chandra grahan

चंद्र ग्रहण के बुरे प्रभावों से बचने के लिए क्या उपाय किये जाते हैं, जानिए

ग्रहण काल में स्पर्श किए हुए वस्त्र आदि की शुद्धि के लिए उसे बाद में धो देना चाहिए तथा स्वयं भी वस्त्रसहित स्नान करना चाहिए। सूर्य या चन्द्र ग्रहण पूरा होने पर उसका शुद्ध बिम्ब देखकर ही भोजन करना चाहिए।

चंद्र ग्रहण से जुड़ी जरूरी जानकारी, जिन्हें आप सभी को जानना है जरूरी

चन्द्रग्रहण उस घटना को कहते हैं जब चन्द्रमा और सूर्य के बीच में धरती आ जाती है और धरती की पूर्ण या आंशिक छाया चांद पर पड़ती है। यह ग्रहण 5 जून को रात 11.15 बजे शुरू होगा और 6 जून को रात 2.34 बजे तक रहेगा।

शुरू हुआ उपच्छाया ग्रहण, ऐसे देख सकते हैं ग्रहण का खूबसूरत नजारा

विशेषज्ञों के अनुसार, पूर्ण चंद्र ग्रहण को नंगी आंखों से देखना सुरक्षित होता है। ऐसा करने से आंखों को किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता है।

चंद्र ग्रहण के दौरान प्रेग्नेंट महिलाएं रखें इन बातों का ध्यान, लापरवाही हो सकती है नुकसानदायक

किसी भी तरह का ग्रहण हो वह गर्भवती महिलाओं के लिए शुभ नहीं माना जाता है। इसकी छाया गर्भ में पल रहे शिशु पर नकारात्मक प्रभाव डालती हैं। ऐसे में इन बातों का ध्यान रखें-

आखिर चंद्र ग्रहण के दौरान खाने से क्यों बचना चाहिए, किन बातों का रखें ध्यान, जानें…

Chandra Grahan Lunar Eclipse June 2020: विशेषज्ञों के अनुसार, ग्रहण के दौरान निकलने वाला अल्ट्रावॉयलेट रेज खाने को दूषित और जहरीला बना देता है जिसके कारण स्वास्थ्य प्रभावित होता है।

ग्रहण के दौरान खाने से क्या होते हैं नुकसान, जानिए इसके पीछे का कारण

यह माना जाता है कि चंद्र ग्रहण के दौरान भोजन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और यह केवल इसलिए है क्योंकि यह ग्रहण मजबूत अल्ट्रावॉयलेट रेज के उत्सर्जन की ओर जाता है जो खाने को जहर में बदल देता है।

IPL 2020 LIVE
X