May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

अनिल माधव दवे का 60 वर्ष की उम्र में निधन; पर्यावरण मंत्री के बारे में जानिए 5 बातें

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह कुछ समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने दिल्ली स्थित AIMS हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने दवे के निधन पर दुख जताया है। मध्य प्रदेश के उज्जैन में जन्में दवे 61 वर्ष के थे। वह एक कमर्शियल पायलट भी थे। मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह की जीत में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। उनके निधन पर मध्य प्रदेश में दो दिन का शोक घोषित किया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र में भी निधन पर शोक व्यक्त किया गया। दवे का जन्म 6 जुलाई 1956 को उज्जैन के भदनगर में हुआ था। दवे शुरुआत से ही आरएसएस से जुड़े हुए थे और नर्मदा नदी बचाओ अभियान में काम कर रहे थे। पर्यावरण को बचाने के लिए उन्होंने कई किताबें भी लिखीं। पर्यावरण मंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल को अभी एक वर्ष भी पूरा नहीं हुआ था। वह 2009 में राज्यसभा सांसद चुने गए थे। उस समय उन्हें जल संरक्षण समिति का मेंबर बनाया गया था। 2010 में मार्च से जून माह तक दवे ग्लोबल वॉर्मिंग और क्लाइमेट चेंज के संसदीय मंच के सदस्य भी थे।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें

  1. No Comments.

सबरंग