ताज़ा खबर
 

गांगुली पर निशाना साध बोले सहवाग तो मिला जवाब, मोदी की हर स्कीम का सपोर्ट मत करो तुम भक्त हो पागल नहीं

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने एक ट्वीट किया है। ट्वीट में कथित तौर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली पर निशाना साधते की कोशिश की गई लगती है।
भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग। (एक्सप्रेस फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने एक ट्वीट किया है। ट्वीट में कथित तौर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली पर निशाना साधते की कोशिश की गई लगती है। सहवाग लिखते हैं, ‘हर किसी को सफाई मत दो, आप इंसान हो, वाशिंग पाउडर नहीं!’ दरअसल सहवाग के इस ट्वीट को गांगुली कि उस प्रतिक्रिया का जवाब माना जा रहा है जिसमें उन्होंने सहवाग की एक टिप्पणी को ‘मूर्खतापूर्ण’ करार दिया था। गांगुली ने कहा था, ‘मुझे कुछ नहीं कहना है उन्होंने मूर्खतापूर्ण बात की थी।’ हालांकि गांगुली ने उन सभी बातों को निराधार बताया है जिसमें उन्होंने सहवाग की टिप्पणी को मूर्खतापूर्ण करार दिया था। एक ट्वीट में गांगुली ने कहा कि सहवाग मेरे लिए बहुत प्रिय हैं। जल्द उनसे बात की जाएगी। गौरतलब है कि बीते दिनों सहवाग ने एक टीवी चैनल के साक्षात्कार में दावा किया था कि बीसीसीआई में शामिल अधिकारियों का संरक्षण नहीं मिलने के कारण वह भारतीय क्रिकेट टीम का मुख्य कोच बनने से चूक गए और दोबारा इस पद के लिए आवेदन नहीं करेंगे। इस दौरान उन्होंने बोर्ड अधिकारियों के एक वर्ग पर भी पद के लिए आवेदन करने के दौरान गुमराह करने का आरोप लगाया।

सहवाग के ट्वीट पर कई यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं। एक यूजर लिखते हैं, ‘हर किसी की लुंगी मत छीनो, आप इंसान हो शशि थरूर नहीं।’ पागल ल्युक, ‘मोदी की हर स्कीम का सपोर्ट मत करो तुम भक्त हो पागल नहीं।’ आमिर खान लिखते हैं, ‘किस्मत आपके हाथ में नहीं होती है, पर निर्णय आपके हाथ में होता है। किस्मत आपका निर्णय नहीं बदल सकती। पर आपका निर्णय आपकी किस्मत बदल सकती है।’ विराट कोहली लिखते हैं, ‘सहवाग नमक की तरह हैं। नमक के बिना खाने में और वीरू के बिना ट्विटर पर कोई मजा नहीं।’ अजिक्य हराने लिखते हैं, ‘मेरी बीवी ने मुझे वाशिंग पाउडर बना दिया है। भगवान का शुक्र है ये मेने सपने में देखा था।’ विजय सिंह लिखते हैं, ‘आपसे कुछ ना कुछ सीखने के लिए मिलता है।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Rajpal Singh
    Sep 17, 2017 at 3:35 pm
    मुझे गौरी लंकेश की हत्या के बाद शोक मनाने वालों से कोई तकलीफ नहीं है, अपना देश है खुली आजादी है जब अपने देश में आतंकवादियों की हत्या पर भी शोक मनाया जा सकता है, रात्रि जागरण कर के विचार विमर्श हो सकता है, और तो और किसी कॉलेज में बैठ कर उनके जयकारे के लिये त्यौहार मनाया जा सकता है फिर ये तो समाज सेविका थी, निष्पक्ष पत्रकार थी इन के लिये तो फिर शोक तो मनाया ही जा सकता है। : justraaj. /2017/09/blog-post_33
    (0)(1)
    Reply
    1. S
      Saipan Shaikh
      Sep 17, 2017 at 3:21 pm
      नमस्कार
      (0)(0)
      Reply
      सबरंग