Arun Shourie

कट्टर आलोचक और अटल सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने कहा- अकेले में नरेंद्र मोदी को दी कुछ सलाह, गुजराती कनेक्शन पर मजाक का दिया ये जवाब

पीएम ने बातचीत के दौरान शौरी को गले लगा लिया।’’उन्होंने बताया कि मोदी ने शौरी के कमरे के बाहर उनके परिजनों से भी बात की। अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक यह पूर्व नियोजित दौरा नहीं था।

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कट्टर आलोचक से मिलने अस्पताल पहुंचे पीएम मोदी, खड़े नहीं हो पाए तो थाम लिया हाथ!

फोटो में दिख रहा है कि अस्पताल के एक कमरे में अरुण शौरी ठीक से खड़े नहीं हो पा रहे हैं। पीछे से उन्हें एक शख्स पकड़े हुए है। पीएम मोदी ने भी उनका हाथ थाम रखा है।

अरुण शौरी-प्रशांत भूषण से मिले सीबीआई डायरेक्‍टर, मोदी सरकार नाखुश

सरकार के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया, “यह शायद पहला मौका था, जब नेताओं ने सीबीआई निदेशक से उनके दफ्तर में मुलाकात की। ऐसी मुलाकातें असामन्य हैं।”

पूर्व बीजेपी मंत्री ने मोदी सरकार को बताया फेल, सर्जिकल स्ट्राइक को फेक

अरुण शौरी कश्मीर मुद्दे पर विवादित बयान देने वाले पूर्व मंत्री और कांग्रेस तनेता सैफुद्दीन सोज की नई किताब के लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे थे।

अरुण शौरी बोले- 2019 में नरेंद्र मोदी को हराना संभव, तरीका भी बताया

अरुण शौरी ने कहा कि नरेंद्र मोदी को अपनी लोकप्रियता के चरम पर भी सिर्फ 31 प्रतिशत वोट मिले थे। इसके लिए सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट होना पड़ेगा और बाकी 69 प्रतिशत वोटों को बंटने से रोकना होगा।

अरुण शौरी ने मोदी को बताया ‘अहंकारी’, कहा-लोगों को पेपर नैपकिन की तरह करते हैं इस्‍तेमाल

अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे और हाल के वर्षों में भाजपा से दूर हो चुके शौरी ने मोदी सरकार को बिना किसी नियंत्रण वाली ‘राष्ट्रपति प्रणाली की सरकार’ बताया।

हार के लिए मोदी, शाह और जेटली जिम्मेदार: शौरी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने रविवार को यहां कहा कि बिहार चुनावों में हार के लिए नरेंद्र मोदी, अमित शाह और अरुण जेटली को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए..

मोदी बिहार चुनाव जीतने के लिए चुप्पी साधे हुए हैं: अरुण शौरी

अरुण शौरी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दादरी कांड जैसी घटनाओं पर जानबूझ कर चुप्पी साधे हुए हैं, जबकि उनके मंत्रिमंडल..

शौरी अब पार्टी सदस्य नहीं: भाजपा

नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोलने वाले अरुण शौरी की आलोचनाओं को खारिज करते हुए भाजपा ने सोमवार को कहा कि वे अब पार्टी के सदस्य नहीं हैं…

शौरी की टिप्पणियों को केंद्र ने बताया ‘निजी राय’

अरुण शौरी की ओर से राजग सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना को केंद्र ने खारिज करते हुए कहा कि यह उनकी निजी राय है जो लोगों के सोच से अलग है..

BJP नेताओं के निशाने पर अरुण शौरी

विरोधियों की आलोचना पर बौखलाहट तो समझ आ सकती है पर अपनों की बेबाक राय को भी नहीं सह पाना पार्टी नेताओं की असहिष्णुता का परिचायक है।

अपनों की खरी-खरी सहने का भी माद्दा नहीं भाजपा नेताओं में

भारतीय जनता पार्टी के नेता सत्ता के मद में चूर नजर आ रहे हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी की लानत-मलानत की कोशिश का निहितार्थ तो यही है। अरुण शौरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशासनिक और राजनीतिक क्षमता व ईमानदारी के पुराने प्रशंसक रहे हैं।

शौरी पर भाजपा ने कसा ताना, कहा: अच्छे समय के मित्र ने बदल दिए सुर

राजग सरकार में मंत्री रह चुके अरुण शौरी व भाजपा के बीच टकराव काफी बढ़ गया है। उनके द्वारा नरेंद्र मोदी सरकार को दिशाहीन बताने वाले बयान की भाजपा ने कड़ी आलोचना करते हुए उन पर आरोप लगाया है कि वह अच्छे समय के मित्र हैं और शायद कोई पद नहीं पाने का असंतोष व्यक्त कर रहे हैं।

अरुण शौरी बोले, दिशाहीन है मोदी सरकार की आर्थिक नीति

अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि मौजूदा सरकार की आर्थिक नीति दिशाहीन है, वहीं सामाजिक माहौल…