयान-2 मिशन अभी खत्म नहीं! ISRO चीफ बोले- दोबारा करेंगे विक्रम की लैंडिंग की कोशिश

उन्होंने चंद्रयान-2 का जिक्र करते हुए कहा कि यह तो सच है कि हम विक्रम लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग नहीं करा पाए लेकिन लेकिन पूरा सिस्टम चांद की सतह से महज 300 मीटर की दूरी पर पूरी तरह से काम कर रहा था।

Chandrayaan 2 के IIRS ने कैद की चांद की सतह की पहली चमकीली तस्वीर, ISRO ने की जारी

First Illuminated Image of the Lunar Surface acquired by #Chandrayaan2’s IIRS Payload News & Details in Hindi: बता दें क‍ि छह स‍ितंबर को जब इसरो ने चंद्रयान 2 को लॉन्‍च क‍िया था, तभी व‍िक्रम का संपर्क इससे टूट गया था। चांद की सतह के काफी करीब पहुंच कर व‍िक्रम लापता हो गया।

Chandrayaan 2 Vikram Lander Updates: NASA का दावा विक्रम की हुई थी हार्ड लैंडिंग,जारी की तस्वीरें

Chandrayaan 2 Vikram Lander Latest News Updates, NASA ISRO Chandrayaan 2 Vikram Lander Images Latest News Update: एलआरओ जब अक्टूबर में चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव के पास से गुजरेगा तो उस समय उपयुक्त रोशनी रहने का अनुमान है। नासा एक बार फिर उस समय लैंडर का पता लगाने और उसकी तस्वीर लेने का प्रयास करेगा।

Chandrayaan 2: विक्रम’ लैंडर से नहीं हो पाया संपर्क, इसरो चीफ बोले- चंद्रयान-2 मिशन ने पूरा किया 98 फीसदी लक्ष्य

Chandrayaan 2 Vikram Lander: चंद्रयान-2 मिशन ने 98 फीसदी लक्ष्य हासिल किया, इसरो के वैज्ञानिक लैंडर ‘विक्रम’ के साथ संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं।

दिसम्बर 2021 तक हिन्दुस्तान अंतरिक्ष में भेजेगा इंसान, बोले- इसरो प्रमुख

सिवन ने आईआईटी, भुवनेश्वर के आंठवे दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘दिसम्बर 2020 तक हमारे पास मानव अंतरिक्ष विमान का पहला मानव रहित मिशन होगा। हमने दूसरे मानव रहित मानव अंतरिक्ष विमान का लक्ष्य जुलाई 2021 तक रखा है।’’

Chandrayaan 2: नासा ने चंद्रयान-2 के लैंडिंग स्थल की तस्वीरें खींची, लेकिन अबतक नहीं हुआ कोई संपर्क

Chandrayaan 2 Vikram Lander: नासा के लूनर रिकॉनिसंस ऑर्बिटर (एलआरओ) अंतरिक्षयान ने 17 सितंबर को चंद्रमा के अनछुए दक्षिणी ध्रुव के पास से गुजरने के दौरान वहां की कई तस्वीरें ली, जहां विक्रम ने उतरने का प्रयास किया था।

चंद्रयान-2: NASA ने खींची के लैंडिंग स्थल की लेटेस्ट तस्वीरें, 21 सितंबर को Vikram Lander से संपर्क की होगी कोशिश

Chandrayaan-2, Vikram Lander, NASA, ISRO: नासा के लूनर रिकॉनिसंस ऑर्बिटर (एलआरओ) अंतरिक्षयान ने 17 सितंबर को चंद्रमा के अनछुए दक्षिणी ध्रुव के पास से गुजरने के दौरान वहां की कई तस्वीरें ली, जहां विक्रम ने उतरने का प्रयास किया था ।

Chandrayaan 2 Vikram Lander: ISRO बोला- लैंडर से कनेक्शन टूटने की वजहों के विश्लेषण में जुटी है कमेटी

Chandrayaan 2 Vikram Lander Latest News Updates, ISRO Chandrayaan 2 Moon Mission Vikram Lander Latest News Updates: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा भी विक्रम से संपर्क करने में लगा है लेकिन नासा का ऑर्बिटर भी विक्रम की तस्वीर लेने में विफल रहा है।

UP: प्रयागराज में तिरंगा लेकर पुल पर चढ़ गया युवक, बोला- ISRO का विक्रम से संपर्क होने तक नहीं उतरुंगा नीचे

ISRO Chandrayaan-2 Vikram Lander, Prayagraj News: ब्रिज पर चढ़े युवक का कहना था कि जब तक इसरो विक्रम से संपर्क स्थापित नहीं कर लेता, वह नीचे नहीं उतरेगा। हालांकि कड़ी मशक्क्त के बाद 2 दिन बाद उसे नीचे उतारा जा सका।

Chandrayaan 2: तो खत्म हो रही विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद? जानें क्या है वजह

Chandrayaan 2 : लैंडर को चांद की सतह पर ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ के लिए डिजाइन किया गया था। इसके भीतर बंद रोवर का जीवनकाल एक चंद्र दिवस यानी कि धरती के 14 दिन के बराबर है।

Chandrayaan 2: ‘विक्रम’ की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ अंतिम क्षणों में कैसे बदल गई ‘हार्ड लैंडिंग’ में? जानिए क्या कहता है डेटा

Chandrayaan 2: विक्रम लैंडर से संपर्क करने के लिए अब अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) भी इसरो की मदद कर रही है। नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी विक्रम को रेडियो सिग्नल भेज रही है।

Chandrayaan 2: इसरो की उम्मीदें बरकरार, के.सिवन बोले- ऑर्बिटर ‘‘बेहतर परिणाम’’ हासिल करने में सक्षम

Chandrayaan 2: ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ के दौरान आखिरी पलों में चंद्रमा की सतह से 2.1 किमी ऊपर इसरो का विक्रम से संपर्क टूट गया था। इसरो ऑर्बिटर की मदद से लगातार विक्रम को खोजने की मदद कर रहा है।

Chandrayaan-2: ‘Vikram Lander तो बिल्कुल दिशा पटानी की तरह कर रहा है’, जानिए क्यूं वायरल हो रहा ये Tweet

Chandrayaan-2, Vikram Lander, ISRO, Disha Patani Tweet Viral: दिशा पटानी के नाम को ही एक यूजर ने तोड़कर लैंडर विक्रम के साथ जोड़कर ट्वीट किया है। इसका सीधा मतलब है लैंडर विक्रम की दिशा पता नहीं (disha patani)

ISRO Chandrayaan 2 Live Updates: विक्रम को बचाने के लिए इसरो के पास महज 10 दिन का वक्त

ISRO Chandrayaan 2 Vikram Lander Live Updates: रुस के मना करने के बाद इसरो वैज्ञानिकों ने फैसला किया कि वे खुद अपना लैंडर और रोवर बनाएंगे।

Chandrayaan-2: 10 साल के बच्चे का खत पढ़ भावुक हुए ISRO के वैज्ञानिक, लिखा- इतनी जल्दी हार नहीं मानते

Chandrayaan-2: 10 साल के बच्चे ने अपने खत में लिखा कि इतनी जल्दी निराश होने की जरूरत नहीं है। हम चांद पर जरूर पहुंचेंगे। बता दें कि चंद्रयान-2 को चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग कराने में इसरो फेल हो गया था।

Chandrayaan 2: तो इस वजह से चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ की चंद्रमा पर नहीं हो सकी होगी ‘सॉफ्ट लैंडिंग’

गौरतलब है कि इससे पहले इसरो चीफ के सिवन ने कहा था कि चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर 7 साल तक काम कर सकता है। शिवन ने बताया कि विक्रम लैंडर से दोबारा संपर्क बनाने के लिए प्रयास जारी है। हम इसके लिए लगातार 14 दिन तक प्रयास करेंगे।

Chandrayaan-2: चन्द्रमा पर विक्रम लैंडर की लोकेशन पता चली, संपर्क साधने में जुटा है ISRO

Chandrayaan-2 Vikram Lander ISRO Chief K Sivan: सिवन ने बताया कि ऑर्बिटर ने लैंडर की थर्मल इमेज क्लिक की हैं। हालांकि अभी कोई कम्युनिकेशन स्थापित नहीं हो पाया है, हम लगातार कनेक्ट करने की कोशिश कर रहे हैं।

Chandrayaan 2: इंसानी मिशन में रिस्क की कोई गुंजाइश नहीं, खतरे में भारत का ‘गगनयान’ प्रोजेक्ट!

गगनयान की समयसीमा खत्म होने में महज तीन साल का समय शेष है। अभी तक इसके लिए अंतरिक्ष में जाने वाले संभावित लोगों का चयन नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि एक महिला समेत 10 लोगों को को इस मिशन के लिए चुना जाएगा।