ताज़ा खबर
 

गुलजार बर्थडे स्पेशल: कविता प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के बाद अपनी प्रतिभा का हुआ था अहसास

18 अगस्त 1934 को प्रतिष्ठित गीतकार, कवि और निर्देशक संपूरण सिंह कालरा यानी गुलजार का जन्म एक सिख परिवार में झेलम जिले के दीना में पकिस्तान में हुआ था। उनके पिता का नाम मक्खन सिंह कालरा और माता का नाम सुजन कौर है। लेखक बनने से पहले संपूरण सिंह मुंबई में छोटे-मोटे काम किया करते थे। पिता और भाई को उनका लिखना पसंद नहीं था और वो इसे समय की बर्बादी समझते थे। इसी वजह से उन्होंने गुलजार दीनवी के नाम से लिखना शुरू किया जिसे बाद में बदलकर गुलजार कर दिया। इस साल गुलजार अपना 83वं जन्मदिन मना रहे

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें

  1. No Comments.
सबरंग