CABE

परीक्षा का प्रश्न

सरकार एक बार फिर स्कूली शिक्षा प्रणाली में बदलाव करना चाहती है। शिक्षा से संबंधित केंद्रीय सलाहकार बोर्ड की बैठक में आठवीं कक्षा तक बच्चों को फेल न करने का नियम समाप्त करने पर सहमति बनी है।

8वीं तक नहीं होगा कोई फेल, 10वीं में हो सकती है बोर्ड की वापसी

शिक्षा पर उच्चतम सलाहकार निकाय की बुधवार को दिन भर हुई बैठक में पुनर्विचार किया गया कि कक्षा आठ तक किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जाए और दसवीं में फिर से बोर्ड की परीक्षा लागू हो।

परेश रावल की पत्नी स्वरूप संपत सीएबीई की सदस्य मनोनीत

भाजपा से संबद्ध संस्था की निदेशक और पार्टी के सांसद की पत्नी को केंद्रीय शिक्षा सलाहकार बोर्ड (सीएबीई) में मनोनीत किया गया है। सीएबीई देश में शिक्षा के मामले में सर्वोच्च सलाहकार इकाई है।

जस्‍ट नाउ
X