December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

यादव परिवार में मचे घमासान पर ट्विटर यूजर्स ने कसा तंज- हमें तो अपनों ने लूटा, गैरों में कहां…

एक तरफ समाजवादी पार्टी की बैठक चल रही थी, दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर इस पूरे प्रकरण का मजाक उड़ रहा था।

सोशल मीडिया पर यादव परिवार के इस झगड़े पर खूब चुटकियां ली जा रही हैं।

उत्‍तर प्रदेश का सत्‍ताधारी परिवार इन दिनों संकट से गुजर रहा है। पारिवारिक रिश्‍तों में आई दरार का असर राजनीति पर पड़ा तो अपनों में ही फूट पड़ गई। समाजवादी पार्टी में करीब 3 महीने से जारी विवाद रविवार (23 अक्‍टूबर) को खुलकर सामने आ गया। जब सीएम अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल को कैबिनेट से बाहर कर दिया। पलटवार होना था, तो शिवपाल ने जोर दिखाते हुए अखिलेश के समर्थक और सपा के राष्‍ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव को पार्टी से निकाल दिया गया। जब झगड़ा हाथ से निकलता दिखा तो मुलायम ने सोमवार को पार्टी की बैठक बुलाई। परिवार और पार्टी के लोग एक जगह इकट्ठा हुए तो पहले भावनाओं का सागर उमड़ा, फिर गिले-शिकवे हुए। अखिलेश ने कहा कि अगर नेताजी (मुलायम) चाहें तो उनसे कुर्सी ले लें। उन्‍हाेंने अमर सिंह की बात पर भी नाराजगी जताई जिसमें उन्‍होंने कहा था कि नवंबर तक अखिलेश यूपी में सीएम नहीं रहेंगे। अख्‍ािलेश ने कहा कि उन्‍हें अमर की इस बात से बेहद तकलीफ हुई है।

देखें वीडियो, समाजवाद पर भारी परिवारवाद! 

इससे पहले जब शिवपाल बोले, तो बोलते-बोलते वह भी भावुक हो गए। उन्‍होंने पूछा, ”मुझसे विभाग क्‍यों छीने गए, नेताजी के साथ क्‍या मेरा योगदान नहीं? मैं मुख्‍यमंत्री से जानना चाहता हूं कि मैंने उनका कौन सा आदेश नहीं माना था। मैंने उनका हर आदेश माना है।” चाचा-भतीजे के बीच आई खटास को खत्‍म कराने की जिम्‍मेदारी पिता ने उठाई। मगर मुलायम ने भी दो टूक कह दिया कि ”मैं अखिलेश को समझाता हूं लेकिन वह और चीजों पर ध्‍यान देता है। उसे समझ नहीं आता कि लोगों को गरियाने से कुछ नहीं होगा।” मुलायम ने अख्‍ािलेश को थोड़ा हड़काया और शिवपाल-अमर सिंह का बचाव किया। उन्‍होंने कहा, ”मैं अमर सिंह या शिवपाल को नहीं छोड़ सकता। अमर सिंह के सारे पाप माफ।”

READ ALSO: मुलायम बोले- अमर सिंह के सारे पाप माफ, शिवपाल का भी किया बचाव, अलग-थलग पड़े अखिलेश यादव

एक तरफ समाजवादी पार्टी की बैठक चल रही थी, दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर इस पूरे प्रकरण का मजाक उड़ रहा था। ट्विटर यूजर्स के एक बड़े हिस्‍से ने इस सपा का ‘फैमिली ड्रामा’ करार दिया। एक यूजर ने लिखा, ”यूपी में शादी के कार्ड में किस रिश्तेदार का नाम छपेगा इस पर बवाल हो जाता हैफिर सत्ता के लिए इत्ती मार कुटव्वल तो बनती ही है।”

देखिए, सोशल मीडिया पर कैसे उड़ रहा है यादव परिवार की कलह का मजाक:

READ ALSO: रो पड़े शिवपाल यादव, बोले- मैं साइकिल लेकर गांव-गांव गया, हर आदेश माना, मेरे साथ ऐसा क्‍यों

READ ALSO: समाजवादी पार्टी विवाद LIVE: अखिलेश यादव और शिवपाल यादव पहले मिले गले, बाद में की धक्कामुक्की

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 3:05 pm

सबरंग