May 28, 2017

ताज़ा खबर

 

अब तक 300 लोगों को मरने से रोक चुका है यह शख्‍स, वीडियो वायरल

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि चेन सी कैसे लोगों को जिंदगियां बचाते हैं और उन्हें जीने के लिए प्रेरित करते हैं। नानजिंग के लोग चेन को फरिश्ते की नजर से देखते हैं। शिंहुआ की रिपोर्ट के मुताबिक चेन सी पहले बार 2003 में इस ब्रिज पर आए थे।

Author नई दिल्ली। | November 30, 2016 12:48 pm
इस शख्स ने 13 साल में बचाई 300 लोगों की जान। (Photo Source: Videograb)

नानजिंग यांग्त्सी रिवर ब्रिज को दुनिया के सबसे प्रसिद्ध सुसाइट स्पॉट्स में से एक माना जाता है। हमने कई बार बस ड्राइवर द्वारा लोगों की जान बचाने की बात सुनी है, लेकिन क्या आपको पता है इस ब्रिज पर शख्स अब तक सैकड़ों लोगों की जान बचा चुका है। इस शख्स का नाम चेन सी है। चेन हर वीकेंड पर पिछले 13 सालों से यहां आ रहे हैं और अब तक 300 से ज्यादा लोगों की जान बचा चुके हैं। पिछले साल चेन के ऊपर एंजल ऑफ नानजिंग के नाम से एक डॉक्यूमेंट्री भी बनाई गई थी। हाल ही में वह फिर से चर्चा में आ गए हैं। उनकी डॉक्यूमेंट्री की एक क्लिप सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। इसे अब तक 20 मिलियन से ज्यादा लोग (2 करोड़ से ज्यादा) देख चुके हैं और दो लाख से ज्यादा लोगों ने इस वीडियो शेयर किया है।

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि चेन सी कैसे लोगों को जिंदगियां बचाते हैं और उन्हें जीने के लिए प्रेरित करते हैं। नानजिंग के लोग चेन को फरिश्ते की नजर से देखते हैं। शिंहुआ की रिपोर्ट के मुताबिक चेन सी पहले बार 2003 में इस ब्रिज पर आए थे। वह नानजिंग में नौकरी करने आए थे। इस दौरान उनकी मुलाकात एक वृद्ध व्यक्ति से हुई, जिसने उनको बहुत सी आशावादी सलाह दी। हालांकि कुछ समय बाद वो बीमार हो गए और उनके बेटों के बीच बहस शुरू हो गई है। जिसके बाद उन लोगों ने उस वृद्ध व्यक्ति को खाना देना बंद कर दिया और उनकी मौत हो गई। इस हादसे ने चेन को बहुत प्रभावित किया और दूसरे की मदद करने की प्रेरणा भी दी।

हर वीकेंड पर चेन करीब 25 किलोमीटर की यात्रा करके इस ब्रिज पर आते हैं। वह ब्रिज पर बाइक या पैदल चक्कर लगाते हैं। अगर कोई उन्हें इस दौरान सुसाइड करते हुए नजर आ जाता है तो उसे रोकते और बात करते हैं। वह उसे ऐसा न करने की प्रेरित करते हैं। यही, नहीं अगर किसी सूरत में चेन वहां नहीं है और किसी को उनकी मदद की जरुरत है तो इसके लिए ब्रिज पर उनका नंबर भी लिखा है।

चेन की दूसरों के मदद करने के पीछे की एक वजह यह भी उनकी भावनाओं को समझते हैं। क्योंकि इस ब्रिज पर खुदकुशी करने वालों में से अधिकतर बाहर के लोग हैं जो काम की तलाश में यहां आए हुए हैं। चेन का कहना है कि वह भी उन लोगों में से एक हैं, जो अपनी जिंदगी में परेशान है, घर से दूर रह रहे हैं लेकिन उन्हें लगता है कि लोगों को अपनी जिंदगी इस तरह से बर्बाद नहीं करनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 30, 2016 12:48 pm

  1. No Comments.

सबरंग