ताज़ा खबर
 

शाजिया इल्मी का कटाक्ष- दूसरों पर आरोप लगाते वक़्त तो प्रमाण नहीं देते, अब क्यों प्रमाण मांग रहे अरविंद केजरीवाल

भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन करके सत्ता में आई आम आदमी पार्टी के सबसे बड़े नेता अरविंद केजरीवाल इस बार खुद भ्राष्टाचार के आरोपों के घेरे में हैं।
Author May 8, 2017 00:56 am
आप नेता अरविंद केजरीवाल और बीजेपी नेता शाजिया इल्मी।

आम आदमी पार्टी एक बार फिर सुर्खियों में है। भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन करके सत्ता में आई आम आदमी पार्टी के सबसे बड़े नेता अरविंद केजरीवाल इस बार खुद भ्राष्टाचार के आरोपों के घेरे में हैं। और ये आरोप पार्टी के विधायक और दिल्ली के जल मंत्री रहे कपिल मिश्रा ने लगाए हैं। भाष्टाचार के आरोपों से घिरी आप पर उनकी पूर्व नेता और वर्तमान बीजेपी नेता शाजिया इल्मी ने जमकर हमला बोला। शाजिया ने टीवी डिबेट में कहा कि, ” अरविंद केजरीवाल ने पूरा कैरियर बनाया है वो सवाल और आरोप लगाए हैं और कभी प्रमाण का इंतजार नहीं किया। सबकि नैतिकता पर सवाल उठाए है। जब शीला दीक्षित से उनकी लड़ाई थी तब उनके खिलाफ आवाज उठाई। फिर जब पीएम बनने का सपना देखने लगे फिर प्रधानमंत्री पर सवाल उठाए है। बिना किसी प्रमाण के अब जब उन्हीं से प्रमाण मांगे जा रहे हैं। तो नैतिकता की बात की जा रही है तो वो कह रहे हैं कि कोई प्रमाण नहीं। अबतक उनका सारा कैरियर सिर्फ और सिर्फ इल्जामों के आधार पर रहा है ना कि प्रमाण के तो दोहरे मापदंड क्यों होने चाहिए उनके साथ।”

 

इसके जवाब में पार्टी नेता आशुतोष ने अपने नेता का बचाव करते हुए कहा कि, ” शाजिया के लिए कहना बहुत आसान है कि शाजिया पार्टी के लिए दो चुनाव लड़ चुकी हैं। आशुतोष ने अपनी बात शुरु करते ही शाजिया पर चुटकी लेते हुए कहा कि शाजिया आप के लिए दो चुनाव लड़ चुकी हैं। तब वो टीवी पर अरविंद के बचाव में बात करती थी आज पार्टी बदल गई तो बात अलग है। शाजिया इस बात पर उखड़ गई। उन्होंने आशुतोष को कहा कि जरूप आपको भी कोई लॉलीपोप दिया गया है इसी लिए आप फंसे हुए हैं वहां पर। कपिल ने इससे पहले भी नगर निगम चुनाव में हार और कुमार विश्वास विवाद के समय पार्टी लाइन से हटकर अपनी बात कही थी तभी से उनकी पार्टी से नाखुश होने का अनुमान लगाया जा रहा था। शनिवार को दिल्ली सरकार ने उन्हें जलमंत्री के पद से हटा दिया इसके बाद उन्होंने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.