ताज़ा खबर
 

संबित पात्रा ने मौलाना से चौपाई पढ़ने को कहा, बोले-किसी में हिम्मत नहीं जो मुझे राम के पास जाने से रोक दे

संबित ने पूछा की आपके पास तो मक्का मदीना हैं हम कहां जाए। जिसपर तस्लीम ने कहा आप चार धाम जा सकते हैं। उनके इस जवाब पर संबित भड़क गए।
Author March 25, 2017 07:18 am
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा (Source: PTI)

रामजन्म भूमि और बाबरी मस्जिद विवाद एक बार फिर सुर्खियों में बना हुआ है। कई चैनलों पर इस विषय पर बहस हो रही है। ऐसी ही एक बहस में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और तस्लीम रहमानी में तीखी बहस हो गई। बहस के एक मोड़ पर संबित ने पूछा की आपके पास तो मक्का मदीना हैं हम कहां जाए। उनके इस सवाल पर तस्लीम ने कहा आप चार धाम जा सकते हैं। उनके इस जवाब पर संबित भड़क गए। उन्होंने कहा कि मैं राम में मेरी आस्था है मैं क्यों वहां क्यों ना जाऊं। इसके अलग बहस के दौरान संबित मौलाना को राम चरित्र मानस की चौपाई भी पढ़ाते दिखे। मौलाना साहब के ये कहने पर कि आपने राम को बेच दिया इस बात पर भी काफी नोंक झोंक देखने को मिली। वहीं मुख्यमंत्री आवास में गृह पूजन पर सवाल करने पर भी काफी गहमा गहमी की स्थिति बन गई।

पिछले कुछ दिनों में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही राजनीति काफी गर्मा गई है। एंटी रोमियो दल, बूचड़खाना बंद कराने को लेकर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार 27 मार्च को योगी अयोध्या जा सकते हैं। यूपी सरकार के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक सीएम के दौरे की सूचना फैजाबाद जिला प्रशासन को दे दी गई है। नगर पालिका फैजाबाद की टीम भी सीएम के आगमन के मद्देनजर तैयारियों में जुट गई है। सूत्रों के मुताबिक, सीएम के दौरे का जो शेड्यूल है उसके तहत वह फैजाबाद में चार जगहों पर जाएंगे और दो दर्जन से ज्यादा साधु संतों से भेट करेंगे। इसकी बहुत संभावना है कि आदित्य नाथ राम लला के दर्शन करेंगे, और हनुमान गढ़ी में संतों का आशीर्वाद भी लेंगे। सीएम अपने पुराने मित्र जगदगुरु राम दिनेशाचार्य से भी हरीधाम में मुलाकात कर सकते हैं। वहीं सुब्रमण्यम स्वामी ने साल 2018 के अंततक राममंदिर बनाने को लेकर कानून बनाने को लेकर भी बात कही है।

योगी आदित्यनाथ इन तस्वीरों पर भी गौर कर लेते तो गैरभाजपाई वोटर्स भी हो जाते मुरीद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. F
    fayaz
    Mar 25, 2017 at 5:58 pm
    kyu chillarahey itna hahahah
    (0)(0)
    Reply
    1. Dharamvir Saihgal
      Mar 25, 2017 at 11:05 am
      I can't exactly make out as to why these TV channels,invite these people for so called debates and discussions.May be,because they have to run their channels and mint money by way of projecting excessive,misleading and irrelevant ads.Most of the ads incite our kids to consume drinks,which are injurious to health.Anyway,some of the parti nts there,don't hesitate to p irrelevant and derogatory remarks against Hinduism,which are rarely replied to by others,and never condemned and paid in the same coin.Continuation of such debates may be reconsidered on their merits by experts,and also their effects on the unripe brains of youngsters.Also care must be taken to see that the parti nts are fully capable, qualified and democratic enough,to handle the subject.
      (0)(0)
      Reply