ताज़ा खबर
 

जिसके एक मैसेज पर सुषमा ने की हनीमून में मदद, उसने की थी सुषमा-पीएम के बारे में ये ‘अभद्र टिप्पणियां

हनीमून के लिए मदद मांगने वाले फैजान पटेल का मैसेज मिलते ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उसकी मदद की।
हनीमून के लिए मदद मांगने वाले फैजान पटेल ने 2015 में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणियां की थी।

फैजान पटेल नाम का शख्स जो हाल में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगने के बाद चर्चा में आ गया था। उसके कुछ पुराने ट्वीट्स निकालकर लोग अब उसपर निशाना साध रहे हैं। दरअसल, फैजान अपनी पत्नी के साथ हनीमून पर इटली जाना चाहता था लेकिन उसकी पत्नी का पासपोर्ट कुछ दिन पहले ही खो गया था। ऐसे में फैजान ने ट्विटर पर सुषमा स्वराज के मदद मांगी। सुषमा स्वराज को जैसे ही इस बारे में जानकारी मिली उन्होंने तुरंत मदद का आश्वासन दिया। सुषमा के इतनी जल्दी एक्शन में आने को देखकर फैजान काफी खुश हुआ। उसने ट्वीट करके सुषमा का शुक्रिया भी किया। इतनी ही नहीं उसकी पत्नी ने भी सुषमा का शुक्रिया किया था।

लेकिन सोशल मीडिया पर सुषमा का फैजान के लिए रिप्लाई आते ही वह लाइमलाइट में आ गया। लोग उनके ट्विटर को घंगालने लगे। यही नहीं उनका फेसबुक अकाउंट भी निकाल लिया गया। लोगों को फैजान के अकाउंट पर पीएम मोदी, सुषमा स्वराज और बीजेपी के खिलाफ कई सारे पोस्ट मिले। फिर लोगों ने इनको सोशल मीडिया पर शेयर करना शुरू कर दिया। एक ट्वीट में उन्होंने सुषमा-मोदी की फोटो पर अभद्र टिप्पणी की थी, दूसरे में उन्होंने सुषमा और ओबामा की फोटो का मजाक बनाया था। वहीं फैजान के ऐसे ट्वीट भी शेयर किए जा रहे हैं जिसमें उनकी तरफ से बीजेपी और मोदी के खिलाफ बातें लिखी गई थीं।

ये ट्वीट फैजान की तरफ से किए गए थे।

Read Also: सुषमा की ‘हनीमून हेल्पलाइन’, इस बार हनीमून पर जा रहे पति-पत्नी की मदद की

इसके बाद सुषमा ने यह ट्वीट किया।

फिर लोगों ने ये ट्ववीट दिखाने शुरू कर दिए।

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    shyam jagota
    Aug 10, 2016 at 6:05 am
    मेरे विचार से लोगों को अब समझना चाहिए ,,,, ये सरकार काम कर रही है और काम करना भी चाहती है आलोचकों और समर्थकों को चुप रहना चाहिए ताकि मुद्दों से भटकाव न हो
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग