ताज़ा खबर
 

भारत के घरों में बेकार पड़ा है 78,300 करोड़ कीमत का पुराना सामान

इस्तेमालशुदा सामान खरीदने बेचने की सुविधा देने वाली ऑनलाइन कंपनी ओएलएक्स ने एक सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकाला है।
Author August 10, 2016 17:53 pm
सांकेतिक तस्वीर।

नई दिल्ली। एक सर्वेक्षण के अनुसार भारतीय घरों में 78,300 करोड़ रुपए मूल्य के इस्तेमाल किए जाने लायक सामान बिना काम के पड़े हैं। इस सामान में कपड़े, बर्तन और किताबें शामिल हैं। इस्तेमालशुदा सामान खरीदने बेचने की सुविधा देने वाली ऑनलाइन कंपनी ओएलएक्स ने एक सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकाला है।

‘इस्तेमालशुदा सामान और ब्रिकी रुख पर उपभोक्ता अनुसंधान’ (क्रस्ट) सर्वे 2014-15 के द्वितीय संस्करण के अनुसार इस्तेमालशुदा सामान का अनुमानित बाजार लगभग 56,200 करोड़ रुपए था। इससे पहले 2013-14 में पहले सर्वेक्षण में ओएलएक्स ने ‘ब्राउन मनी’ शब्द का इस्तेमाल उस मूल्य के रूप में किया जो कि घरों में इस्तेमाल नहीं किए जा रहे सामान के रूप में पड़ा है, यानी ऐसा सामान जो घरों में यूं ही धूल खा रहा है।

वित्त वर्ष 2015-16 के लिए यह ताजा रिपोर्ट पुराना समाना खरीदने और बेचने की सुविधा वाली ऑनलाइन कंपनी ओएलएक्स तथा बाजार अनुसंधान फर्म आईएमआरबी ने तैयार की है। इसके अनुसार औसतन हर परिवार में 12 विभिन्न कपड़े, 14 बर्तन या किचन का दूसरा सामान, 11 किताबें, सात किचन उपकरण, दो मोबाइल फोन और तीन घड़ियों का भंडार है। इस भंडार के लिहाज से दक्षिण भारत अन्य क्षेत्रों की तुलना में ऊपर है। शहरों में चंडीगढ़ और कोच्चि सबसे ऊपर हैं।

ओएलएक्स इंडिया के सीईओ अमरजीत सिंह बत्रा का कहना है कि भारत में पुरानी चीजों को संजोकर रखने की परंपरा है। लेकिन ये चीजें घर में जगह भी घेरती हैं और रखे-रखे खराब भी हो सकती हैं। इसलिए इन्हें बेच देना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.