army chief bipin rawat

भारत की सुरक्षा फुल प्रूफ नहीं, लग सकती है सेंध! ARMY CHIEF बिपिन रावत ने दिया बड़ा बयान

जनरल बिपिन रावत ने कहा कि आज के दौर में तकनीक काफी तेजी से बदल रही हैं। लिहाजा, इसका ख्याल रखते हुए अपने सिस्टम में इस बात का विशेष ध्यान देना होगा।

आर्टिलरी गन इस्तेमाल कर PoK में आतंकियों के तीन कैम्प कर दिए तबाह, 6-10 आतंकी किए ढेर, आर्मी चीफ बोले

जनरल रावत ने कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को जवाबी कार्रवाई के बारे में जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा, ‘‘विशेष प्रावधानों (जम्मू कश्मीर के) को रद्द किये जाने के बाद से, हमें सीमा पार से आतंकियों की घुसपैठ के बारे में बार-बार जानकारी मिल रही थी।’

कश्मीर में आजाद घूम रहे लोग, बंद का दावा करने वालों का अस्तित्व आतंकवाद पर निर्भर: आर्मी चीफ

सेना प्रमुख ने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या नियंत्रण रेखा के पास तनाव है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में भूकंप आने के कारण लोगों को समस्याएं झेलनी पड़ रही हैं।

बालाकोट में पाकिस्तान ने फिर सक्रिय किए आतंकी, 500 घुसपैठिए भारत में दाखिल होने की फिराक में: आर्मी चीफ

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पाकिस्तान ने जैश के आतंकी ठिकाने को फिर से सक्रिय करा दिया है। उन्होंने कहा कि कम से कम 500 आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश में है।

शहीदों की कहानी सुनकर भावुक हुए पीएम नरेंद्र मोदी और आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत, निकल गए आंसू

पीएम मोदी ने कहा कि युद्ध सरकारों द्वारा नहीं बल्कि पूरे देश द्वारा लड़े जाते हैं। कारगिल की जीत आज भी पूरे देश को प्रेरणा देती है…कारगिल प्रत्येक भारतीय की जीत थी।’

आर्मी चीफ बिपिन रावत की खरी-खरी: पाकिस्तान के हर दुस्साहस का देंगे मुंहतोड़ जवाब   

सेना प्रमुख ने कहा कि साइबर और अंतरिक्ष डोमेन ने युद्धश्रेत्र का परिदृश्य बदल दिया है। रावत ने यह भी कहा कि आतंकवाद की किसी भी गतिविधियों को बख्शा नहीं जाएगा।

लद्दाख में चीनी सेना के घुसपैठ की खबरों पर बोले सेना प्रमुख- सीमा में दाखिल नहीं हुए चीनी सैनिक, हमारी बातों पर यकीन नहीं होना शर्म की बात

बता दें कि 6 जुलाई को तिब्बती शरणार्थी दलाई लामा का 84वां जन्मदिन मना रहे थे। इस दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवान एसयूवी पर सवार होकर भारतीय सीमा के काफी अंदर तक आ गए थे।

आतंकवाद जंग का नया तरीका, कट्टरपंथ को रोकने के लिए सोशल मीडिया को काबू करने की जरुरत: रावत

बिपिन रावत ने आतंकवाद को युद्ध का एक नया तरीका बताते कहा कि यह ‘‘कई सिर वाले राक्षस’’ की तरह अपने पैर पसार रहा है और यह ‘‘तब तक मौजूद रहेगा’’, जब तक कुछ देश राष्ट्र की नीति के तौर पर इसका इस्तेमाल करना जारी रखेंगे।

ये पढ़ा क्‍या!
X