ताज़ा खबर
 

रेस में गाय तेज दौड़े इसलिए उन्हें दांतों से काटते हैं यहां के किसान, 400 सालों से हो रहा है ऐसा

जब भी किसान को लगता है कि गाय के दौड़ने की रफ्तार कम हो रही है वो उसकी पूंछ में जोर से दांत काट लेता है। गाय भी समझ जाती है कि उसका मालिक उसे तेज ना दौड़ने की सजा दे रहा है।

ये दुनिया जितनी बड़ी है उतनी ही विविधताओं से भरी हुई भी है। यहां अलग-अलग देशों में अलग-अलग परंपराएं हैं। कुछ परंपराओं को सुनकर दुख होता है तो कुछ को सुनकर थोड़ा अजीब भी लगता है। ऐसी ही एक परंपरा इंडोनेशिया में भी है जिसके बारे में सुनकर आप भी सोच में पड़ सकते हैं। जी हां इंडोनेशिया में एक दौड़ प्रतियोगिता होती है जिसमें इंसानों की जगह गायें दौड़ती हैं। आप सोच रहे होंगे कि ये तो कई जगह होता है जहां जानवरों की रेस होती है। अगर सच में आप ऐसा सोच रहे हैं तो अपना दिल थाम लीजिए। क्योंकि हम आपको इस रेस की ऐसी बात बताने जा रहे हैं जो आपको चौंका सकती है।

इंडोनेशिया में होने वाली गायों के रेस वाले इस महोत्सव को पाकु जावी कहा जाता है। इस देश में ऐसी रेस पिछले 400 सालों से होती आ रही है। इस महोत्सव में किसानों को अपनी गायों की ताकत दिखाने का अच्छा मौका मिलता है। जिस किसान की गाय इस रेस में फर्स्ट आती है वो किसान अपनी गाय को मुंहमांगे दामों में बेच सकता है। ये रेस जीतने के लिए किसान अपनी गायों को एक सैनिक की तरह तैयार करता है। गायों को दौड़ने में कोई दिक्कत ना आए इसके लिए किसान उन्हें लकड़ी के एक फ्रेम में बांध देता है। इससे एक फायदा ये भी होता है कि गाय कहीं इधर उधर ना भागे। किसान के दिमाग में बस एक बात होती है कि चाहे कुछ भी हो जाए उसकी गाय ये प्रतियोगिता जरूर जीत जाए।

अपनी गाय को इस प्रतियोगिता में जिताने के लिए किसान हर तरह की कोशिश करता है। लेकिन जो चीज किसी को भी हैरान कर दे वो ये है कि किसान अपनी गाय की रफ्तार बढ़ाने के लिए उसकी पूंछ में बराबर दांत काटता रहता है। जा हां चौंकिये मत ये लोग सच में ऐसा करते हैं। जब भी किसान को लगता है कि गाय के दौड़ने की रफ्तार कम हो रही है वो उसकी पूंछ में जोर से दांत काट लेता है। गाय भी समझ जाती है कि उसका मालिक उसे तेज ना दौड़ने की सजा दे रहा है। बस फिर क्या गाय भी अपनी जी जान लगा देती है दौड़ने में। अगर उसकी गाय रेस जीत जाती है तो वह उसे मुंहमांगी कीमत में बेच देता है। सदियों से ये रेस बदस्तूर जारी है। इंडोनेशिया की इस पारंपरिक महोत्सव को देखने दूर-दूर से लोग आते हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव 2016: ‘चाणक्य’ मछली ने लगाया अनुमान डोनाल्ड ट्रंप होंगे विजेता, देखें वीडियो:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Mahalaxmi Vrat 16 days for 16 years
    Jun 7, 2017 at 9:20 am
    धन सबकी किस्मत में है। सबके लिये विष्णु-लक्ष्मी जी, संपत्ति से भरी तिजोरी भेजते हैं। बस उस तिजोरी की चाबी उनके पास होती है। धनी बनने के लिए इसी तिजोरी की चाबी को खोजना है। चाबी कैसे मिलेगी यह बड़ा सवाल है। तो इसके लिए करने होंगे लक्ष्मी जी के उपाय। वैसे भी महालक्ष्मी व्रत August/September से शुरू होंगे। लक्ष्मी जी आपके घर में, उत्तर दिशा से आयेंगी। तो धन संपत्ति पाने के लिये, लक्ष्मी जी को उत्तर दिशा से पुकारें। 16 दिन लक्ष्मी की आराधना से जन्म-जन्म की कंगाली दूर होगी। Amit Shah My email is pulkit5225@rediffmail or mahalaxmivrat@rediffmail If you want to do MAHALAXMI VRAT then email me. Mahalaxmi vrat 16 days every year fast for 16 years fast will be observed and you will get everything which you really deserved then no need to depend on any other Vrat or Upvas, just contact me for full Mahalaxmi Vrat details in brief. Mahalaxmi Vrat will generally starts in August or Sepember. My e-mail is pulkit5225@rediffmail
    (0)(0)
    Reply
    1. J
      jameel shafakhana
      May 5, 2017 at 2:01 pm
      har din bistar par puri raat dhoom macha dega ye Nuskha : treatment me asantusht ladki ko daily santusht kar dega ye nuskha 60 din me ko lamba mota or seedha tight karne ki achook dawai kya tanav, josh ate hi nikal jata hai or dheela pad jata hai iska kamyab ilaj? : jameelshafakhana /
      (0)(0)
      Reply
      सबरंग