June 25, 2017

ताज़ा खबर
 

भारत की हार पर वीरेंद्र सहवाग का ट्वीट देख भड़के लोग, ऐसे लताड़ा

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में पाकिस्तान ने भारत को हरा गया। इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया जिसपर उन्हें लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा।

वीरेंद्र सहवाग का ट्वीट देख पाकिस्तानियों ने गुस्सा निकाला।

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में पाकिस्तान ने भारत को हरा गया। इसके बाद वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया जिसपर उन्हें लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा। कुछ ट्वीट पाकिस्तान से भी आए। इसमें से एक ने तो सहवाग को औकात में रहने तक की सलाह दे डाली। भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने लिखा था, ‘आज की शानदार जीत पर पाकिस्तान को बधाई। बहुत अच्छा प्रदर्शन था यह पाकिस्तान के क्रिकेट के लिए अच्छा होगा।’ इसपर एक अकाउंट से ट्वीट किया गया ‘आइंदा उतनी बकवास करना जितनी औकात है।’ दूसरे ने सहवाग ने पूछा कि क्या अब उन्हें पता चल गया कि बाप कौन है ?

दरअसल, 15 जून को जब भारत ने बांग्लादेश को हराया था तब वीरेंद्र सहवाग ने चुटकी लेते हुए एक ट्वीट किया था। उसमें उन्होंने बांग्लादेश को पोता और पाकिस्तान को बेटा बताया था। वीरेंद्र सहवाग ने लिखा था, ‘अच्छी कोशिश थी पोते, सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए अच्छा प्रदर्शन किया था। घर की ही बात है। फादर्स डे पर बेटे के साथ फाइनल है। मजाक को सीरियस मत लियो बेटे।’

सहवाग के ताजा ट्वीट पर कुछ लोग मजे लेने से बाज नहीं आए। एक ने लिखा कि इन्सान सब से जीत जाता है आखिर में अपनी औलाद से हार जाता है। दूसरे ने लिखा कि 2 मिनट का मौन उन पाकिस्तानी टीवी विक्रेताओं के लिए जिनको आज बम्पर बिक्री की उम्मीद थी। अगले ने लिखा कि बाप बाप होता है.. करते करते साला यह तो भूल ही गए कि कौन बाप अपने बेटे का बुरा चाहता है। वीरेंद्र सहवाग से जुड़ा एक फर्जी ट्वीट भी सामने आया। जिसमें लिखा था कि पाकिस्तान से हारने के बाद वीरेंद्र सहवाग भारत को उसका बेटा बताने लगे हैं।

वीरेंद्र सहवाग ने यह ट्वीट किया था

इसपर ऐसे-ऐसे ट्वीट आए

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on June 19, 2017 9:25 am

  1. R
    RAJAN
    Jun 20, 2017 at 12:42 am
    पूरी तरह से पाकिस्तानी चैनल लग रहा है जनसत्ता, कई दिन से आर्टिकल्स देख रहा हु, इंडियन लोगो एंड इंडियन टीम के खिलाफ ही लिखा हुआ होता है. अपने ही देश में रहकर ऐसा करते हुए सरम नहीं आती.
    Reply
    1. D
      Divyakant
      Jun 19, 2017 at 11:01 pm
      che comments karva vadi bhosdini public naa sudhre appreciate to naa j karay bhosdinio ne
      Reply
      सबरंग