Bharat Biotech

वैक्सीन पर उठ रहे सवाल, AIIMS के निदेशक बोले- पैंडेमिक के बाद आई ‘इन्फोडेमिक’

अमित शाह ने आज शनिवार को गुवाहाटी में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि कोरोना टीके पर जो लोग राजनीति कर रहे हैं उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि राजनीति करने के लिए कई दूसरे मंच हैं। आप उन पर आ जाना दो-दो हाथ कर लेंगे।

कोरोनाः Bharat Biotech की COVAXIN फायदेमंद- Lancet, SII सीईओ ने बताया था ‘पानी जैसा’

लांसेट में यह बताया गया है कि आमतौर पर किसी भी वैक्सीन को लेने से लोगों में गंभीर साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं। लेकिन कोवैक्सीन में ऐसी कोई भी साइड इफेक्ट्स नहीं है। कोवैक्सीन पूरी तरह से मेड इन इंडिया है और इसे भारत बायोटेक ने विकसित किया है।

PMO ने शांत कराया SII और Bharat Biotech का “झगड़ा”, पर टीके को कैसे तुरंत मिली मंज़ूरी, यह सस्पेंस अब भी कायम

इससे पहले, एक्सपर्ट कमेटी की मीटिंग के मिनट्स से पता चला था कि भारत बायोटेक को पहले एडिश्नल रिसर्च डेटा जमा करने के लिए कहा गया था। ऐसा इसलिए, क्योंकि कंपनी ने अपना फेज-3 (वैक्सीन का) का ट्रायल पूरा नहीं किया था।

टीकाकरण: भारत बायोटेक ने कहा, प्रतिकूल प्रभाव हुआ तो देंगे मुआवजा

(एम्स) में शनिवार को कोवैक्सीन का टीका लगवाने वाले स्वास्थ्यकर्मियों के लिए एक सहमति पत्र (कंसेंट फॉर्म) बनाया गया था, जिस पर उन्हें हस्ताक्षर करने थे।

कोरोनाः केंद्र बोला- गर्भवती, दूध पिलाने वाली महिलाएं फिलहाल न लगवाएं टीका; पर क्या बच्चों को दी जा सकती है? जानें

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने वर्तमान में सिर्फ 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को ही टीका देने की योजना बनाई है। इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को कोई टीका नहीं लगेगा क्योंकि अभी तक उनपर कोई क्लिनिकल ट्रायल नहीं किया गया है।

भारत बायोटेक की वैक्सीन की डिलीवरी भी शुरू, जानें किन-किन शहरों तक पहुंची सीरम इंस्टीट्यूट के टीके की पहली खेप

सीरम इंस्टीट्यूट के टीके कोविशील्ड की पहली खेप पुणे से देश के 13 शहरों तक पहुंच चुकी है। इन सभी शहरों में वैक्सिनेशन की तैयारियां भी तेज कर दी गई हैं।

नेता अपनी बारी आने पर ही लगवाएँ कोरोना का टीका- पीएम की सलाह, मंत्री नवाब मलिक बोले- पहले नरेंद्र मोदी लगवाएं

बैठक में पीएम मोदी ने टीकाकरण अभियान को लेकर नेताओं को खास हिदायत दी है और कहा है कि अपनी बारी आने पर ही कोरोना का टीका लगवाएं। इस दौरान नियमों का उल्लंघन ना करें।

वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के एक समूह की DCGI से मांग, कोरोना वैक्सीनों को दी गई इजाजत वापिस ली जाए

प्रोग्रेसिव मेडिकोज एंड साइंटिस्ट फोरम ने ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से मांग की है कि आपातकालीन इस्तेमाल के लिए दो कोरोना वैक्सीनों को दी गई इजाजत वापिस ली जाए।

रजत शर्मा ने बताया- 190 देशों ने कराई है देसी Covaxin की प्री-बुकिंग, पर भारत बायोटेक के एमडी ने दिया कुछ और बयान

रजत ने वैक्सीन पर सवाल खड़े करने वाले लोगों को निशाने पर लेते हुए कहा कि भारत में बनी कोवौक्सीन की जो लोग आलोचना कर रहे हैं, उन्हें मालूम होना चाहिए कि 190 देशों की सरकारों के कंसोर्शियम ने इस वैक्सीन की 2 अरब डोज़ की बुकिंग करवाई है। लोग गलतफहमियों के शिकार न हों, तथ्यों पर यकीन करें।

‘यूके समेत 12 देशों में किया ट्रायल, हम 123 देशों के टच में हैं’, डेटा पर उठे सवाल तो बोले Bharat Biotech के एमडी- हमें तजुर्बा है

कोवैक्सीन एक पूरी तरह से स्वदेशी वैक्सीन है जिसे कि भारत बायोटैक और आईसीएमआर ने मिलकर तैयार किया है।

‘देश में बनी वैक्सीन पर बेवजह शक करने वाले ये जान लें…’- रजत शर्मा ने कोविड वैक्सीन के पक्ष में कही ये बात, आने लगे ऐसे कमेंट्स

रजत शर्मा ने भारत में विकसित की गई वैक्सीन पर कुछ लोगों द्वारा चिंता ज़ाहिर करने पर कहा कि इस पर बेवजह शक करने वाले जान लें कि इस वैक्सीन की एडवांस बुकिंग 190 देशों ने करवाई है। उनके इस बात पर यूजर्स उनसे कई सवाल पूछ रहे हैं और कह रहे हैं कि..

सपा नेता ने किया था कोरोना वैक्सीन से नपुंसकता का दावा, DCGI ने कहा- ये बकवास बातें, बोले- टीका 110% सुरक्षित

DCGI ने कहा कि अगर वैक्सीन को लेकर जरा भी चिंता होती तो वे इसके इस्तेमाल की इजाजत नहीं देते।

कोरोना वैक्सीन को फाइनल मंजूरी: कोवैक्सीन और कोविशील्ड के आपात इस्तेमाल पर DGCI की हरी झंडी

केंद्रीय औषध मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 संबंधी विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) की अनुशंसा के आधार पर भारत के औषध महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने यह मंजूरी प्रदान की है।

देश में बनी कोरोना वैक्सीन पर अखिलेश यादव-शशि थरूर ने जताई चिंता, तो केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने लगा दी क्लास

भारत में वैक्सीनेशन के लिए 82 लाख साइट हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग की अहम जरूरत के साथ इनमें से कई ठीक नहीं हैं।

कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए चाहिए वॉलंटियर्स, AIIMS ने निकाला विज्ञापन; जानें क्या है शर्तें

एम्स ने रजिस्टर करने वालों के लिए एक व्हाट्सऐप नंबर और ईमेल आईडी भी जारी की है जहां वे खुद को रजिस्टर करा सकते हैं।

भारत में COVAXIN के पहले चरण के परिणाम की आई रिपोर्ट, नहीं दिखे साइड इफेक्ट्स, WHO बोला- एशिया-प्रशांत में 2021 के मध्य तक मिलेगी वैक्सीन

माना जा रहा है कि भारत अपनी निर्माण क्षमता की वजह से आने वाले समय में कोरोनावायरस वैक्सीन का हब बनकर उभरने वाला है।

Covid-19 Vaccine : ब्रिटेन में फाइजर की वैक्सीन लगने के बाद 2 लोगों की तबीयत खराब

Coronavirus (Covid-19) Vaccine: भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच जल्द से जल्द एक वैक्सीन बाजारों में आने की उम्मीद है। इस बीच वैक्सीन के वितरण को लेकर भी सरकार ने तैयारियां तेज कर दी हैं।

किसान आंदोलनः
X