December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

पीएम मोदी की मां हीराबेन पर अरविंद केजरीवाल ने किया ट्वीट, यूजर ने लिखा- थोड़ी तो इज्‍जत करो, सबको नहीं मिलती ऐसी मां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी मंगलवार को गुजरात के गांधीनगर में नोट बदलने के लिए गांधीनगर के ओरियेंटल बैंक ऑफ कॉमर्स बैंक में पहुंची थी।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मोदी पर साधा निशाना।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन (96) ने मंगलवार को बैंक की लाइन में लगकर नोट बदले। वह करेंसी एक्सचेंज करने के लिए व्हीलचेयर पर बैंक पहुंची जिसके बाद दो महिलाओं ने उनकी मदद और उन्होंने अपने नोट बदले। पीएम मोदी की मां के बैंक जाने पर केजरीवाल ने राजनीति करने का आरोप लगाया है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा- “मोदी ने राजनीति के लिए मां को लाइन में लगा ठीक नहीं किया। कभी लाइन में लगना हो तो मैं ख़ुद लाइन में लगूँगा, माँ को लाइन में नहीं लगाऊंगा।” इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी की मां हीरा बा की फोटो की पोस्ट की। हालांकि केजरीवाल यह दांव उन्हीं पर उलटा पड़ गया है। ट्विटर यूजर्स ने केजरीवाल के इस ट्वीट पर उन्हीं को आड़ें हाथों लेते हुए निशाना साधा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी मंगलवार को गुजरात के गांधीनगर में नोट बदलने के लिए गांधीनगर के ओरियेंटल बैंक ऑफ कॉमर्स बैंक में पहुंची थी। वह बैंक में 4500 रुपए लेकर बैंक गई थी। हीरा बेन उन्हें 10-10 की दो गड्डियां दी गईं। उसके अलावा एक 500 का नया नोट और एक 2000 का नोट मिला। हीराबेन को कुछ लोग सहारा देकर बैंक के अंदर लेकर आए थे क्योंकि इस उम्र में वह ज्यादा देर खड़ा नहीं रह सकती है।

गौरतलब है कि नोटबंदी को लेकर इससे पहले भी केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए अपने फैसले को वापस लेने के लिए कहा था। रविवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि मोदी जी अंहकार छोड़िए और अपना फैसला वापस लीजिए। केजरीवाल ने कहा कि अब 50 दिन क्‍या, 50 घंटे तक भी जनता इंतजार करने के मूड में नहीं है और पूरे देश में इमर्जेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं। दिल्‍ली के सीएम ने कहा, ‘गोवा में प्रधानमंत्री के भाषण के बाद से लोगों के बीच डर का माहौल है, कई लोगों ने मुझे इस बारे में कॉल भी किया है। दूसरा, बहुत दुख हुआ पीएम का भाषण सुनकर। उन्‍होंने लाइनों में लगे लोगों के लिए जिस तरह की भाषा इस्‍तेमाल की। उन्‍होंने लोगों का मजाक उड़ाया और उन्‍हें माफी मांगनी चाहिए। उन्‍होंने आज बार-बार कहा कि सवा सौ करोड़ लोग तो ईमानदार हैं, कुछ लाख लोग बेईमान हैं। तो कुछ लाख लोगों को क्‍यों नहीं पकड़ते। सवा सौ करोड़ लोगों को क्‍यों दुखी कर रखा है।

वीडियो: नोटबंदी को लेकर अरविंद केजरीवाल, कपिल सिब्बल और अखिलेश यादव ने मोदी सरकार की आलोचना की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 5:52 pm

सबरंग