capitalist

धूमिल होती चमक

भारत जैसे बड़े बाजार में अमेरिकी पूंजीसाधकों की नैया भाजपा सरकार के हाथों पार होने की जो उम्मीद बंधी थी, वह बिहार विधानसभा चुनाव परिणामों के तूफान से ही डगमगा चुकी थी।