December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

अस्‍पताल में भर्ती होने के बावजूद सुषमा स्‍वराज ने इंडोनेशियाई महिला को दिलाया वीजा

शफीका ने बताया कि वह पहले पाकिस्‍तान की नागरिक थीं। बाद में उन्‍होंने इंडोनेशिया की नागरिकता ग्रहण कर ली थी।

सुषमा स्‍वराज को रूटीन चेकअप के लिए एम्‍स में भर्ती कराया गया था।

विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने एक इंडोनेशियाई नागरिक को उसके पति के इलाज के लिए भारत का वीजा दिलाने में मदद की है। सुषमा को मंगलवार को दिल्‍ली के एम्‍स में रूटीन चेकअप के लिए भर्ती कराया गया था। इस दौरान भी वह सोशल मीडिया पर लोगों की समस्‍याएं सुलझाने में जुटी रहीं। इंडोनेशिया की शफीका बानो ने 24 अक्‍टूबर को विदेश मंत्री को ट्वीट कर मदद मांगी थी। उसके पति को लिवर सिरोसिस है, लिवर ट्रांसप्‍लांट के लिए दोनों को चेन्‍नई के अपोलो अस्‍पताल आना था। इस पर सुषमा ने जवाब देते हुए पूछा कि सर्जरी कब है। शफीका ने बताया कि सर्जरी का समय अपोलो अस्‍पताल के डाॅ आनंद से बातकर के तय किया जाएगा। शफीका ने बताया कि ‘भारतीय दूतावास को गृह विभाग की मंजूरी की जरूरत है। अगर संभव हो तो वे (सुषमा) मेडिकल वीजा दिलवा दें, मेरे पति को इलाज की जरूरत है।’ शफीका ने बताया कि वह पहले पाकिस्‍तान की नागरिक थीं। बाद में उन्‍होंने इंडोनेशिया की नागरिकता ग्रहण कर ली थी। सुषमा ने इस बाद शफीका को भारतीय दूतावास से संपर्क करने को कहा। उन्‍होंने जवाब में लिखा, ”मैंने उन्‍हें (दूतावास) को आपके पति के चेन्‍नई में लिवर ट्रांसप्‍लांट के लिए वीजा जारी करने को कहा है।”

जब पाकिस्‍तानी दुल्‍हन को भारत लाने में सुषमा ने की मदद, देखें वीडियो: 

ट्विटर के जरिए लोगों की समस्‍याएं सुलझाने का सुषमा का यह तरीका काफी कारगर रहा है। उन्‍हाेंने साेशल मीडिया के प्रभावी इस्‍तेमाल से अच्‍छी छवि गढ़ी है। इससे पहले उन्‍होंने इससे पहले सुषमा ने भारत-पाकिस्‍तान के बीच जारी तनाव के बीच भी दरियादिली दिखाई थी। उन्‍होंने ‘अतिथि देवो भव’ सिद्धांत का पालन करते हुए पाकिस्‍तान से आए 20 सदस्‍यीय दल की पूरी आवभगत सुनिश्चित कराई।

READ ALSO: 3 नवंबर को 2500 पत्रकारों के साथ दिवाली मनाएंगे नरेंद्र मोदी, पर सेल्‍फी के लिए होड़ से बचने के लिए अलग इंतजाम

ग्‍लोबल यूथ पीस फेस्‍ट में पाकिस्‍तान से हिस्‍सा लेने चंडीगढ़ आए प्रतिनिधिमंडल के 20 सदस्‍यों में से 19 लड़कियां थीं। सुषमा ने अायोजकों को फोन कर न सिर्फ दल की सुरक्षा, बल्कि उनके रहने-खाने की व्‍यवस्‍था के बारे में भी जानकारी ली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 4:32 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग