BJP

लॉकडाउन 4.0 में क्रिकेट खेलने हरियाणा पहुंचे दिल्ली BJP चीफ मनोज तिवारी, लोग बोले- देश की फिक्र छोड़ ये मार रहे मजे

मनोज तिवारी के कहने पर कार्यक्रम के आयोजकों ने उनके लिए जर्सी का इंतजाम करवाया। इसके बाद वे हेलमेट और पैड लगाकर क्रीज पर बल्लेबाजी के लिए उतर गए।

‘PM Cares Fund में एक ढेला दिया नहीं और सवाल दाग रहे हैं?’, कांग्रेसी पर शो में भड़के BJP प्रवक्ता, मिला जवाब- क्या गलत है…

बकौल पात्रा, “कांग्रेस इतने बड़े कोरोना काल में एक बार भी सकारात्मक विषय लेकर आए? राहुल गांधी ने लॉकडाउन को गैरजरूरी बताया। सोनिया गांधी ने कहा कि इसे लेकर तैयारी नहीं हुई थी। पूरी पार्टी की ओर से कई तरह के सवाल हुए। क्या ऐसे संकट काल में यह जिम्मेदाराना रवैया है?”

…जब लोकल की वकालत करते अपनी घड़ी खोल कर दिखाने लगे नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री ने इसी में आगे जोड़ते हुए कहा- हमारे पास अच्छी खासी क्षमता है। ऐसे में हमें इस पर काम करने और योजना बनाने की जरूरत है कि कैसे और रोजगार क्षमता ग्रामीण, आदिवासी और कृषि-वन क्षेत्रों में पैदा की जाए।

कोरोना की जंग में बीजेपी बनाम विपक्ष: यूपी में 20 कांग्रेसियों पर केस दर्ज, तो महाराष्ट्र में बीजेपी नेता पर FIR,सोनिया ने बुलाई बैठक

इन लोगों पर लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप है। सेक्टर-39 के थाने में यह एफआईआर दर्ज की गई है। आरोप है कि कांग्रेस के नेता देर रात तक बसों के पास ही जमा रहे और लॉकडाउन नियमों का उल्लंघन कर रहे थे।

ट्विटर पर न तो BJP और न ही PM मोदी को फॉलो करते हैं RSS प्रमुख मोहन भागवत, जानिये…

मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) के फॉलोअर्स की बात करें तो इस सूची में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, स्मृति इरानी, रवि शंकर प्रसाद, अनुराग ठाकुर जैसे बीजेपी के तमाम नेता शामिल हैं।

‘हम लड़ेंगे’, मजदूरों-श्रम कानून को लेकर केंद्र पर बरसे RSS से जुड़े संगठन के नेता, बोले- श्रमिकों को मारोगे भी, फिर रोने भी न दोगे

संगठन के नेता ने कहा है कि ये तो वही बात हुई कि पहले आप (सरकार) श्रमिकों को मारेंगे, फिर उन्हें रोने भी नहीं देंगे।

BJP बोली- 6 साल, बेमिसाल…लोग एक-एक कर गिनाने लगे बुरा हाल

भाजपा के यह ट्वीट करते ही यूजर्स नाराज़ हो गए और एक-एक कर उनके बुरे हाल गिनने लगे। बॉलीवुड से लेकर पूर्व छात्र नेताओं तक सभी ने उनके इस ट्वीट की आलोचना की।

COVID-19 काल में निजीकरण की ओर बढ़ी नरेंद्र मोदी सरकार, RSS से जुड़े संगठन BMS ने किया विरोध

बीएमएस ने दावा किया कि कर्मचारियों के लिए निजीकरण का मतलब है कि बड़े स्तर पर नौकरियों का जाना, कम गुणवत्ता वाली नौकरियां पैदा होंगी और सेक्टर्स में सिर्फ मुनाफा कमाना और लोगों का शोषण करना ही नियम बनकर रह जाएगा।

महाराष्ट्र BJP पर बरसी Shivsena, पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह से है खुश; की प्रशंसा

सामना ने लिखा, ‘‘मोदी और अमित शाह ने राज्य में अस्थिरता की अनुमति नहीं दी। मुख्यमंत्री को निर्वाचित नहीं होने देना राजनीतिक रणनीति के तौर पर अच्छा हो सकता है लेकिन ऐसी राजनीति के बारे में तब सोचना जब राज्य कोरोना वायरस की महामारी से लड़ रहा है, ठीक नहीं है।

बीजेपी प्रवक्ता बोले मजदूरों के पलायन के पीछे विपक्ष की साजिश, कांग्रेसी नेता बोले- अच्छा किया पाकिस्तान का हाथ नहीं बताया

बीजेपी प्रवक्ता केके शर्मा और कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह के बीच इस बात को लेकर ही बहस हुई। केके शर्मा ने आरोप लगाया कि मजदूरों का एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजने के पीछे कांग्रेस की साजिश है।

आज बर्तन मांज रहे हैं, लॉकडाउन के बाद भी करते राहिएगा- स्मृति ईरानी की पुरुषों से अपील

वह आगे बोलीं- मां होने के नाते मैं कहूंगी कि आप लोग इसी तरह घरों में इसी तरह मदद करते रहिएगा। आज जो भी मां और गृहिणी आपको सुन रही हैं, वे भी परिवार के भाइयों और बेटों से उम्मीद रखती हैं कि आज तो आप सब काम कर रहे हैं।

‘ये एक्सिडेंट नहीं साजिश है, CBI करे जांच’, पालघर लिंचिंग के वकील की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल

बताया जा रहा है कि यह हादसा मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर सुबह तकरीबन 10:30 बजे हुआ, जब वह गाड़ी खुद चला रहे थे।

कोरोना संकट में राजनीति! ममता सरकार पर बीजेपी का आरोप- ट्रेनों को जाने का इजाजत नहीं दे रहीं दीदी

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय के पत्र लिखने और केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल के फोन करने के बावजूद ममता सरकार इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

आडवाणी से हार के बाद राजेश खन्ना ने काउंटिंग सेंटर पर काट दिया था बवाल, जानिये- पूरा किस्सा

उस चुनाव में लालकृष्ण आडवाणी ने राजेश खन्ना को 1589 वोटों से हरा दिया था। आडवाणी को 93,662 वोट मिले थे, जबकि राजेश खन्ना को 92,073 मत हासिल हुए थे।

महाराष्ट्र: Congress ने चुनावी मैदान से हटाया कैंडिडेट, CM उद्धव ठाकरे चुने जाएंगे निर्विरोध, BJP भी बना रही ऐसी रणनीति

सूबे के मुख्यमंत्री और Shivsena चीफ उद्धव ठाकरे निर्विरोध विधान परिषद के सदस्य चुने जाएंगे। इसी बीच, BJP भी चुनावी रणनीति तैयार कर रही है।

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनावः BJP की कैंडिडेट लिस्ट में पंकजा मुंडे-एकनाथ खड़से के नाम नहीं, पर पूर्व NCP सांसद को मौका

पंकजा, चचेरे भाई और राकांपा नेता धनंजय मुंडे से परली से 2019 का विधानसभा चुनाव हार गई थी, जबकि खडसे को उनकी पार्टी ने विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं दिया था। उन्होंने हाल में घोषणा की थी कि वह 21 मई का चुनाव लड़ना चाहते हैं।

Maharashtra MLC Election 2020: बीजेपी ने महाराष्ट्र एमएलसी चुनावों के लिए की उम्मीदवारों की घोषणा, चार नामों का ऐलान

Maharashtra MLC Election 2020: महाराष्ट्र में विधान परिषद की 9 सीटों पर 21 मई को चुनाव होने हैं। इसके मद्देनजर बीजेपी ने अपने चार उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है।

Coronavirus in India HIGHIGHTS: अहमदाबाद में आज आधी रात के बाद से फल, सब्जी, किराना की दुकानें 15 मई तक बंद, स्थानीय प्रशासन का फैसला

तेलंगाना में लॉकडाउन 29 मई तक बढ़ाया, देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले 50 हजार के करीब।