Ambedkar

इस बार मौलाना अबुल कलाम आजाद की जयंती पर याद किए जाएंगे वीर सावरकर, अम्बेडकर जयंती को भी समरसता दिवस बनाने की कवायद

द टेलिग्राफ की रपोर्ट में बताया गया है कि अंबेडकर जयंती (14 अप्रैल) को समरसता दिवस मनाने की कवायद दो हफ्ते पहले ही शुरू हुई है।

बीजेपी नेता के माला चढ़ाने पर दलित वकीलों ने गंगाजल से नहलाई अम्‍बेडकर की मूर्ति

दलितों ने कहा कि संघ बीजेपी को प्रमोट करने के लिए दलित हितैषी होने का दावा करती है, लेकिन उनका दलितों के कल्याण पर कोई ध्यान नहीं है, वे सिर्फ दलित वोटों के लिए काम करते हैं।

“संविधान पर संकट” को लेकर भाजपा-कांग्रेस में जंग, शिवराज बोले- नेहरू ने अंबेडकर को संसद पहुंचने नहीं दिया

शिवराज ने कहा, “जिन लोगों (कांग्रेस नेता) ने संविधान निर्माता के जीवनकाल और उनके निधन के बाद भी उनका अपमान किया, वे आज संविधान बचाने की बात कर रहे हैं। वे लोग आज आंबेडकर की प्रतिमा पर फूल चढ़ा रहे हैं।”

Ambedkar Jayanti 2018: डॉ. भीमराव आंबेडकर के ये कोट्स कर सकते हैं SMS, Whatsapp

डॉ. अंबेडकर अक्सर लोगों से कहा करते थे कि जो कौम अपना इतिहास नहीं जानती, वह कौम कभी भी इतिहास नहीं बना सकती। वो लोगों को भाग्य के बजाय अपने को मजबूत करने की बात किया करते थे।

Ambedkar Jayanti 2018: अंबेडकर जयंती पर सियासी होड़: बीजेपी का 1.40 लाख बूथों पर तो सपा का सभी जिलों-नगरों में कार्यक्रम

आंबेडकर की वैचारिक विरासत के आधार पर सियासी ताकत बनी बसपा हमेशा से बाबा साहब की जयन्ती को बड़े पैमाने पर मनाती आयी है।

Ambedkar Jayanti 2018: आंबेडकर नहीं थे भीमराव, जानिए- कैसे और कब बदला संविधान निर्माता का नाम

डॉ. आंबेडकर की माता का नाम भीमा बाई और पिता का नाम रामजी मालोजी शकपाल था। उनका परिवार कबीरपंथी था। उनके पिता सेना में सूबेदार थे और माता धार्मिक विचारों वाली गृहिणी थीं।

Ambedkar Jayanti 2018: डॉ. आंबेडकर को नौकरी का वादा देकर लेनी पड़ी थी मदद, बड़ौदा महाराज के यहां झेलनी पड़ी थी भयंकर छुआछूत

विद्यार्थी जीवन में भीम को संस्कृत सीखने की बड़ी इच्छा थी लेकिन संस्कृत अध्यापक ने उसे द्वितीय भाषा के रूप में संस्कृत पढ़ाने से इनकार कर दिया था। तब न चाहते हुए भी भीम को पर्शियन (फारसी) सीखने को कहा गया था।

भारत सरकार के ऐड में कूड़ा उठाते दिखे अंबेडकर, भड़का लोगों का गुस्सा

लोग लिख रहे हैं कि अंबेडकर की जगह पीएम मोदी से क्यों नहीं उठवाया कूड़ा।

राजनीतिः दलित प्रतीकों पर कब्जे की होड़

हिंदी मानसिकता यह कभी बर्दाश्त नहीं कर पाई कि वर्णव्यवस्था के निचले पायदान पर बैठा कोई व्यक्ति बड़ा कवि, बुद्धिजीवी, संत, महात्मा या योद्धा बन कर महत्त्वपूर्ण हो जाए। इसलिए किंवदंतियों, टीकाओं के माध्यम से हिंदी साहित्यकार उन्हें या तो विकृत करते रहे हैं या फिर हड़पने की चेष्टा करते रहे हैं। ऐसे प्रसंगों से वाङमय भरा पड़ा है।

संपादकीयः आंबेडकर के बहाने

इस बार बाबासाहब भीमराव आंबेडकर की जयंती पर देश में ज्यादा गहमागहमी रही। यह स्वाभाविक भी है। यह उनका एक सौ पच्चीसवां जयंती वर्ष है।

केजरीवाल का मोदी पर हमला- आंबेडकर की बात करने के लिए वेमुला को आत्महत्या करने पर मजबूर किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को दावा किया कि रोहित वेमुला को छात्रों के बीच बीआर आंबेडकर की बात करने के लिए आत्महत्या करने पर मजबूर किया गया।

कांशीराम को भारत रत्न देने की मांग वाली याचिका को कोर्ट ने किया खारिज, कहा- नहीं है जनहित जैसी कोई बात

पिटीशन दायर करने वाले पक्ष का कहना है कि बसपा के संस्थापक काशीराम को ‘भारत रत्न’ दिये जाने की मांग को लेकर काफी जद्दोजहद की थी लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है।

मायावती का मोदी पर आरोप, कहा- दलित और मुस्लिमों को नजरअंदाज कर रहे PM?

बसपा प्रमुख मायावती ने रविवार को राजग सरकार पर दलित विरोधी सोच रखने का आरोप लगाया।

आंबेडकर के लंदन स्थित घर के लोकार्पण से विपक्ष दूर

भारतीय संविधान के शिल्पकार डॉ भीमराव आंबेडकर के लंदन स्थित घर का लोकार्पण 14 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होगा। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस..

जस्‍ट नाउ
X